कच्चा दूध पीने का मतलब बीमारियों को न्योता

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 16, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कच्चे दूध का सेवन शरीर के लिए होता है नुकसानदायक।
  • 100 गुना बढ जाता है खाद्य जनित बीमारी का खतरा।
  • टीबी और एसिडिटी जैसी बीमारियां होने की संभावना।
  • बच्चे और गर्भवती महिलाएं ज्यादा होती है प्रभावित।

हाल के दिनों में कच्चा दूध पीना अधिक लोकप्रिय हो गया है। ऐसा माना जाता है कि पाश्‍च्‍यूरीकृत दूध की तुलना में कच्चे दूध में अधिक प्राकृतिक एंटीबॉडी, प्रोटीन और जीवाणु होते हैं। पाश्‍च्‍यूरीकृत दूध अधिक स्वास्थवर्द्धक, साफ, स्वादिष्ट और शरीर में लैक्टोस की क्षमता को घटाता है। हालांकि एक शोध के अनुसार कच्चे दूध का सेवन हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक है। इस लेख में विस्‍तार से जानिये किस तरह कच्‍चा दूध हमें बीमार करता है।  

शोध के अनुसार

एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि पाश्‍च्‍यूरीकृत दूध की तुलना में कच्चा दूध पीने से खाद्य जनित बीमारियों के होने का खतरा 100 गुना तक बढ़ सकता है। जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के सेंटर फॉर ए लिवेबल फ्यूचर (सीएलएफ) में कार्यरत मुख्य शोधकर्त्ता बेंजामिन डेविस ने कहा, "पाश्‍च्‍यूरीकृत दूध पीने की तुलना में कच्चा दूध पीने से खाद्य जनित बीमारी होने का खतरा 100 गुना बढ़ जाता है।" नए अध्ययन से पता चला है कि आमतौर पर दूध में पाया जाने वाला माइक्रोबियल में एशचेरीचिया कोली ओ157:एच7 के साथ संक्रमणकारी सालमोनेला, कैंपीलोबेक्टर और लिस्टेरिया पाया जाता है। अध्ययनकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि ये जीवाणु मनुष्यों में, विशेष रूप से बच्चों, गर्भवती महिलाओं और व्यस्कों में खाद्यजनित बीमारियों का कारण बनते हैं।

Raw Milk

टीबी होने की संभावना

कच्चे दूध का सेवन से टीबी के बैक्टीरिया आपके शरीर में भी प्रवेश कर सकते हैं। सही समय पर इलाज न मिले तो व्यक्ति को आंतों की टीबी हो सकती है। गाय और भैंसों में भी टीबी की बीमारी पाई जाती है। उनके थनों में यह बैक्टीरिया चिपक जाता है। सांसों से संचारित होने वाला यह बैक्टीरिया दुधारू पशुओं की सांसों से उनके पेट में पहुंच जाता है। पशुपालक जब दूध निकालते हैं, तो दूध के साथ यह बैक्टीरिया दूध निकालने वाले पात्र में भी चला जाता है। यदि कोई व्यक्ति कच्चे दूध का सेवन करता है, तो टीबी के बैक्टीरिया दूध के साथ व्यक्ति के शरीर में प्रवेश कर आंतों की टीबी को जन्म देते हैं।


एसिड बनता है

हमारे शरीर में अम्ल और क्षार का नियंत्रण में रहना बहुत जरुरी होता है। वहीं कच्चा दूध शरीर में अम्ल बढ़ाते हैं। जो कि हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक है। इससे एसिड बनता है और आपके सिस्टम को नुकसान पहुंचाता है। दूध कई बीमारियों को दूर करता है, लेकिन ये कई बीमारियों को न्यौता भी देता हैं। कई लोगों को दूध की वजह से एसिडिटी होती है और इसकी वजह से कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

Raw Milk

 

इस अध्ययन के लिए अध्ययनकर्ताओं ने गाय का कच्चा दूध पीने से होने वाले स्वास्थ्य जोखिमों और लाभ को जानने के लिए लगभग 1,000 लेखों और प्रकाशित 81 लेखों का निरीक्षण किया।


ImageCouretsy@Gettyimages

Read More Article on Diet and Nutition in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES12 Votes 6057 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर