पीठ के दर्द से छुटकारा पाने के तरीके

By  , विशेषज्ञ लेख
Oct 09, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • पीठ दर्द की समस्‍या दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी समस्‍या है।
  • 4 में से 3 लोगों को यह कुछ बिंदुओं पर प्रभावित करता है।
  • पूरी दुनिया के लगभग 11-33% लोग पीठ दर्द से ग्रस्‍त हैं।
  • इस समस्‍या के निदान के लगभग 85% टेस्‍ट असफल होते हैं।

पीठ दर्द एक समस्‍या है और यह कभी भी हो सकता है। व्‍यायाम की कमी और सही तरीके से पोषण न मिलने के कारण पीठ में दर्द की समस्‍या होती है। इस लेख में हमारे एक्‍पर्ट लेखक डा. गरिमा आनंदानी से पीठ दर्द और उससे छुटकारा पाने के उपाय के बारे में जानिये।
Back Ache in Hindi

इन तथ्‍यों को जानें

  • पूरी दुनिया में पीठ दर्द की समस्‍या दूसरी सबसे बड़ी समस्‍या है।
  • 4 में से 3 लोगों को यह कुछ बिंदुओं पर प्रभावित करता है।
  • वर्तमान में पूरी दुनिया के लगभग 11-33% लोग पीठ दर्द से ग्रस्‍त हैं।
  • इस समस्‍या के निदान के लगभग 85% टेस्‍ट असफल हो जाते हैं।
  • सामान्‍यतया पीठ दर्द के 20% मामलों में एक कारण पाया जाता है।


अनियमित और आराम परस्‍त लोगों की जीवनशैली में पीठ दर्द की समस्‍या बहुत व्‍यापक हो चुकी है। पश्चिमी देशों में पीठ दर्द की समस्‍या के मामले में अधिक देखने के मिलते हैं, जबकि भारत के शहरी आबादी में भी पीठ दर्द की समस्‍या के मामले बढ़ रहे हैं।

पीठ दर्द के निदान के लिए कई चिकित्‍सक और मरीज एक्‍स-रे, सीटी स्‍कैन और एमआरआई कराने में विश्‍वास रखते हैं। कुछ मामलों में तो ये जांच प्रभावी होती हैं और पीठ दर्द के कारणों का निदान हो जाता है, लेकिन कई मामले इन जांच के दौरान पकड़ में नहीं आते क्‍योंकि वे मांसपेशियों, तंत्रिकाओं और अन्‍य नरम ऊतकों से संबंधित होते हैं। पीठ दर्द के लिए जिम्‍मेदार प्रमुख कारण का पता लगाना थोड़ा मुश्किल होता है और यह इसके लिए होने वाले विश्‍लेषण को जटिल बनाता है। इसके लिए इसका सही निदान ही प्रमुख उपचार हो सकता है। वास्‍तव में डिजिटल स्‍पाइन एनालिसिस (डीएसए) ही इसका वास्‍तविक विश्‍लेषण प्रदान करता है।

डीएसए एक ऐसी चिकित्‍सा पद्धति है जो बिना सर्जरी के उपचार में सहायता करता है, यह पेशियों का अवलोकन रीढ़ की गतिविधियों का ग्राफ प्रदान करता है जिससे मूल्‍यांकन करने में समस्‍या नहीं होती है। पीठ दर्द की समस्‍या के उपचार के लिए भारत में पहली बार इस तरह की पद्धति का प्रयोग हो रहा है। यह तकनीक पीठ दर्द का निदान करने की अब तक की बेहतर तकनीक है जो पीठ दर्द के लिए जिम्‍मेदार सही कारण का पता लगा सकती है।

पीठ और गर्दन के दर्द के लिए एक ही बेहतर स्रोत है (निदान से उपचार एवं रोकथाम), यह पहली खास तरह की तकनीक इस देश में पहली बार आयी है। इस तकनीक में 21 तरह से रीढ़ की हड्डी का विश्‍लेषण किया जाता है जो रीढ़ की गतिविधियों और उसके लिए जिम्‍मेदार कारकों का पता लगाने में मदद करता है।
You have a Back Ache in Hindi

सर्जरी

डीएसए तकीनक से पीठ दर्द का निदान होने के बाद टीएसटी (टार्गेटेड स्‍पाइन थेरेपी) के जरिये उपचार किया जाता है। टीएसटी ऐसी तकनीक है जिसके जरिये मशीन के जरिये पीठ दर्द के लिए जिम्‍मेदार मांसपेशियों को प्रभावी किया जाता है। यह बहुत ही प्रभावी तकनीक है। यह उन लोगों के लिए अधिक फायदेमंद है जो पीठ दर्द के कारण हिलने-डुलने में परेशानी का अनुभव करते हैं।

टागेटेड स्‍पाइन थेरेपी का मुख्य लाभ

1) कमजोर या प्रभावित क्षेत्र के मूल कारण की पहचान करके इसके लिए जिम्‍मेदार मांसपेशियों का उपचार करना।
2) इस प्रक्रिया से मांसपेशियों के अंसतुलन की प्रक्रिया को दोहराने से रोका जा सकता है।
3) इस तकनीक से सटीक उपचार होता है।
4) इससे संबंधित अन्‍य समस्‍याओं का मूल्‍यांकन और उसका भी उपचार।

 

Read More Articles on Back Pain Treatment in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES76 Votes 6276 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर