शरीर के किस अंग पर उम्र का असर सबसे अधिक पड़ता है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 10, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सूरज की किरणों में सीधे संपर्क में आने वाले अंग जल्‍दी बूढ़े होते हैं।
  • उम्र के साथ हाथों की त्‍वचा ढ़ीली और पारदर्शी होने लगती है।
  • चेहरे पर भी उम्र अपने निशान जरूर छोड़ती है।
  • सन प्रोटेक्‍शन क्रीम का उपयोग कर असर को धीमा किया जा सकता है।

 

उम्र कुदरत की सच्‍चाई है, इससे कोई भी नहीं बच सकता। जैसे ही चेहरे पर झुर्रियां नजर आती हैं, इनसानी जिंदगी का नजरिया बदल जाता है। बाल सफेद होने लगते हैं, जिंदगी की शाम आते ही इनसान खुद को दूसरों से अलग मानने लगता है। लेकिन, क्‍या आप जानते शरीर के कौन से हिस्‍से पर उम्र सबसे पहले अपने निशान छोड़ती है।

Parts of Our Body Age The Fastest

 

बूढ़ा कोई नहीं होना चाहता। कई लोगों के लिए इस हकीकत का सामना करना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन, इसमें भी और बुरी बात यह है कि हमारे शरीर के कुछ हिस्‍से बा‍कियों से पहले उम्रदराज होने लगते हैं। उससे भी पहले जबकि दुनिया या आप स्‍वयं को बूढ़ा मानें। 25 की उम्र की पार करते ही दस वर्ष की आयु के बच्‍चे आपको अंकल या आंटी कहकर पुकारने लगते हैं।

 

बुरा लगता है ना साथ ही लगातार आप अगर यह सुनते हैं तो कई बार अवसाद से भी ग्रस्‍त हो जाते हैं। इसके बाद शुरू होती है खुद को जवां बनाये रखने की जंग। जिम से लेकर आहार तक। घर से लेकर सुपरमार्केट और ऑफिस तक, आप उम्र के साथ एक दौड़ लगाने लगते हैं। बस किसी तरह ठहर जाएं ये गुजरते दिन। लेकिन, वक्‍त किसी के थामे, थमा है कभी। चलिए जानते हैं हमारे शरीर के कुछ ऐसे अंग जिन पर उम्र का असर जल्‍दी नजर आने लगता है।

गर्दन और उसके आसपास का हिस्‍सा

आपकी गर्दन लगातार सूरज की रोशनी के संपर्क में रहती है। सूरज की किरणों में हानिकारक अल्‍ट्रावॉयलेट किरणें होती हैं जो आपकी त्‍वच को नुकसान पहुंचा सकती है। इसके साथ ही आपको इस बात का भी अंदाजा होना चाहिए कि आपकी गर्दन की त्‍वचा चेहरे के मुकाबले अधिक पतली होती है और इसलिए इसका जल्‍दी बूढ़ा होना लाजमी भी है। तो धूप में निकलने से पहले गर्दन पर भी सनस्‍क्रीन जरूर लगायें।  

 

आपके हाथ

क्‍या आपने किसी बूढ़े के हाथ देखे है ? उनके हाथों की त्‍वचा पलती, झुर्रीदार और नरम होती है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि हाथों की त्‍वचा लचीलापन, वसा और घनत्‍व खो देती है। जवानी के दौरान आपके हाथों पर मौजूद त्‍वचा की मोटी परत उम्र के साथ कहीं खो जाती है। और हाथों की त्‍वचा पारदर्शी और सूखी हो जाती है। इस असर को कम करने के लिए भी आपको चाहिए कि हाथों पर नियमित रूप से माश्‍चराइजर लगायें, ताकि उनकी नमी बरकरार रह सके।


आपका चेहरा

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, आपके चेहरे की त्‍वचा अपना घनत्‍व खोने लगती है, इसका लचीलापन कहीं खो जाता है और यह नीचे की ओर लटकने लगती है। इसलिए जो चेहरा जवानी में गोल होता है वह उम्र के साथ मुरझाया लगने लगता है। सबसे ज्‍यादा असर आंखों के नीचे की त्‍वचा पर पड़ता है। वह त्‍वचा जो जवानी में नरम और सख्‍त होती थी, वह सैगी हो जाती है। चेहरा भी लंबे समय तक धूप में रहता है और सूर्य की किरणें उसे नुकसान पहुंचाती हैं। इसलिए बुजुर्गों में आंखों और होंठों के पास झुर्रियां अधिक होती हैं। आप इस पर शुरुआती दौर में ही एंटी एजिंग क्रीम लगा सकते हैं। इससे इस असर को थामा जा सकेगा।



उम्र के इस असर को रोकने का सबसे अच्‍छा तरीका यही है कि अपनी त्‍वचा को सीधे सूर्य की हानिकारक किरणों के संपर्क में आने से बचायें। और धूप में निकलने से पहले सनस्‍क्रीन जरूर लगायें। त्‍वचा की नमी बरकरार रखें।

 

Read More Articles On Anti Ageging in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES64 Votes 7633 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर