अस्‍थमा में डाक्‍टर को कब संपर्क करें

By  ,  Onlymyhealth editorial team
Dec 24, 2009
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • बढ़ता शहरी और व्यस्त जीवन अस्थमा का कारणों में से एक है।
  • दिन में 4 बार ब्रोंकोडायलेटर का इस्तेमाल करने पर डॉक्टर बुलाएं।
  • जब अस्थमा के लक्षण काबू में न हो तो तुरंत डॉक्टर को बुलाएं।
  • अटैक पर दवाओं का असर नहीं हो रहा है तो देर न करें।

शहरीकरण के दौर में व्यस्त होता जीवन और बढ़ते धूल-प्रदुषण ने अस्थमा को बहुत ही सामान्य से बीमारी बना दिया है जिसकी शिकायत आज अधिकतर लोगों को है। जब किसी व्यक्ति की सांस लेने की नलियों में कोई रोग उत्पन्न हो जाता है तो उस व्यक्ति को सांस लेने मे परेशानी होने लगती है जिसके कारण उसे खांसी होने लगती है। इस स्थिति को दमा रोग कहते हैं। अस्थमा एक गंभीर बीमारी है, जो श्वास नलिकाओं को प्रभावित करती है। श्वास नलिकाएं फेफड़े से हवा को अंदर-बाहर करती हैं। अस्थमा होने पर इन नलिकाओं की भीतरी दीवार में सूजन होता है।
asthama

कोई स्थायी इलाज नहीं

दमा के दौरान खाने-पीने का विशेष तैर पर ख्याल रखना चाहिए। दमा को नियंत्रण करने के लिए कोई स्थायी इलाज नहीं है। इस पर नियंत्रण रखने के लिए संतुलित भोजन और दिनचर्या को अपनाए। अस्थमा तब तक ही नियंत्रण में रहता है, जब तक मरीज जरूरी सावधाननियां बरत रहा है। लेकिन कभी-कभी अचानक ही इसका अटैक आ जाता है। अगर ऐसा आपके साथ या आपके किसी साथी के साथ होता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। यदि आपको पता है कि आपको दमा है और दमा के लक्षण और गंभीर हो रहे हैं और यह स्‍थिति दवाइयों से भी काबू में नहीं आ रही है तो तुरंत डॉक्टर को बुलाये :

  • उदाहरण के तौर पर आपने अपने बचाव के लिए दिन में 4 बार ब्रोंकोडायलेटर का इस्तेमाल किया है ।
  • आपके पीक फ्लोमीटर की रीडिंग पीले या लाल क्षेत्र में है लेकिन लक्षण काबू में नहीं आ रहे ।
  • यदि आपको दमा है सामान्य दवाओं के बावजूद बचाव नहीं हो पा रहा तो आपातकालीन मदद लें ।

 

बच्चों के मामले में तुरंत संपर्क करें

अगर आपके बच्चे को सीने में जकड़न या खांसी महसूस हो रही है, साँस लेने में कठिनाई हो रही है, उसके नथुने फूले हैं या बच्‍चा साँस लेंने के लिए छाती और गले कि मांस पेशियों का इस्तेमाल कर रहा हो तो तुरंत अपने डॉक्टर को बुलाएं । इसका अर्थ है कि आपका बच्‍चा इस समय परेशानी से गुजर रहा है ।

 

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Images source : © Getty Images
Read More Articles on Exercise and Fitness in Hindi












 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES10 Votes 13958 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर