थायराइड ग्रंथि में समस्‍या के संकेत

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 31, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • थायराइड ग्रंथि थायरॉक्सिन नामक हार्मोन का उत्‍सर्जन करती है।
  • थायराइड के कारण खाना निगलने और पचाने में परेशानी होती है।
  • इस समस्‍या में शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है।
  • जोड़ो में दर्द, थकान, जुकाम के साथ त्‍वचा भी सूखने लगती है।

थायराइड को साइलेंट किलर भी कहा जाता है, यह ग्रंथि शरीर के लिए बहुत जरूरी है। थायराइड ग्रंथि शरीर मे पाए जाने वाले एंडोक्राइन ग्रंथि‍ है जो थायराक्सिन नामक हार्मोन बनाती है। इस हार्मोन से शरीर के ऊर्जा क्षय, प्रोटीन उत्पादन एवं अन्य हार्मोन के प्रति होने वाली संवेदनशीलता नियंत्रित होती है।

thyroid gland Problemsथायरायड ग्रंथि गर्दन में श्‍वांस नली के ऊपर पायी जाती है, इसका आकार तितली के जैसा होता है। यह ग्रंथि शरीर के मेटाबॉलिज्‍म को नियंत्रित करती है, यानी जो हम खाते हैं यह उसे उर्जा में बदलने का काम करती है। इसके अलावा थायराइड ग्रंथि हृदय, मांसपेशियों, हड्डियों व कोलेस्‍ट्रॉल को भी प्रभावित करती है। थायराइड के लक्षण आसानी से नहीं दिखाई देते, और इसका पता देरी से चलता है। इसीलिए इसे साइलेंट किलर कहा जाता है। इस लेख में जानिए उन संकेतों के बारे में जो दिखाते हैं कि थायराइड ग्रंथि में समस्‍या है।

कब्‍ज की शिकायत  

यदि किसी की थायराइड ग्रंथि सही तरह से काम नहीं कर रही है तो इसका सीधा असर आदमी की पाचन शक्ति पर पड़ेगा। थाइराइड होने पर कब्ज की समस्या शुरू हो जाती है। खाना आसानी से नहीं पचता है, खाते समय भी गले में दिक्‍कत होती है।

हाथ-पैर ठंडे होना

थाइराइड की समस्‍या से ग्रस्‍त व्‍यक्ति के हाथ-पैर हमेशा ठंडे रहते है। शरीर का सामान्‍य तापमान 98.4 डिग्री फॉरनहाइट (37 डिग्री सेल्सियस) होता है, लेकिन फिर भी उसका शरीर और हाथ-पैर ठंडे रहते हैं। इसका मतलब आपको थायराइड की समस्‍या है।

इम्‍यून सिस्‍टम कमजोर होना

थाइराइड की समस्‍या में आदमी की रोग-प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो जाती है। इम्यून सिस्टम कमजोर होने के कारण व्‍यक्ति को कई प्रकार के रोग होने लगते हैं। क्‍योंकि रोग-प्रतिरोधक क्षमता ही शरीर को बीमारियों से बचाती है।

थकान लगना

थाइराइड की समस्या से ग्रस्त व्‍यक्ति को जल्द थकान होने लगती है। आदमी की शरीर हमेशा सुस्त रहता है। वह आलसी हो जाता है और शरीर की ऊर्जा समाप्त होने लगती है। थोड़ा सा काम करने पर सांस फूलने लगती है।

त्वचा का सूखना

थाइराइड की समस्‍या से ग्रस्‍त होने पर आदमी की त्‍वचा सूखने लगती है। त्वचा में रूखापन आ जाता है। त्वचा के ऊपरी हिस्से के कोशिकाओं की क्षति होने लगती है जिसकी वजह से त्वचा रूखी-रूखी हो जाती है।

हमेशा जुकाम

थाइराइड होने पर आदमी को जुकाम होने लगता है। यह सामान्‍य जुकाम से अलग होता है और ठीक नहीं होता है। इसमें सामान्‍य दिनों में भी व्‍यक्ति को जुकाम सताता है।

तनाव और अवसाद

थाइराइड ग्रंथि की समस्या होने पर आदमी हमेशा डिप्रेशन में रहने लगता है। उसका किसी भी काम में मन नहीं लगता है, दिमाग की सोचने और समझने की शक्ति का ह्रास होने लगता है, याद्दाश्त भी कमजोर हो जाती है।

जोड़ों में दर्द

थायराइड की समस्‍या होने पर आदमी की मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होने लगता है। थायराइड के कारण रोगी के जोड़ों में हमेशा दर्द रहता है, इसके अलावा व्‍यक्ति की हड्डियां भी कमजोर हो जाती हैं।

यदि आप के परिवार में यदि कोई थायराइड की समस्या से ग्रस्‍त है तो आपको थायराइड होने की संभावना अधिक रहती है। यदि इसके लक्षण दिखें तो तुरंत चिकित्‍सक से संपर्क कीजिए।


Read More Articles On Thyroid In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES102 Votes 6314 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर