सिद्ध योगा क्या है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 17, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Siddha yoga kya hai

आज के समय में योगा का बहुत महत्व है। योगा के जरिए आप आप ना सिर्फ सेहतमंद रह सकते हैं बल्कि आपकी सोच भी सकरात्मक हो जाती है। योगा के जरिए आपको बीमारियों को दूर करने और लड़ने की ताकत मिलती है। क्या आप जानते हैं योगा का तभी फायदा है जब आप इसे नियमित रूप से करें। सर्दियों में योगा करने के कई लाभ हैं लेकिन इसके लाभों को उठाने के लिए योगा का सही तरह से करना भी आना चाहिए। योगा के कई प्रकार हैं और हर समस्या और हर बीमारी से निजात पाने के लिए योग में अलग-अलग आसन दिए हुए हैं। ऐसा ही योगा का एक प्रकार है सिद्ध योगा। सिद्ध योगा के फायदे कई हैं। आइए जानें सिद्ध योगा क्या है।

  • आजकल महानगरों में या फिर छोटे शहरों में तनाव हर कहीं हैं। तनाव के कारण लोगों का ना सिर्फ स्‍वास्‍थ्‍य खराब होता है बल्कि कई बीमारियों जैसे डिप्रेशन, मानसिक बीमारी, इत्यादि के भी शिकार हो जाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं तनाव को दूर करने के लिए आधुनिक दवाईयों से अधिक सिद्ध योगा कारगर है। इससे आपको अपने तनाव को कम करने में मदद मिलेगी। यानी आप योगा से निरोगी बन सकते हैं।
  • सिद्ध योगा को ऑटोमैटिक योगा के नाम से भी जाना जाता है।
  • सिद्ध योगा प्रैक्टिकल और नेचुरल है,यह आत्मज्ञान के जरिए ही किया जा सकता है। यानी इसे खुद ही महसूस किया जा सकता है, किसी के करवाने से यह योगा नहीं किया जा सकता ।
  • सिद्ध योगा दरअसल, अपने आपको जानने, अपने आचरण में बदलाव लाने और भगवान के करीब जाने का रास्ता है। यानी जीवन की तमाम सच्चाईयों को सिद्ध योगा की मदद से जाना जा सकता है। आप यदि अपने भीतर के सत्य को जानना चाहते हैं तो आपको सिद्ध योगा करना चाहिए।
  • जिन लोगों के काम की सीमा तय नहीं होती या फिर जो लोग दिनभर, रात भर काम करते हैं या फिर जिनके काम करने के घंटे तय नहीं होते, यानी अनियमित वर्क स्टाइल वाले लोगों के लिए सिद्ध योगा से बढि़या कोई उपाय नहीं। सिद्ध योगा के जरिए आप हर समय ना सिर्फ तरोताजा महसूस करेंगे बल्कि अपने काम पर भी अच्छी तरह से ध्यान दे पाएंगे।
  • सिद्ध योगा करने के लिए आपको अपने मन को दृढ़ बनना होगा तभी आप नियमित रूप से इसे कर पाएंगे। सिद्ध योगा करना बहुत मुश्किल नहीं लेकिन इसे करने का सही तरीका आना भी जरूरी है। इसे करने का सबसे आसान तरीका है बॉडी को ट्विस्टर करके टर्न करें और आराम से बैंठ जाएं।
  • ऐसा माना जाता है कि सिद्ध योगा अपने आप नहीं करना चाहिए यानी शुरूआत में इसे अकेले ना करके किसी गुरू से सीखना चाहिए। सिद्ध योगा को किसी गुरू के साथ बैठकर ही सीखना अच्छा रहता है, इससे आप इसकी सभी तकनीकों को भी जान जाएंगे और इसका अधिक से अधिक लाभ भी उठा पाएंगे।
  • क्या आप जानते हैं सिद्ध योगा के जरिए आपकी इच्छा शक्ति मजबूत होती है और आप कोई भी निर्णय लेने में देरी नहीं करते।
  • इतना ही नहीं सिद्ध योगा के जरिए संयम, धैर्य, शांत मन, प्रभावशाली व्यक्तित्व इत्यादि का विकास होता है। यदि आप अपनी परर्फोमेंस अच्छी करना चाहते हैं तो आपको सिद्ध योगा करनी चाहिए।
  • सिद्ध योगा को मेडीटेशन का नाम भी दिया गया है और इसकी तकनीक भी ऐसी ही है।


    Read More Articles On Yoga In Hindi

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES11 Votes 16044 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर