डाइटिंग के दौरान कितनी चीनी खा सकते हैं, जानें इस डाइट चार्ट में

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 30, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • डाइटिंग के दौरान थोड़ी चीनी खा सकते हैं।
  • हाई-कैलोरीज़ फूड्स को धीरे-धीरे कम करना चाहिए।
  • डिनर में वेजिटेबल सूप और सलाद खाने से रातभर पेट भरा रहता है।

जब आप डाइटिंग करते हैं, तो आपकी बॉडी को धीरे-धीरे कम कैलोरीज़ लेने की आदत हो जाती है। दरअसल, एकदम से खाना छोड़ने से आप कभी भी वज़न कम नहीं कर सकते। ऐसे में आपका मन अचानक से तला हुआ और मीठा खाने को करता है। इसीलिए, डाइट प्लान ऐसा होना चाहिए कि हाई-कैलोरीज़ फूड्स से धीरे-धीरे परहेज़ करनी पड़े।

क्रिएटिन लेने से पहले जान ले ये जरूरी बातें

सुबह उठने पर:


1 कप चाय। इससे आपको 20 कैलोरीज़ मिलेगी।

ब्रेकफास्ट (8 से 9 बजे के बीच):


150 मि.लीं दूध पिएं।
आप चाहें तो इसमें 1 छोटा चम्मच चीनी डाल सकते हैं या फिर फीका दूध भी पी सकते हैं। इससे
आपको 20 कैलोरीज़ मिलेगी।

ब्रेकफास्ट के 2 घंटे बाद (11 बजे):


1 कप ग्रीन टी
जब आप चाय में दूध मिलाते हैं, तो चाय में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स का कोई असर नहीं होता।
एंटीऑक्सिडेंट्स से स्टैमिना बढ़ता है। रिसर्च के मुताबिक दूध वाली चाय की तुलना, दिन में 3 से 4 कप ग्रीन टी पीने से आपका वज़न कम होता है। टेस्ट के मुताबिक ग्रीन टी के कई फ्लेवर्स बाज़ार में मिलते हैं।

लंच (1-2.30 बजे):


1 छोटा गिलास (150 मि.ली.) गाढ़ी लस्सी। इसमें आप 1 छोटा चम्मच चीनी डाल सकते हैं। इससे
आपको 100 कैलोरी मिलेगी। गाढ़ी लस्सी के चलते आपका मीठा खाने का मन ज़्यादा नहीं करेगा, क्योंकि जब आप बिल्कुल मीठा बंद कर देते हैं, तब आपका मीठा खाने का मन ज़्यादा करता है।
अपना मनपसंद सलाद खाएं। इससे आपको 50 कैलोरीज़ मिलेगी।


शाम की चाय (4-5 बजे):


1 कप ग्रीन टी

देर शाम को (7 बजे):


1 बड़ा बाउल सूप। इससे आपको 30 कैलोरीज़ मिलेगी।


डिनर (8-9 बजे):


1 बड़ा बाउल वेजिटेबल सलाद का, जैसे की गाजर, मूली, खीरा, टमाटर और शिमला मिर्च। इसमें कोई भी 1 फल मिक्स कर सकते हैं। साथ में 1 बड़ा चम्मच मूंगफली का। मूंगफली प्रटीन, विटामिन बी और मोनोअनसचुरेटेड फेटी एसिड का स्रोत है। दरअसल, हम जो तेल या फैट खाते हैं, उनमें तीन प्रकार के फैटी एसिड्स होते हैं ( सेचुरेटिड, मोनोअनसेचुरेटिड और पोलीअनसेचुरेटिड फैटी एसिड्स)। किसी तेल में कोई फेटी एसिड अधिक होता है, तो किसी में कोई। मोनोअनसेचुरेटिड फैटी एसिड आपके दिल को मजबूत बनाता है, आपको वज़न कम करने में भी मददगार है और पेट की चर्बी कम करता है।

 

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Diet & Nutrition In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2948 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर