डेंगू वैक्सीन क्या है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 14, 2009
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Doctor have a Dengue vaccine

जैसे-जैसे किसी बीमारी का विकास होता है वैसे-वैसे उसका तोड़ ढूंढने की प्रक्रिया भी तेज हो जाती है। डेंगू एडीस मच्छर से फैलता है। डेंगू के कई प्रकार होने के कारण अभी तक डेंगू की वक्सीन तैयार नहीं हो पाई है। डॉक्टर्स और वैज्ञानिक डेंगू वैक्सीन तैयार करने से कतरा रहे है लेकिन डेंगू के बढ़ते खतरे को कम करने के लिए लगातार शोध हो रहे है। इतना ही नहीं कुछेक देश डेंगू वैक्सीन तैयार करने का मन बना चुके है तो कुछेक देश मानव जा‍ति को डेंगू के खतरे से बचाने के लिए वैक्सीन पर लगातार शोध कर रहे हैं। आइए जानते है आखिर क्या है डेंगू वैक्सीन।


डेंगू वैक्सी्न
डेंगू वैक्सीन दरअसल डेंगू निरोधी टीका/इंजेक्शेन है जिसके इस्तेमाल से डेंगू से न सिर्फ बचा जा सकता है बल्कि डेंगू महामारी फैलते ही पहले से इस टीके का इस्तेमाल करते ही डेंगू के प्रभाव से भी बचा जा सकता है। डेंगू अपने अलग रूपों में शरीर पर अलग प्रभाव डालता है जिससे की डेंगू वैक्सीन तैयार करने में परेशानियां आ रही हैं। लेकिन डेंगू से बचाव के लिए कुछ संभावित उपाय और वैक्सीन न बनने के कारणों का भी खुलासा किया गया है।

-    डेंगू बुखार वायरस की वजह से फैलता है और इस वायरस का वर्तमान में कोई इलाज नहीं है। न ही डेंगू बुखार के अभी तक टीके बनाए गए है। हालांकि डेंगू के लक्षणों के आधार पर रोगी का उपचार किया जाता है।
-    इसके अलावा पीत ज्वर की वैक्सीन फ्लैवी वायरस के विरूद्ध काम करती है ऐसे में इस वैक्सीन को डेंगू के विरूद्ध प्रयोग करने की सलाह दी जाती है। हालांकि इस संबंध में अभी तक कोई ठोस आधार या अध्ययन उपलब्ध नहीं है।
-    डेंगू से लड़ने के लिए आस्ट्रेलियाई शोधकर्ता इन दिनों वैक्सीन तैयार कर रहे हैं।  डेंगू और इस जैसी बीमारियों के स्रोत  'वेस्टनाइल' नामक विषाणु से लड़ने के लिए शोधकर्ता वैक्सीन तैयार करने की जुगत में है।
-    मालम हो डेंगू के विरूद्ध तैयार की जाने वाली वैक्सीन का नाम 'पीकेयूएनडीसीसी' रखा गया है। इस वैक्सीन पर परीक्षण अभी भी जारी है लेकिन इंसान पर इसके प्रयोग का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है।
-    आमतौर पर  'वेस्ट नाइल' विषाणु को काफी खतरनाक माना जाता है। 'वेस्ट नाइल' विषाणु जापानी दिमागी बुखार और डेंगू बीमारी फैलाने का मुख्या कारक माना जाता है।
-    सफल रूप से डेंगू वैक्सीन बनाने के लिए कई समस्याएं उभर कर आ रही है। वैक्सीन की सफलता तभी है जब ये डेंगू के चारों प्रकारों पर समान रूप से प्रभाव डाले या फिर इस वैक्सीन का चारों प्रकारों पर कोई दुष्प्र भाव न पड़ रहा हो।
-    वैक्सीन टीके के अभी तक न बन पाने का एक महत्वपूर्ण कारण है कि इससे रोगी की प्रतिरोधक क्षमता कई गुना बढ़ जाती है जो कि पलटकर रोगी को ही नुकसान पहुंचा सकती है।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES6 Votes 11705 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर