महिलाएं दिमागी कशमकश (फज़ी थिंकिंग) से कैसे बचें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 15, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अल्जाइमर के लक्षणों जैसे होते हैं फज़ी थिंकिंग के लक्षण।
  • शिशु के जन्म के बाद भी हो सकती है यह समस्या।  
  • सब्जियां, फल व ऑर्गेनिक प्रोड्क्टस का नियमित सेवन करें।
  • संतरा, पाइन नट, भुने हुए सूरजमुखी का सेवन है फायदेमंद।

क्या आप भी चाबियां रख कर भूल जाती हैं कि आपने उन्हें कहां रख छोड़ा है, या आपको याद नहीं रहता कि आप क्या बोलने वाली थीं। यही नहीं क्या कभी-कभी आप कमरे में जाने के बाद ये अनुभव करती हैं कि आप वहां क्यों गईं थी। अगर ऐसा है तो इसका मतलब ये नहीं कि यह अल्जाइमर के प्रारंभिक लक्षण हैं, अकस्मात भूल जाने की समस्या (Fuzzy Thinking) और भ्रम की यह स्थिति जीवन के बीच के पड़ाव में होने वाले हार्मोनल असंतुलन के साथ भी होती है।

 

यदि आपने बच्चे को जन्म दिया है तो आपको याद होगा कि बच्चे के जन्म के बाद के पहले कुछ हफ्तों में आप आपकी सोच में परिवर्तन और गड़बड़ होती थी। उस समय भी आपका शरीर एक हार्मोन परिवर्तन से गुजर रहा था। जिस कारण आपकी स्मृति प्रभावित हुई थी और आप उलझन महसूस कर रहीं थीं। बेशक, इसके पीछे नींद की कमी भी एक कारण हो सकता है।

 

Women With Fuzzy Thinking

 

जब आप रजोनिवृत्ति से गुजर रही होती हैं तो आपका शरीर को एक बार फिर से अपना हार्मोनल बैलेंस रीसैट करना पड़ता है। नींद पूरी न होना और अस्वास्थ्यकर आहार भी भुलक्कड़पन और अल्पकालिक स्मृति हानि का कारण बन सकते हैं। लेकिन घबराएं नहीं, कुछ ऐसे तरीके हैं जिनकी मदद से आप अपने दिमाग को साफ कर वापस नॉर्मल ट्रैक पर वापस आ सकते हैं।

समाधान: आप अपने लक्षणों को कम करने के लिए क्या कर सकते हैं।  

 

आप बेहतर महसूस करने, तनाव को कम करने और अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए कई चीजें कर सकते हैं। इसके लिए आप निम्न बाताए जा रहे  जीवनशैली में कुछ सरल परिवर्तन या अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता के द्वारा बताए गए विकल्प चुन सकते हैं।

Women With Fuzzy Thinking

 

प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थ की बजाए स्वस्थ आहार खाएं। खरीदने से पहले लेबल की जांच करें और उच्च फ्रक्टोज़ कॉर्न सिरप (एचएफसी), परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट और सोडियम (नमक) खाद्य पदार्थों से बचें। ये सभी समस्या के लक्षणों को बढ़ाते हैं।

प्रत्येक दिन सब्जियां और फल के दो सर्विंग्स के कम से कम खाएं ही। हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे पालक, गोभी और ब्रोकली आदि के सेवन से याद्दाश्त बढ़ाती है तथा मानसिक कार्यों में मदद मिलती है।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 1164 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर