कैसे बनें बेहतर ब्‍वॉयफ्रेंड

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 30, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

प्रेम के रिश्‍ते को निभाना आसां नहीं होता। समर्पण, विश्वास और आपसी समझ के ईंधन से ही चलती है प्रेम की गाड़ी। भले ही इस भौतिकावादी युग ने प्रेम को भी अपने पाश में बांध लिया है, लेकिन फिर भी रिश्‍तों को जीवंत और निर्मल बनाए रखने के प्रयास आज भी किये जाते हैं।


kaise bane behtar boyfriend प्रेम सम्‍बन्‍धों की सफलता के लिए जरूरी है कि स्‍त्री और पुरुष दोनों समानता के धरातल पर सोचें और व्‍यवहार करें। जब भी कोई स्‍वयं को दूसरे से बेहतर समझने की भूल करता है, तो, उसी क्षण से रिश्‍ते का अवसान शुरू हो जाता है। और यह उत्तरदायित्‍व विशेषकर पुरुषों का बनता है कि वे न केवल स्‍त्री को अपने समान समझें, बल्कि उसे वह आदर और सम्‍मान दें, जिसकी वे हकदार है। अपनी महिला मित्र पर पूरी तरह से विश्‍वास करें और उसकी इच्‍छाओं का सम्‍मान करें।

 

आपसी समझ की कमी और एक दूजे की समझने की कशमकश में कुछ रिश्‍ते कम वक्‍त में ही टूट जाते हैं और कुछ बने रहते हैं सदाबहार। अगर किसी रिश्‍ते को बचाए, बनाए और महकाए रखना चाहते हैं तो बड़ी-बड़ी खुशियों की चाह और राह ताकना छोडि़ए और उस रिश्‍ते के हर पल को जिएं... महसूस करें और उसका आनन्‍द उठाएं। जैसे छोटे-छोटे फूल पूरे बाग को महका देते हैं, वैसे ही छोटी-छोटी खुशियों से अपना जीवन भर द‍ीजिए। रिश्‍ता में रस बना रहना चाहिए। रसहीनता यानी बोरियत किसी भी रिश्‍ते के लिए अच्‍छी नहीं। अगर आप भी अच्‍छा प्रेमी या ब्‍वॉयफ्रेंड बनना चाहते हैं, तो कुछ बातों को अपने जीवन में जरूर उतारिए-

 

[इसे भी पढ़ें : जब रिश्‍तों में न रहे ताजगी]

 

कैसे बनें अच्‍छा प्रेमी -

विश्‍वास कीजिए
विश्ववास पर ही तो टिकती है किसी भी रिश्‍ते की बुनियाद। रिश्‍ते में विश्वास नहीं, तो कुछ भी नहीं। यह विश्वास ही है जो रिश्‍ते को अहम और महत्त्‍वपूर्ण बनाता है। अविश्वास उस घुन की तरह है जो धीरे-धीरे आपके रिश्‍ते की बुनियाद को ही खोखला कर सकता है। विश्‍वास के अभाव में रिश्‍ता कभी भी टूट सकता है। अपनी महिला पार्टनर पर विश्‍वास करना सच्‍चे ओर अच्‍छे प्रेमी की पहली निशानी है। अपने साथी और उसकी बातों पर यकीन करना बहुत जरूरी है।

 

ईमानदार रहें
हालांकि यह गुण आजकल लुप्‍तप्राय हो गया है, लेकिन प्रेम में ईमानदार होना आपके लिए आत्‍मघाती हो सकता है। अपनी महिला साथी के साथ ईमानदार रहें। इससे आपका रिश्‍ता और मजबूत होगा। यूं नहीं कि आप अपनी गर्लफ्रेंड के ईमानदार रहकर ही आप उसका दिल जीत सकते हैं। ऐसा करने से आपका प्‍यार गहरा और आपकी छवि एक अच्‍छे प्रेमी की बनेगी। याद रहे, प्रेम में कोई बैकअप नहीं होता और अगर आप किसी को बैकअप बनाएंगे तो कोई ऐसा आपके साथ भी कर सकता है।

 

[इसे भी पढ़ें : संबंधों में तनाव कम करने के तरीके]

 

अहमियत दीजिए
पुरुषों में सबसे बड़ी कमी होती है उनका अहम्। इसके चलते वे झुकने को तैयार नहीं होते। वे समझते हैं कि ईश्वर ने सम्‍पूर्ण ज्ञान और समझदारी केवल और केवल पुरुषों के हिस्‍से में डाली है और स्‍त्री को यह बात समझ जानी चाहिये। और अगर कोई स्‍त्री अपनी बुद्धि और विवेक का इस्‍तेमाल करती है, तो यह बात उन्‍हें बर्दाश्‍त नहीं होती। पुरुष स्‍त्री को बातों को अक्‍सर अपनी इसी सोच के साथ नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन, पुरुष वह है जो अपनी साथी को पूरी तवज्‍जो दे। उसका सम्‍मान करे। सहृदयता से उसकी बात सुने और फिर अपनी शांति से अपनी बात कहे। अगर आप अपनी साथी से सलाह ले लेंगे तो आपकी मूंछें नीची नहीं हो जाएंगी।

 

सहायक बनिए
आपकी गर्लफ्रेंड आपकी जिंदगी का हिस्‍सा है, इसलिए हर कदम पर उसका साथ दीजिए। आप उसे सपोर्ट करेंगे तो वह अपने को कभी भी अकेला महसूस नही करेगी। आपके सहायक बनने की प्रवत्ति उसे एक अच्‍छा इनसान बनने में मदद करेगी। अच्‍छे और बुरे दोनों परिस्थितियों में उसका साथ दीजिए। कुछ लोग अच्‍छे समय में साथ रहते हैं लेकिन बुरा दौर आते ही दूर हो जाते हैं, लेकिन यदि आप अच्‍छे प्रेमी हैं तो हर परिस्थिति में आप उसके साथ रहिए।

 

अच्‍छे ब्‍वॉयफ्रेंड बनने से पहला अच्‍छा इनसान बनिए। अगर आपकी जिंदगी में किसी लड़की की इंट्री हुई है तो उसकी अहमियत को समझिए और रिश्‍ते को आगे बढ़ाने के लिए सारे टिप्‍स अपनाइए जो जरूरी हो।

 

 

Read More Articles on Sex and Relationship in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES207 Votes 19182 Views 2 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Nitish19 Apr 2015

    Kisi bhi relationship ko samjhana aur use achhe tareeke se sambhalana sabke bas ki baat nahi, lekin apke ye tips padhne ke bad mai ek behtar boyfriend banane ki koshish karunga.

  • Gopi Prashad15 Jun 2013

    आज के समय में कामयाबी की होड़ में लग रही अंधी दौड़ के चलते रिश्ते मानो जैसे खोखले हो गये हैं। फिर चाहे वे एक प्रेमी-प्रेमिका का रिश्ता हो या फिर कोई और, एक दूसरे की जरूरतों को पूरा करने के लिए साथ रहना और लोक लाज के लिए दिखावा करने के चलते रिश्ते औपचारिकता मात्रा बन कर रह गया है। लड़के लड़कियां हों या स्त्री और पुरुष सभी के रिश्ते तैजी से टूट रहे हैं। इस संदर्भ में उपरोक्त लेख पढ़ा, पढ़ कर अच्छा लगा। लेखक ने किताबी जानकारियों को शब्दों में अच्छी तरह पिरोया है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर