व्‍यस्‍त कार्य्रक्रम के बीच पाएं फिटनेस

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 17, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अपने खानपान को आदत सुधारकर पा सकते हैं फिटनेस
  • व्‍यायाम को अपनी आदत में शुमार करें
  • फाइबर युक्‍त आहार है आपके लिए फायदेमंद
  • सर्किट ट्रेनिंग से हो सकता है आपको पूरा फायदा

दिन की भागदौड़ और थकान। ऐसे में फिटनेस के लिए मेहनत करने का वक्‍त निकाल पाना जरा मुश्किल हो जाता है। लेकिन, जिम या घर पर ही व्‍यायाम के लिए समय निकालना आपका मुख्‍य लक्ष्‍य होना चाहिए। 

vyast karyakram ke beech payein fitnessकम समय के लिए कसरत करने का यह अर्थ बिलकुल भी नहीं है कि आप अपने तयशुदा लक्ष्‍य तक नहीं पहुंच पाएंगे। अपने व्‍यायाम के कार्यक्रम में जरूरी बदलाव कर आप न सिर्फ अपना लक्ष्‍य पा सकेंगे बल्कि उससे आगे भी हासिल कर सकेंगे। अपना वर्कआउट प्‍लान तैयार करते सयम अपने फिटनेस लक्ष्‍य को ध्‍यान में रखकर ही तैयार करें। 



आइए एक नजर डालते हैं दिनचर्या पर - 

अगर आपका लक्ष्‍य कैलोरी खर्च कर वजन कम करने का है तो कार्डियोवस्‍कुलर व्‍यायाम आपके लिए मुफीद रहेगा। कम समय के लिए किया गया कड़ा व्‍यायाम आपकी सेहत को उतना ही फायदा पहुंचाएगा जितना कि अधिक देर तक किया गया सामान्‍य व्‍यायाम।

अगर आप शरीर पतला करना चाहते हैं और साथ ही साथ वजन भी कम करना चाहते हैं तो आपको सर्किट ट्रेनिंग की ओर ध्‍यान देना चाहिए। सर्किट प्रशिक्षण सामान्य कंडीशनिंग गतिविधियों और मध्यम तीव्रता वाले व्‍यायाम हैं। यह आपकी हृदयगति को बढ़ाने का काम करती है और साथ ही आपकी मांसपेशियों को इस योग्‍य बनाती हैं कि आप बिना किसी ब्रेक के कसरत कर सकें। 

परंपरागत कसरत की तकनीकों से अलग, कम समय के लिए किया गया अधिक कड़ा व्‍यायाम अधिक कैलोरी खर्च करने में मदद करता है। लेकिन, जरूरत इस बात की है कि आप इसे अपनी आदत में शुमार करें और सप्‍ताह में कम से कम तीन बार कड़ा व्‍यायाम जरूर करें। रोजाना व्‍यायाम कर पसीना बहाने से अधिक अगर आप सप्‍ताह में दो से तीन घंटे ही जिम में कड़ी कसरत करेंगे तो आपको इसका अधिक फायदा होगा। 

तेज व्‍यायाम हर किसी के लिए सही नहीं होते, इसलिए ऐसा करने से पहले अपने डॉक्‍टर से सलाह जरूर लें। इसके साथ ही अपने ट्रेनर की सलाह को भी सही तरीके से फॉलो करें। 


खानपान की आदतें सुधारें
व्‍यस्‍त होना अलग बात है, लेकिन यह खराब खान-पान की आदतों के लिए बहाना नहीं हो सकता। अगर आप अपने खानपान की आदतों पर नियंत्रण रखें तो फिटनेस दूर की कौड़ी नहीं। विशेषज्ञ मानते हैं कि शाकाहारी होना (इसमें लग सकता है लिंक) सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। सब्जियां में कैलोरी की मात्रा बहुत कम होती है साथ ही उनमें स्‍टार्च भी नहीं होता। सब्जियों से मिलने वाला फाइबर की मदद से आप अधिक खाकर भी वजन पर काबू रख सकते हैं। सब्जियां खाने के बाद आपका पेट अधिक समय तक भरा रहता है। ये हर रूप में फायदेमंद होती हैं, चाहे आप इन्‍हें कच्‍ची खाएं या पकाकर या फिर ये स्‍टीमड ही क्‍यों न हों।



काम का बहाना और परिवार के बीच फिटनेस हमेशा हाशिए पर धकेल दी जाती है। लेकिन, अपने फिटनेस शेड्यूल और खान-पान की आदतों में जरा सा सुधार कर इसे आसानी से पाया जा सकता है।



Read More Articles on Health and Fitness In Hindi.
Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 11987 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर