वायरस करेगा ब्रेस्‍ट कैंसर का खात्‍मा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 05, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

virus karega breast cancer ka khatmaa

स्‍तन कैंसर का वायरस महिलाओं में कैंसर में से सबसे आम है। इस तेजी से महिलाओं को अपना शिकार बना रहा है। मौजूदा जीवनशैली में महिलाओं को इस तरह की समस्‍याएं आम होती चली जा रही है। लेकिन, अब इस बीमारी से ग्रस्‍त महिलाओं के लिए राहत भरी खबर है। वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि चेचक मिटाने के लिए जिम्‍मेदार वायरस एक प्रकार के स्‍तन कैंसर का इलाज करने में भी मदद कर सकते हैं।

इसे भी पढ़े- (ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द से कैसे निपटें)

हाल में हुआ एक अध्‍ययन बताता है कि स्‍तन कैंसर के सर्वाधक गंभीर रूप से ट्रिपल निगेटिव ब्रेस्‍ट कैंसर (टीएनबीसी) को यह वायरस महज चार दिनों में 90 फीसदी तक खत्‍म करने का माद्दा रखता है। वैज्ञानिकों ने चूहों पर अध्‍ययन कर यह निष्‍कर्ष निकाला। उन्‍होंने चचेक के खिलाफ लड़ने वाले 'वैक्‍सीनिया' नाम वायरस से एक टीका विकसित किया जिसे चूहों पर इस्‍तेमाल किया गया। और इसके नतीजे काफी उत्‍साहवर्धक थे।

इसे भी पढ़े- (स्‍तन कैंसर से चिकित्सा)

 

शोधकर्ताओं ने पाया कि पहली ही बार टीके का इस्‍तेमाल करने से टीएनबीसी के ट्यूमर के 60 फीसदी वायरस खत्‍म हो गए। इसके साथ ही बाकी बचे ट्यूमर की संख्‍या अपने आप कम होती चली गयी।

वैज्ञानिकों ने बताया कि वैसीनिया वायरस, चेचक के वायरस को खत्‍म करने के लिए सबसे ज्‍यादा प्रभावी माने जाते हैं। हालांकि यह चेचक फैलाने वाले वैरियोला वायरस से काफी करीब से जुड़ा होता है, लेकिन फिर भी इंसानों के लिए यह खतरनाक नहीं होता।

इसे भी पढ़े- (ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद सावधानियां)

 

शोधकर्ताओं ने पाया कि टीएनबीसी के ट्यूमर आमतौर पर युवा महिलाओं को अपना शिकार बनाते हैं। इनका इलाज काफी मुश्किल है क्‍योंकि कीमोथेरेपी के बाद यह शरीर पर हमला बोल देते हैं।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES14 Votes 13680 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर