गठिया है तो शाकाहार अपनायें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 13, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • जोड़ों का दर्द दूर करने के लिए अपनायें शाकाहार।
  • इससे खून में कम बनता है सीआरपी नामक रसायन।
  • इससे शरीर में बढ़ता है प्राकृतिक एंटीबाडीज का स्तर।
  • शाकाहारियों में कम होती है कैंसर की होने की संभावना।

जोड़ों का दर्द यानी गठिया असाध्य बीमारी है। लेकिन एक शोध में कहा गया है कि इस बीमारी में शाकाहार से बड़ी राहत मिल सकती है। शाकाहार गठिया के मरीजों को दिल के दौरे से बचाने में काफी हद तक मददगार है।शाकाहार के सेवन से घटता है दिल का दौरा पड़ने और मस्तिष्काघात का खतरा कम हो जाता है।
Arthritis in hindi

शाकाहार से भगायें गठिया

स्टाकहोम के कैरोलिंस्का इंस्टीट्यूट के प्रो. जोहान फ्रास्टेगर्ड के मुताबिक जिन लोगों को शाकाहारी भोजन दिया गया, उनके जोड़ों में सूजन कम पाया गया। यह कमी औसतन 5.3 से 4.3 पाई गई। उनके खून में 'सीआरपी' नामक रसायन भी कम पाया गया। यह रसायन शरीर में जलन पैदा करने के लिए जिम्मेदार माना जाता है।अध्ययन में शामिल 30 रोगियों को तीन महीने तक शाकाहारी और 28 को सामान्य भोजन दिया गया और उनके खून में विभिन्न रसायनों की स्थिति पर नजर रखी गई। शाकाहार लोगों के शरीर में प्राकृतिक एंटीबाडीज (रोग प्रतिरक्षी) को बढ़ाने में भी काफी मददगार साबित होता है। जिससे रियूमेटायड आर्थराइटिस के स्तर को घटाया जा सकता है।
Vegetarian in Hindi

शाकाहारी होने के अन्य फायदे

शाकाहारियों में हृदय को रक्त भेजने वाली धमनियों से संबंधित बीमारी की संभावना कम होती है। शाकाहारियों में कुल तरल कोलेस्ट्रॉल तथा कम-घनत्व वाले लायपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल की मात्रा सामान्यतः कम पाई जाती है, लेकिन उच्च-घनत्व वाले लायपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल की मात्रा इस बात पर निर्भर करती है कि आप किस प्रकार का शाकाहारी भोजन ग्रहण करते हैं। वैसे तो शाकाहारी भोजन में प्रोटीन की मात्रा कम होती है, लेकिन शाकाहारी व्यक्ति प्रोटीन की अपनी आवश्यकता संतुलित भोजन करके पूर्ण कर सकते हैं। वनस्पतियों से प्राप्त प्रोटीन शरीर की अमीनो एसिड की आवश्यक मात्रा के लिए पर्याप्त है, बशर्ते विभिन्न प्रकार के वनस्पति आधारित पदार्थों का सेवन किया जाए।

विश्वभर से लिए गए आंकड़े यह दर्शाते हैं कि वनस्पति आधारित भोजन करने वालों में स्तन का कैन्सर होने की संभावना कम होती है। कारण शाकाहारियों में एस्ट्रोजन की कम मात्रा सहायक पाई गई है।


Image Source-Getty

Read More article on Arthritis in hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES9 Votes 15425 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर