वैजाइनल कैंसर के लक्षण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 02, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

vaginal cancer ke lakchhan

वैजाइनल कैंसर के लक्षण
 
वैजाइनल कैंसर या योनि का कैंसर औरतों में बहुत कम संख्या में पाया जाने वाला जनन संबंधी कैंसर हैं, जो औरतों के योनी की कोशिकाओं में होता है। किसी प्रकार का विशेष लक्षण ना होने के कारण बहुत सारी महिलाएं शुरूआती दौर में इसे जान नहीं पाती, इसके लक्षण कैंसर के बढ़ने के साथ-साथ बढ़ता है। पर ज्यादातर इसके कोई विशेष लक्षण नहीं होते।

जब कैंसर बढ़ जाए तब यह लक्षण दिखते है

यो‍नि से अनियमित खून का प्रवाह

नियमित माहवारी या पीरियड के बीच के अंतराल में भी खून का आना, सहवास के बाद यौनी से खून आना, मेनोपॉश मेनोपॉज़ के बाद भी यो‍नि से खून का आना, यह इस कैंसर के प्राथमिक लक्षण है,यह लक्षण अस्पष्ट होते है जो ऐसे रोग अन्य यौन संबंधी रोग भी हो सकते है।

वैजाइनल डिस्चार्ज

यह प्रवाह गंधयुक्तज और पीपदार होता है, ज्यादातर औरते योनि प्रवाह की परेशानी से अकसर जूझती है लेकिन वह इस समस्या पर ज्यादा ध्यान नहीं देती। कई बार तो ऐसे लक्षण अन्य यौन संबंधी रोग या संक्रमण भी हो सकते है। पर वैसे आमतौर पर इसके लक्षण समान होते है, अगर यह समस्या ज्यादा दिनों तक हो तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं ।

पेशाब में परिवर्तन

कुछ औरतों में सामान्य से ज्यादा पेशाब आने की समस्या होती है, पेशाब करते वक्त दर्द होता है, यौन कैंसर में पेशाब के लक्षणों से यह पता चल जाता है कि कैंसर ब्लैडर तक पहुंच चुका है, पंरतु कई बार अन्य यौन संबंधी रोग भी हो सकते है।

आंत में समस्या 

कुछ औरतों के आंत में समस्या आती है, जैसे- कांस्टिपेशन या काले रंग का मल होना, या पेट का साफ ना होना इत्यांदि। इस प्रकार की समस्या का मतलब है कि कैंसर मलाशय में है।

पेल्विक पेन 

आमतौर पर पेल्विक पेन यह दर्शाता है कि कैंसर पेल्विक बोन के हिस्से में हुआ है, कैंसर कोशिकाओं एवं लिंग में प्रवेश कर गया है। ऐसे में पैरों एवं आंत में दर्द रहता है, वैसे तो यह दर्द हल्कां होता है लेकिन कई बार यह दर्द बहुत तीव्र होता है।

योनि में भारीपन

कुछ औरते योनि में भारीपन का अनुभव करती हैं, डॉक्टर द्वारा परिक्षण में इसके बढ़ने का पता चलता है। इस प्रकार का भारीपन कई बार योनि में सिस्ट या गांठ होने के कारण हो सकता है। डॉक्टण ही यह बता सकते है कि यह कैंसर है या नहीं, 

यह सभी लक्षण यौन कैंसर के कारण होते है, लेकिन कई बार तो अन्य यौन संबंधी रोग या संक्रमण भी हो सकते है। अगर आपको ऐसी कोई भी समस्या लम्बे समय से हो रही हो तो अपने डॉक्टरर को जरूर दिखाए, आपका डॉक्टर आपका पूरा परिक्षण करके यह बता पायेगा की आपको योनि कैंसर है या नहीं, इसका सही ईलाज करायें।

 

 
   
   

 

वैजाइनल कैंसर या योनि का कैंसर औरतों में बहुत कम संख्या में पाया जाने वाला जनन संबंधी कैंसर हैं, जो औरतों के योनी की कोशिकाओं में होता है। किसी प्रकार का विशेष लक्षण ना होने के कारण बहुत सारी महिलाएं शुरूआती दौर में इसे जान नहीं पाती, इसके लक्षण कैंसर के बढ़ने के साथ-साथ बढ़ता है। पर ज्यादातर इसके कोई विशेष लक्षण नहीं होते।

 

जब कैंसर बढ़ जाए तब यह लक्षण दिखते है।

 

यो‍नि से अनियमित खून का प्रवाह

 

नियमित माहवारी या पीरियड के बीच के अंतराल में भी खून का आना, सहवास के बाद यौनी से खून आना, मेनोपॉश मेनोपॉज़ के बाद भी यो‍नि से खून का आना, यह इस कैंसर के प्राथमिक लक्षण है,यह लक्षण अस्पष्ट होते है जो ऐसे रोग अन्य यौन संबंधी रोग भी हो सकते है।

 

वैजाइनल डिस्चार्ज

 

यह प्रवाह गंधयुक्त और पीपदार होता है, ज्यादातर औरते योनि प्रवाह की परेशानी से अकसर जूझती है, लेकिन वह इस समस्या पर ज्यादा ध्यान नहीं देती। कई बार तो ऐसे लक्षण अन्य यौन संबंधी रोग या संक्रमण भी हो सकते है। पर वैसे आमतौर पर इसके लक्षण समान होते है, अगर यह समस्या ज्यादा दिनों तक हो तो डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

 

पेशाब में परिवर्तन

 

कुछ औरतों में सामान्य से ज्यादा पेशाब आने की समस्या होती है, पेशाब करते वक्त दर्द होता है, यौन कैंसर में पेशाब के लक्षणों से यह पता चल जाता है कि कैंसर ब्लैडर तक पहुंच चुका है, पंरतु कई बार अन्य यौन संबंधी रोग भी हो सकते है।

 

आंत में समस्या 

 

कुछ औरतों के आंत में समस्या आती है, जैसे- कांस्टिपेशन या काले रंग का मल होना, या पेट का साफ ना होना इत्यांदि। इस प्रकार की समस्या का मतलब है कि कैंसर मलाशय में है।

 

पेल्विक पेन 

 

आमतौर पर पेल्विक पेन यह दर्शाता है कि कैंसर पेल्विक बोन के हिस्से में हुआ है, कैंसर कोशिकाओं एवं लिंग में प्रवेश कर गया है। ऐसे में पैरों एवं आंत में दर्द रहता है, वैसे तो यह दर्द हल्कां होता है लेकिन कई बार यह दर्द बहुत तीव्र होता है।

 

योनि में भारीपन

 

कुछ औरते योनि में भारीपन का अनुभव करती हैं, डॉक्टर द्वारा परिक्षण में इसके बढ़ने का पता चलता है। इस प्रकार का भारीपन कई बार योनि में सिस्ट या गांठ होने के कारण हो सकता है। डॉक्टण ही यह बता सकते है कि यह कैंसर है या नहीं। 

 

यह सभी लक्षण यौन कैंसर के कारण होते है, लेकिन कई बार तो अन्य यौन संबंधी रोग या संक्रमण भी हो सकते है। अगर आपको ऐसी कोई भी समस्या लम्बे समय से हो रही हो तो अपने डॉक्टरर को जरूर दिखाए, आपका डॉक्टर आपका पूरा परिक्षण करके यह बता पायेगा की आपको योनि कैंसर है या नहीं, इसका सही ईलाज करायें।

 

 

 

 

 

 

 

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES13 Votes 16114 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर