इन 4 टिप्स को अजमाकर निकालें बच्चे के गले में अटका सिक्का

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 27, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • खेल-खेल में बच्चे निगल लेते हैं सिक्का।
  • ये सिक्का फुड नली में अटक जाता है।
  • ऐसी स्थिति में माता-पिता घबराए नहीं।

बच्चे नासमझ और भोले होते हैं। उन्हें चीजों की समझ नहीं होती। उन्हें जो चीज अच्छी लगती है वे उसे खाने की ओर आकर्षित होते हैं। इस कारण कई बार बच्चे खेल-खेल में चमकता हुआ सिक्का या सुंदर खिलौना मुंह में रख लेते हैं जो उनके गले में जाकर अटक जाता है। ऐसे में बच्चों का रोना देखकर पैरेंट्स भी घबराने लगते हैं और अस्पताल ले जाने लगते हैं।


जबकि इस स्थिति में धैर्य रखना चाहिए और बच्चे को अस्पताल ले जाने के बजाय घर पर ही इन 4 टिप्स को अपनाएं। क्योंकि अस्पताल ले जाने तक के बीच वाले समय में कुछ भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- बढ़ते बच्‍चे के लिए जरूरी पोषक तत्‍व

इन कारणों से सिक्का निगलना है खतरनाक

अगर समय पर और तुरंत इस स्थिति का समाधान नहीं किया गया तो बच्चे का सिक्का निगलना बच्चे की जान को भी जोखिम में डाल सकता है। क्योंकि अमूमन ये सिक्के बच्चों की फूड पाइप में फंसते हैं तो आप थोड़ी देर तक रुक सकते हैं लेकिन अगर ये सिक्का बच्चे की श्वसन नली में अटक जाए तो तुरंत उपचार करना जरूरी हो जाता है। ऐसी स्थिति में माता-पिता को धैर्य से काम लेना चाहिए और निगली हुई वस्तु को बाहर लाने के लिए इन टिप्स को आजमाना चाहिए।

इन 4 टिप्स से तुरंत निकालें सिक्का

 

  1. सबसे पहले बच्चे को आगे की तरफ झुकाएं। अब सीने को एक हाथ से दबाएं और दूसरे हाथ से उसकी पीठ पर 5 से 6 बार ठोक मारे। इस प्रक्रिया के 2 से 3 बार दोहराएं। इससे उसके सीने में कफ बनेगा और निगला हुआ सिक्का बाहर आ जाएगा।
  2. गले में सिक्का फंसने पर बच्चे के पेट के ऊपरी भाग को दोनों हाथों से कसकर पकड़ें और झटके से दबाव डालते रहें। इससे सीने की सांस नीचे नहीं जाने पर ऊपर जाएगी और सिक्का बाहर निकल जाएगा। 
  3. गले में सिक्का फंसने पर तेज खांसी होती है। ऐसे में बच्चे को तब तक खांसने बोलें जब तक की कफ न बन जाएं। कफ के साथ निगली हुई वस्तु भी बाहर आ जाएगी।
  4. तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं- जब सिक्का नहीं निकल पा रहा हो और बच्चा नीला पड़ने लगे तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।

 

Read more articles on Parenting in Hindi.

 

 

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES15344 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर