अपने शरीर के संकेतों को भी समझिये

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 02, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शरीर के बदलाव व संकेतो से पहचाने बीमारी।
  • त्वचा का रंग बदलना स्किन कैंसर का लक्षण ।
  • तीन मिनट व्यायाम के बाद जांचे अपनी नब्ज।
  • समय समय पर डॉक्टर से कराते रहे जांच।

आज विज्ञान ने इतनी तरक्की कर ली है, कि तमाम तरह के यंत्र और उपकरण सहज सुलभ हो गए हैं। ऐसे में यह बात भले ही हास्यास्पद लगे परंतु इसमें कतई संदेह नहीं है कि आज भी हमारा शरीर अपने अंदर पल रही बीमारियों और विकारों का संकेत देने में समर्थ है। यह हो सकता है कि आप ऐसे किसी संकेत को न पहचान पाती हों।रंग पीला है तो, आंखें काली हो रही हैं तो शरीर दुबला हो रहा है तो क्या वजह है। ऐसी अनेक वजहें उन्हें पता रहती हैं और स्थिति के प्रति सचेत भी वे समय रहते ही हो जाते हैं। आइए आप भी ऐसे संकेतों के बारे में जानिए जो हमारे शरीर का वास्तविक हाल हमें बताते हैं। किसी ने ठीक कहा है कि रोग का आक्रमण होने से पहले ही शरीर का बचाव कर लेना सबसे महत्वपूर्ण है।
facial expression in hindi


कुछ कहता है त्वचा का रंग

अपनी त्वचा और रोमकूप को ध्यान से देखिए। बहुत से लक्षण स्किन कैंसर के भी होते हैं, इसलिए त्वचा के रंग बदलने या किसी भी तरह के परिवर्तन के प्रति सजग रहें। त्वचा के खुले हिस्से पर पड़े धब्बे यह भी बताते हैं कि इस जगह पर सूरज का प्रभाव अधिक पड़ा है। कहीं-कहीं खुजली या टीस उठती हो या घाव न भर रहा हो, विशेषकर चेहरे और हाथों के पिछली तरफ, तो यह खतरनाक हो सकता है। आप तुरंत चिकित्सक को दिखाइए।

अगर आंखों और उसके आसपास के हिस्से में सूजन और कालापन हो तो यह किडनी की खराबी तथा असंतुलन का द्योतक है। यह चेहरा पढ़नेका प्राचीन तरीका है। आपकी आंखें बताती हैं कि आपको पर्याप्त नींद की जरूरत है। आपको नमक, कॉफी, बर्फीले पेय और आइसक्रीम से परहेज करना चाहिए। आप गर्म खाना खाएं, सूप पियें। बींस, जड़ वाली सब्जियां और पौष्टिक खाना आपके लिए लाभकारी होगा।
how to keep your heart healthy

हृदय की धड़कन सुनें

जब आप सुबह सोकर उठती हैं तो बिस्तर छोड़ने से पहले अपने दिल की धड़कन सुनें। एक हाथ की कलाई को पकड़ें और नब्ज पर रखकर दबाव डालें। धीरे से दबाने पर आपकी अंगुलियों के नीचे फड़कने का एहसास होगा। यह एक मिनट में कितनी बार फड़कती है गिनें। एक सामान्य व्यक्ति की नब्ज एक मिनट में 72 बार फड़कती है परंतु जो लोग अधिक चुस्त हैं उनकी कम भी हो सकती है। धूम्रपान, तनाव तथा खराब स्वास्थ्य नब्ज के बढ़ने के कारण हो सकते हैं। यदि आपकी नब्ज कम या ज्यादा तेज है या ऊपर-नीचे ज्यादा हो रही है तो डॉक्टर को दिखाना न भूलें।

अपने हाथ को अपने चेहरे के सामने आगे की ओर बढ़ाएं और एक माचिस की तीली जलाकर पकड़ें, गहरी सांस भरते हुए कोशिश करें उसे बुझाने की। यदि ऐसा करने में आपको कोई कठिनाई नहीं हुई तो ठीक है, पर यदि दिक्कत हुई तो अपने डॉक्टर को बताएं। यह देखने की आवश्यकता है कि आपके फेफड़ों की ताकत कितनी है। यदि आप धूम्रपान करती हैं तो यह ताकत कम हो सकती है, या बढ़ती आयु के कारण भी कम हो सकती है।
Nails in Hindi


अपने नाखूनों की जांच करें

नाखूनों में दरारों का होना और बेतरतीब शेप होना यह दर्शाता है कि आप पाचन संबंधी परेशानी से गुजर रही हैं। नाखून यदि ऊपर की तरफ मुड़े हैं तो इसका अर्थ है कि आपको हृदय या फेफड़ों से संबंधित रोग होने की संभावना है। यदि नाखून अपना स्वाभाविक घुमाव खो चुके हैं तो इसका मतलब है कि आप गंभीर रूप से एनीमिक हैं। भोजन में पौष्टिक तत्वों की कमी, धूम्रपान और रक्त संचार में असंतुलन होने से नाखून पीले और बदरंग हो जाते हैं। इसलिए अपने भोजन में प्रोटीन, कैल्शियम, ताजे फलों और सब्जियों की मात्रा बढ़ाएं।

आपका यूरिन हलका पीला या मटमैला होना चाहिए। यदि यह गहरा पीला या संतरी रंग लिए है तो आप डिहाइड्रेशन की शिकार हैं। इसका यह अर्थ भी हो सकता है कि आपकी किडनी को ज्यादा काम करना पड़ रहा है। प्रतिदिन कम से कम दो लीटर पानी जरूर पीएं। जिससे शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकल जाएं। आपके लिए अल्कोहल और कैफीनयुक्त पेय पदार्थ नुकसानदायक सिद्ध होंगे, इनसे बचें। यदि ज्यादा पानी पीने पर भी आपका यूरिन गहरे रंग का है तो डॉक्टर को दिखाएं यह पीलिया का लक्षण भी हो सकता है।

Healthy in Hindi

देखें आप कितनी स्वस्थ हैं  

आप अपने हृदय की धड़कन नोट करें। तीन मिनट व्यायाम करें। अब आपका स्वास्थ्य क्या कहता है? सांस लेने और छोड़ने में परेशानी तो नहीं हो रही। तुरंत नब्ज भी देखें कि वह जरूरत से ज्यादा तेज तो नहीं चल रही। दस मिनट प्रतीक्षा करें फिर नब्ज देखें। यदि आप ठीक हैं तो यह सामान्य स्तर पर आ जाएगी और यदि इसे सामान्य होने में अधिक समय लगा तो इसका मतलब है कि आपको अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देने की खास जरूरत है। दिक्कत नहीं है तो व्यायाम करती रहें, कम से कम वजन तो घटेगा ही।

 

ImageCourtesy@gettyimages

Read More Article on Diet and Nutrition in hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES11 Votes 16251 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर