उचित आहार करे सर्वाइकल कैंसर पर वार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 25, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

uchit aahar kare cervical cancer per vaar

सर्वाइकल कैंसर दुनिया में तीसरे सबसे आम कैंसर में से है। राष्‍ट्रीय कैंसर संस्‍थान की रिपोर्ट के अनुसार, कैंसर में एक तिहाई मौत का कारण गलत आहार लेने की आदत से जुडा होता है। सर्वाइकल कैंसर को रोकने के लिए आपको ऐसे आहार का सेवन करना चाहिए जो उचित हो और जिनमें कैंसर से लड़ने के गुण और एंटीऑक्‍सीडेंस हो। साथ ही कैंसर से लड़ने की क्षमता के साथ-सा‍थ उसके विकास को बढ़ावा देने वाले कण को रोकने की क्षमता।

 

[इसे भी पढ़े : सर्वाइकल कैंसर और प्रेग्नेंसी]

 

पोषण विशेषज्ञों के अनुसार, एक ही तत्व या एक विशेष भोजन सर्वाइकल कैंसर को रोकने के लिए काम नही करते है इसलिए, यह सलाह दी जाती है कि एक आहार योजना बनाई जाए जिसमें अनेक प्रकार के खाद्य पदार्थ शामिल हो। इन खाद्य पदार्थों की मदद से आप कैंसर पर रोक और कैंसर कोशिकाओं के विकास की गतिविधि को सीमित कर सकते है।

अपेक्षित आहार योजना संरचना के अलावा, सिगरेट और शराब में लिप्त जैसे अस्वास्थ्यकर आदतों से भी परहेज़ कर सर्वाइकल कैंसर की रोकथाम की जा सकती है। आइए जानें ऐसे उचित आहार जो करे सर्वाइकल कैंसर पर वार।


उचित आहार

अदरक

कैंसर की कोशिकाओं पर प्रारंभिक अध्ययनों से पता चला है कि अदरक की कोशिकाओं का मूल रूप किसी भी आसपास की कोशिकाओं को नुकसान पहुचाए बिना खुद को पचाने की क्षमता होती है। अपने पसंदीदा सूप या दाल में कुछ ताजा अदरक ले सकते हैं।

 

[इसे भी पढ़े : सरवाइकल कैंसर के कारण और खतरे]


'विटामिन-ए' और 'बी'

'विटामिन-ए' आहार में 'विटामिन-ए' का प्रयोग सर्वाइकल कैंसर को रोकने में मदद करता है। 'विटामिन-ए' जिसमें प्रचुर मात्रा में होता है उसमें नारंगी, गाजर, स्क्वैश, अंडे, जिगर और गढ़वाले डेयरी उत्पाद शामिल होते हैं।

'विटामिन-बी' फोलेट से भरपूर आहार भी अपने भोजन में शामिल किया जाना चाहिए। फोलेट होमोक्यास्‍टेन ​​के स्तर को कम करती है जो सर्वाइकल कैंसर में असामान्य सेल के विकास के लिए जिम्मेदार होते है। ब्रोकोली, फूलगोभी, गोभी फोलेट की ग्रोथ को बढ़ावा देने के लिए और सर्वाइकल कैंसर को रोकने के लिए उत्कृष्ट स्रोत हैं।


मीठा आलू
कैंसर रसायनों के कारण से शरीर की कोशिकाओं की रक्षा करने के लिए बीटा कैरोटीन बहुत उपयोगी होता है जो लाल और नारंगी रंग के फल और सब्जियों में पाया जाता है। मीठे आलू में बीटा कैरोटीन सहित कई विरोधी गुण होते हैं, जो कैंसर के कारण उत्‍पन्‍न परमाणु झिल्ली के बाहर रसायनों से सेल नाभिक में डीएनए की रक्षा करते हैं। गाजर और कद्दू दोनों में भी बीटा कैरोटीन पर्याप्‍त मात्रा में होता है।

हरी चाय

दोनों हरी और काली चाय पोलीफिनोल, जो एंटीऑक्सिडेंट है और कैंसर की कोशिकाओं को रोकने में मदद करता है। लेकिन, अधिक काले रंग की तुलना में हरी चाय ज्‍यादा असरदार होती है। चीनी के बिना चाय पीना सबसे अच्छा होता है, लेकिन अगर आप अपनी चाय मीठा करना चाहिए, शहद या मेपल सिरप की तरह एक न्यूनतम प्रसंस्कृत स्वीटनर का उपयोग करने का प्रयास करें।

[इसे भी पढ़े : कैसे बढ़ता है सरवाइकल कैंसर]

 

फलियां
इसमें उच्च फाइबर और उच्‍च प्रोटीन होता है, जो आपके शरीर की कोशिकाओं की रक्षा करने में मदद करते है। सेम, कैंसर कोशिकाओं द्वारा किए जा रहा हमले से आपकी स्वस्थ कोशिकाओं की रक्षा करता है और साथ-साथ धीमी गति से हो रहे ट्यूमर के विकास को रोकने में भी मदद करता हैं। किसी भी मांस व्यंजन को सेम के साथ एक या दो बार सप्ताह में लेने से कोशिकाओं को बचाने मे मदद मिलती है।

 

जंगली ब्लूबेरी
डार्क-स्‍क्रीन फल (स्ट्रॉबेरी, अंगूर, आदि) एंटीऑक्‍सीडेंट होते है जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसे अपने आहार में शामिल कर आप सर्वाइकल कैंसर के खतरे को कम कर सकते है।

 

मशरूम
मशरूम भी शरीर को कैंसर से लड़ने और प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करता हैं। ये बीटा गलूकण के एक स्रोत हैं। इसमें प्रोटीन भी होता है जिसे लेक्टिन कहते है, जो कैंसर कोशिकाओं पर हमला करता है और उन्हें बढ़ने से रोकता है। मशरूम शरीर में इंटरफेरॉन के उत्पादन को प्रोत्साहित कर सकते हैं।

इस प्रकार का उचित आहार अपने दिनचर्या में शामिल कर आप सर्वाइकल कैंसर पर वार कर सकते हैं।

 

 

[Read More Article on सर्वाइकल कैंसर]

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES1 Vote 11567 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर