मेडिटेशन के पांच विभिन्न प्रकार

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 06, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

माइंडफुलनेस व्यायाम को अंतर्दृष्टि मेडिटेशन भी कहा जाता है।
अनुभवी शिक्षक के साथ किया जा सकता है मंत्र जाप मेडिटेशन।
फ्री माइंड मेडिटेशन देता है दिल और दिमाग को सुकून।
वॉकिंग मेडिटेशन मा‍नसिक हलचल को दूर आपको बनाता है शांतचित्त।

ध्‍यान आपके तन और मन दोनों को स्‍वस्‍थ और सुंदर बनाने में मदद करता है। मेडिटेशन को चिकित्सकों के जीवन में महत्वपूर्ण लाभ प्रदान करने के लिए सिद्ध किया गया है।

meditation ke panch pramukh prakar

 

यहां नीचे सूचीबद्ध मे मेडिटेशन के पांच विभिन्न तकनीके दी गई है जो आप के शरीर के साथ साथ एक स्वस्थ मन के खजाने के रूप में पूरी पहचान दे सकती है।

[इसे भी पढ़ें : मेडिटेशन]

सांस का अवलोकन(देखरेख)

मेडिटेशन के किसी भी तकनीक में सबसे महत्वपूर्ण साँस लेना है या व्यक्ति की सांस की निगरानी करना है। सांस अवलोकन के रूप में सरल कुछ मिनटों से कुछ सेकंड के बहुत कम अवधि के लिए आपकी सास पर ध्यान दे। सांस अवलोकन मेडिटेशन तकनीक के साथ शुरू करने के लिए, सपाट सतह पर बैठें। याद रखें आसपास का माहौल शांत और निर्मल हो। सीधे बैठो और अपने हाथो को अपने घुटनों पर रखें।

गहरी सांस लें और धीरे धीरे सांस को छोड़ें। अपनी नाक से सांस लें चूंकि यह ऑक्सीजन फेफड़ों के नीचे तक सभी जगल ले जाती है। यदि आपके मन अपने मेडिटेशन सत्र के दौरान पहले कुछ समय के लिए भटक रहा है, अपने सांस लेने के तरीके पर अपना ध्यान फिर से करें और जब तक आप इस करने में सहज हो तब तक यह मेडिटेशन करें।

[इसे भी पढ़ें : मेडिटेशन यही है सही वक्त]

 

 

एक शांत मन(फ्री माइँड) के साथ मेडिटेशन

कई विशेषज्ञों या रेग्युलर चिकित्सकों के लिए मेडिटेशन, मन से सभी विचारों को खाली करने का एक स्रोत है। हालांकि, ऐसा करने के लिए, सपाट सतह पर धैर्य रखते हुए आपकी पीठ सीधा और आंखों को बंद करने के साथ बैठना होता है। फिर दिमाग को शांत करें। यह  प्रारंभ करने वालो के लिए मेडिटेशऩ विशेष रूप से कठिन हो सकता है क्योंकि मन पर किसी भी तरह का एक प्रयास, तकनीक के गलत अभ्यास के कारण हो सकता है। बस धैर्य रखे और अपना आराम से अभ्यास करें। 

वॉकिंग मेडिटेशन

वाकिंग मेडिटेशन अभ्यासकर्ता को उसके या उसके शरीर का पूरी तरह से उपयोग करने की आवश्यकता है। यह बाहर या एक कमरे के अंदर किया जा सकता है। जब आप चलना शुरू करें, जिस और आपका शरीर चलता है, ध्यान दे और आपके पैर केसे संकुचित होते है जब यह जमीन के संपर्क में आते है। चलते समय, अपनी सांस पर भी ध्यान दे। यदि आप अपने घर के बाहर वाकिंग मेडिटेशन तकनीक का प्रयोग करने की योजना बना रहे हैं, एक जगह को सुनिश्चित करें जो शहरी जीवन की हलचल से दूर हो। मेडिटेशन के स्वास्थ्य लाभ अपरिमित हैं।

[इसे भी पढ़ें : घर पर मेडिटेशन कैसे करें]

 

सचेत होकर(माइंडफुलनेस) व्यायाम

माइंडफुलनेस व्यायाम को अंतर्दृष्टि मेडिटेशन भी कहा जाता है। माइंडफुलनेस व्यायाम में, आप सभी जागरूकता बढ़ाने के लिए, जो आप के चारों ओर हो रहा है, मेडिटेशन करते है, आप अपनी सांस लेने के पैटर्न पर ध्यान केंद्रित कर सकते है। धीरे धीरे, विचार से बाहर आए जो अपने मन परेशान कर सकते है और क्या आपके शरीर और मन का क्षेत्र दायरे से बाहर जा रहा है, पर ध्यान केंद्रित करें। यह मेडिटेशन तकनीक की कुंजी से देखे और बिना पहचानने या विश्लेषण करें सुने कि क्या देखा या सुना जा रहा है। 

सरल मंत्र मेडिटेशन

मंत्र मेडिटेशन, मेडिटेशन का सबसे आसान तरीकों में से एक माना जाता है चूंकि यह  आप को सिर्फ एक वस्तु पर ध्यान केंद्रित करने के द्वारा आपको सभी विचारों से दूर ले जाता है। मंत्र जाप लोगों की बहुत मदद करते है, जो इस तकनीक का अभ्यास करना चाहते हैं। एक अनुभवी मास्टर जो एक नियमित मेडिटेशऩ दिनचर्या से अपनी अपेक्षाओं को समझता है, आमतौर पर मंत्रों का चयन करता है। हालांकि इस मेडिटेशन को करते हुए, या तो आप मंत्र जोर से या अपने मन में उच्चारण करने के लिए चुन सकते हैं।

कई अन्य प्रकार के मेडिटेशन तकनीक भी अच्छी तरह से उपलब्ध हैं, लेकिन उनका नियमित रूप से अभ्यास किया जाना चाहिए। हालांकि, यह समझना चाहिए कि इन तकनीकों को आम तौर पर कुछ स्थितियों के अनुरूप करने में उपयोग किया जाता है।

 

 

Read More Article on Alternative-Therapy in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES110 Votes 22169 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर