इस तरह से करें स्केलडेड स्किन सिंड्रोम का इलाज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jul 02, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • स्केलडेड स्किन सिंड्रोम एक प्रकार का त्वचा संक्रमण है।
  • त्वचा क्षतिग्रस्त होकर उतरने लगती है।
  • विषाक्‍त पदार्थ इस सिंड्रोम का कारण हैं।
  • यह स्टाफीलोकोकस बैक्टीरिया के कारण होता है।

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम एक प्रकार का त्वचा संक्रमण है। इसमें त्वचा क्षतिग्रस्त हो जाती है और उतरने लगती है। स्टाफ संक्रमण के कारण उत्पन्न विषाक्‍त पदार्थ, स्केलडेड स्किन सिंड्रोम का कारण बन सकते हैं। यह रोग अक्सर नवजात को बुखार, दाने और कभी-कभी फफोले जैसे लक्षणों के साथ होता है। इस संक्रमण का उपचार संभव है। इस लेख को पढ़ें और स्केलडेड स्किन सिंड्रोम और इसके उपचार के बारे में जानें।

पौष्टिक आहार

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम एक संक्रमण है जो स्टाफीलोकोकस बैक्टीरिया की विकृति के कारण होता है। यह बैक्टीरिया विष का उत्पादन करता है। इस विष के त्वचा क्षतिग्रस्‍त हो जाती है। इस स्थिति में त्वचा पर छाले हो जाते हैं। छालों के फूटने पर त्वचा लाल हो जाती है और ऐसी लगती है कि जैसे वह जल गई हो। स्केलडेड स्किन सिंड्रोम पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों में सबसे ज्‍यादा पाया जाता है।

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम की शुरूआत स्थानीय स्टाफिलोकोकल संक्रमण से होती है। यह संक्रमण दो प्रकार के विष (एपिडर्मोलिटिक विषाक्‍त पदार्थों ए और बी) के कारण उत्पन्न होता है। यदि आपके बच्‍चे के शरीर पर जले होने जैसे निशान दिखाई दें तो यह चिंताजनक हो सकता है। यदि यह बिगड़ जाये तो स्केलडेड स्किन सिंड्रोम जीवन के लिए भी घातक साबित हो सकता है। इसलिए इस रोग का उपचार तत्काल कराना चाहिए। बच्‍चों के साथ ही यह रोग वयस्‍कों में गुर्दे की विफलता और प्रतिरक्षा क्षमता में कमी के कारण हो सकता है।

 

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम के लक्षण

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम के लक्षण निम्‍न लिखित हैं-

- फफोले
- बुखार
- त्वचा का छिलना या गिरना (छूटना या विशल्कन)
- त्वचा में दर्द
- त्वचा में लालिमा (एरथीम), यह शरीर के अधिकांश भाग में फैल जाती है।

 

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम का उपचार

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम के उपचार के लिए मरीज को अस्पताल में रहना पड़ता है। स्टाफिलोकोकल संक्रमण को खत्म करने के लिए नसों में एंटीबायटिक दवाओं को देने की आवश्यकता होती है। इस रोग के उपचार के लिए फ्लोक्लोक्सिसलीन, पेनेसिलिनेस तथा स्टैफलोकोकल जैसे एंटीबायटिक दी जाती हैं। समय बीतने के बाद दवाओं को बदला जा सकता है। रोगी की स्थिति में सुधार होने पर चिकित्‍सक मरीज को छुट्टी दे सकता है, लेकिन घर पर भी उपचार जारी रहता है।

 

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम के अन्य उपचार

- पैरासिटामोल जब बुखार और दर्द के लिए जरूरी हो तो
- तरल और इलेक्ट्रोलाइट मात्रा को बनाए रखें।
- त्‍वचा नाजुक होने पर देखभाल

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम के लक्षण भयानक होते हैं। फिर भी यदि इस प्रकार के रोगी को शुरूआत में ही सही चिकित्‍सा मिल जाये तो यह 5 से 7 दिन के अंदर ठीक हो जाता है।

 

स्केलडेड स्किन सिंड्रोम में की जाने वाली जांच

इसमें जांचकर्ता डॉक्टर शारीरिक परीक्षा कर त्वचा की जांच करता है। यह जांच समय लेती है क्‍योंकि इसमें त्वचा बहुत नाजुक हो जाती है और मामूली रगड़ लगने पर छिल सकती है।

इस जांच में शामिल हैं-
- पूर्ण रक्‍त गणना (सीबीसी)
- त्वचा और गले के कल्चर
- इलेक्ट्रोलाइट परीक्षण
- त्वचा बॉयोप्‍सी (दुर्लभ मामलों में)

 

Read More Article On Beauty And Personal Care In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES10 Votes 3241 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर