नियमित व्‍यायाम और संतुलित आहार के जरिये नियंत्रित करें उच्‍च रक्‍तचाप

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 27, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शोध के मुताबिक विश्‍व के लगभग 26% लोग है इसकी चपेट में।
  • अमेरिका में 15% लोगों की मौत का कारण हाई ब्‍ल्‍ड प्रेशर है।
  • इस पर नियंत्रण पाने के लिए संतुलित आहार का सेवन है जरूरी।
  • व्‍यायाम और योग नियमित करने से सामान्‍य रहता है रक्‍तचाप।

आजकल की लाइफस्‍टाइल का सबसे बुरा असर रक्‍तचाप पर पड़ा है और इसकी वजह से इसके मरीजों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है। यह बीमारी धीरे-धीरे कब शरीर में अपना घर बना लेता है, इसकी भनक तक नहीं लगती। आजकल लगभग हर घर एक व्‍यक्ति में इसकी शिकायत देखने को मिल रही है।

Treatments of High Blood Pressureहाई ब्लड प्रेशर के मरीजों की बढ़ती संख्‍या को देखते हुए विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्‍ल्‍यूएचओ ने इसे सार्वभौमिक स्वास्थ्य समस्या माना है। उच्‍च रक्‍तचाप का असर रोगों में बढ़ोतरी के साथ-साथ गुर्दे खराब होने, अपंगता और मृत्यु तक के रूप में देखने को मिल रहा है। एक शोध के मुताबिक दुनिया के लगभग 26% लोग इसकी चपेट में हैं, वहीं हावर्ड के शोध के अनुसार अमेरिका में लगभग 15% लोगों की मौत का कारण उच्‍च रक्‍तचाप की वजह से होती है।

 

क्‍या है उच्‍च रक्‍तचाप

दिल, धमनियों के जरिये पूरे शरीर में खून का संचार करता है। उच्‍च रक्‍तचाप का मुख्‍य कारण धमनियों की दीवारों का अपने सामान्य आकार से मोटा और संकुचित हो जाने से है। इसके कारण ही बॉडी में रक्त संचार अपनी स्‍वाभाविक गति से नहीं हो पाता और दिल को खून पंप करने के लिए ज्‍यादा मेहनत करनी पड़ती है। जब रक्त दिल अथवा दिमाग तक सही ढंग से नहीं पहुंच पाता तो दिल का दौरा पड़ने की संभावना बढ़ जाती है। इसी कारण उच्च रक्तचाप वाले व्यक्ति को सलाह दी जाती है कि वो नियमित रूप से अपने डॉक्टर से अपनी जांच करवाए।

उच्‍च रक्‍तचाप की चिकित्‍सा

 

डायट चार्ट के द्वारा

रक्‍तचाप को बढ़ाने में खाद्य पदार्थ बहुत महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इसलिए हमें अपने भोजन में उन पोषक तत्वों को शामिल करना चहिए जो रक्त संचार को नियंत्रण में रखें। अपने आहार में ताजे फल, हरी सब्जियां, साबुत अनाज और कम वसा और कोलेस्ट्रॉल वाले डेयरी उत्पाद शामिल करने चाहिए। अपनी डायट में प्रोटीन की पर्याप्त मात्रा जरूर रखें। रेड मीट, मिठाइयां और शुगरयुक्त पेय पदार्थ का सेवन कम करें।

 

कैल्शियम और पोटैशियम

हाई ब्‍लड प्रेशर के मरीजों को उच्च कैल्शियम और पोटैशियम वाली डाइट लेनी चाहिए। इसके लिए अपने आहार में ताजे फल और सब्जियों को शामिल करें, कम वसा वाले आहार लें। कैल्शियम और पोटैशियम युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करनेसे हाइपरटेंशन नियंत्रित रहता है। इसमें शकरकंद, टमाटर, संतरे का रस, केला, राजमा, मटर, शहद और सूखे मेवे व किशमिश आदि शामिल हैं।

 

नियमित व्‍यायाम करें

उच्‍च रक्‍तचाप को नियंत्रित करने के लिए नियमित व्‍यायाम बहुत जरूरी है। रोज 30 से 60 मिनट तक व्‍यायाम करने से रक्‍तचाप नियंत्रण में रहता है। जॉगिंग, साइकिलिंग आदि कर सकते हैं। तेज गति से चलने से भी ब्‍लड प्रेशर को कम रखने में मदद मिलती है। तेज चलने से हमारा दिल ऑक्‍सीजन का सही तरीके से इस्‍तेमाल कर पाता है। इसके अलावा आप योग भी कर सकते हैं। योगासन को योगगुरू के सामने ही करें। एक सप्‍ताह में कम से कम पांच दिन कार्डियो एक्‍सरसाइज करना चाहिए।

 

कम नमक खायें

अक्‍सर यह देखने को मिलता है कि उच्‍च रक्‍तचाप वाले लोग सोडियम यानी नमक के प्रति संवेदनशील होते हैं। पर यह जानने की बजाय कि व्यक्ति नमक के प्रति संवेदनशील है या नहीं, हर पीड़ित को नमक की मात्रा का सीमित उपयोग करना चाहिए। दिनभर में 5 ग्राम से अधिक नमक का सेवन न करें। नमक के अधिक सेवन से ब्‍लड प्रेशर बढ़ सकता है।

 

कैफीन को ना

कैफीनयुक्‍त पदार्थों का सेवन करने से ब्‍लड प्रेशर बढ़ जाता है। इसलिए कॉफी का सेवन करने से परहेज करें। कॉफी की बजाय आप ग्रीन या हर्बल टी पी सकते हैं। यह रक्‍चाप को सामान्‍य रखता है। गुड़हल का काढ़ा भी फायदेमंद होता है।

 

धूम्रपान और एल्‍कोहल

यदि आप उच्‍च रक्‍तचाप को काबू करना चाहते हैं तो धू्म्रपान, तंबाकू और एल्‍कोहल का सेवन बिलकुल न करें। बीड़ी, सिगरेट में मौजूद तंबाकू रक्त वाहनियों को स्थायी रूप से संकुचित करता है, जिससे धमनियों पर खून का दबाव बढ़ जाता है। इसी तरह एल्कोहल का अधिक सेवन ब्लड प्रेशर को बढ़ाता है। इसलिए इन पदार्थों से दूर रहें।


उच्‍च रक्‍तचाप के मरीजों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है। इसलिए नियमित रूप से ब्‍लड प्रेशर की जांच कराते रहें। यदि आपको इससे संबंधित कोई समस्‍या होती है तो चिकित्‍सक से अवश्‍य सलाह लें।

 

Read More Articles On High Blood Pressure In Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES22 Votes 13155 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर