इस जूस के सेवन से नहीं आएगी पसीने की बदबू

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 13, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्मी में ज्यादातर हो जाती पसीने की बदबू की समस्या।
  • सेब, पत्तागोभी और सेलरी का जूस पीने से होगा फायदा।
  • ये सारी सामग्री शरीर के पीएच को करती है संतुलन।
  • गर्मी में मौसम मे रखे शरीर की उचित साफ सफाई।

गर्मी में पसीना आना एक स्वाभाविक व जरूरी क्रिया होती है पर पसीने की बदबू आपको कई बार शर्मिंदा कर देती है। पसीना पसीने की ग्रंथिओं से तब रिलीज होता है जब बॉडी गर्म हो जाती है। जब ये ग्रंथियां त्वचा पर पानी की बूंदें छोड़ती है और यह नमी भाप बनकर उड़ जाती है तो शरीर के ताप में कुछ कमी आती है। आपकी जानकारी के लिए बता दे कि पसीने की अपनी कोई गंध नहीं होती है, बल्कि जब पसीना शरीर के बैक्टीरिया से मिल जाता है तब उसमें बदबू आने लगती है। शरीर की अच्छी तरह सफाई न होने पर स्वेद छिद्रों के बंद हो जाने से तथा धूल के साथ त्वचा पर जमे जीवाणुओं के गतिशील होने से पसीने में विकार और बदबू पैदा हो जाती है।अगर आप पसीने की बदबू से छुटकारा चाहते है को सेब, अजवाइन और पत्तागोभी के बने ग्रीन जूस के सेवन करें।

  • एक सेब, कुछ अजवाइऩ के पत्ते, थोड़ी सी पत्तागोभी, 1/2 इंच अदरक का टुकड़ा और एक कटा हुआ नींबू लें। इसका जूस बनाना बहुत ही आसान होता है। सारी सामग्री को अच्छे से धोकर साफ करें। फिर सभी को ब्लेंडर में डालकर पीस लें।
  • जब जूस खुरदुरा सा लगने लगे तो एक गिलास में डालकर रोजाना सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। पहले इस जूस तो थोड़ी मात्रा में लेना शुरू करें। अगर ये आपके शरीर में कोई दिक्कत नहीं करता है तो आप इसे रोजाना पी सकते है। इस जूस को 48 घंटे से ज्यादा के लिए स्टोर ना करें। इसका प्रभाव खत्म हो जाता है।
  • ग्रीन जूस में शामिल सभी सामग्री त्वचा में पीएच संतुलन को बनाए रखती है। साथ ही इसके एंटीबैक्टीरियल व एंटी ऑडर प्रॉपर्टीज बैक्टीरिया को शरीर मे पनपने नहीं देती जिससे बदबू आने की संभावना कम हो जाती है।
  • सेब में साइट्रिक एसिड होता है, जो नेचर में एसिडिक है, जिस वजह से ये बैक्टीरिया को फैलने से रोकने में सहायक है। इतना ही नहीं ये अत्यधिक पसीने के कारण बैक्टीरियल या फंगल संक्रमण को फैलने से रोकता है। बैक्टीरिया को नष्ट करने के लिए नींबू भी बेहद कारगर है।
  • सेलरी के बीज यानी अजवाइन के सेवन से बॉडी डिटोक्स (शरीर की भीतरी सफाई) से शरीर की गंध कम करने में मदद होगी तथा आपको ताजी महक का एहसास होगा। विटामिन के, ए और सी से भरपूर होने के साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट की भी अच्छी मात्रा होती है।
  • कम पानी पीने से आपके पसीने में बदबू ज्यादा आती है। आपको बता दें पसीने की बदबू से निजात पाना है तो दिन भर में कम से कम आठ गिलास पानी पिएं। पानी पेट में मौजूद टॉक्सिन को बाहर कर गैस विकार में भी राहत देता है।


पसीने से बैक्टीरिया होने का डर है, इसलिए पसीना आने वाली जगहों को हमेशा साफ रखें। शरीर का अंग पसीने की वजह से लगातार गीला रहने के कारण उनमें बैक्टीरिया पनपने लगता हैं, जिसकी वजह से बदबू आने लगती है। तंग कपड़े पहनने से शरीर से अधिक पसीना आता है। इसलिए अधिक तंग कपड़े न पहनें। कड़ी धूप में जाने से बचें।ढीले और सूती कपड़े पहनें।

 

Image Source-Getty

Read More Article on Healthy Living in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES21 Votes 4081 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर