हाथों को टोंड करने में मददगार 5 योगासन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 24, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • भुजंगासन करने से मांसपेशियों मजबूत व शरीर लचीला बनाता है।
  • धनुरासन शरीर से अतिरिक्त चर्बी कम करने में कारगर होता है।
  • गरुणासन से शरीर का संतुलन बेहतर होता है व लचीलापन आता है।
  • बेहतर परिणाम के लिये आसनों को सही तरह करना जरूरी होता है।

आलस्य भरी जीवनशैली और अनियमित खान-पान के चलते अतिरिक्त शरीर पर घर कर लेती है। बाजुओं पर भी पर ये चर्बी जमा हो जाती है। हालांकि बाजुओं की चर्बी कम करना कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है और न ही आपको इसके लिये जिम में भारी-भारी डम्बल ही उठाने की ही जरूरत है। कुछ योगासनों की मदद से भी आप बाजुओं की चर्बी को कम कर सकते हैं। योग करने से न सिर्फ आपके हाथों की चर्बी कम होगी बल्कि आप फिट भी रहेगे और आपका संपूर्ण स्वास्थ्य बेहतर होगा। तो चलिये जानें बाजुओं से चर्बी कम करने वाले कुछ योगासन और इन्हें करने की सही विधि।

भुजंगासन

भुजंगासन करने से मांसपेशियों मजबूत होती हैं, और यह शरीर को लचीला बनाता है। इस आसन से न सिर्फ बाजुओं से अतिरिक्त चर्बी दूर होती है बल्कि पूरे शरीर से फैट कम होता है और शरीर चुस्त दुरस्त बनता है।


Tone Your Arms in Hindi


करने की विधि

भुजंग को इंग्लिश भाषा में कोबरा कहा जाता है। ऐसा इसलिये कयोंकि यह दिखने में फन फैलाए सांप जैसा प्रतीत होता है। और इसी कारण से इसका नाम भुजंगासन रखा गया है। भुजंगासन करने के लिए पेट के बल जमीन पर लेट जाएं और फिर दोनों हाथों के बल पर शरीर के कमर से ऊपर के भाग को  ऊपर की तरफ उठाएं, लेकिन ध्यान रहे कि इस समय आपकी कोहनी मुड़ी होनी चाहिए और हथेली खुली और जमीन पर फैली हो। इसके बाद शरीर के बाकी हिस्से को बिना ज्यादा हिलाए-डुलाए चेहरे को ऊपर की ओर लाएं। कुछ समय के लिए इस स्थिति में रहें और सांस छोड़ते हुए वापस आ जाएं।

धनुरासन

यह आसन बाजुओं के साथ-साथ पूरे शरीर से अतिरिक्त चर्बी काटने में कारगर होता है। इससे आपके शरीर में लचीलापन भी आता है और उन्हें मजबूत बनता है।

करने की विधि

धनुरासन करने के लिये सबसे पहले ठुड्डी को जमीन पर रखें, पैरों को घुटनों से मोड़ें और दोनों हाथों से पैरों के पंजों को पकड़ लें। इसके बाद सांस भीतर भरें और बाजू सीधे रखते हुए सिर, कंधे व छाती को जमीन से ऊपर को उठाएं। इस स्थिति में सांस को सामान्य रखें और चार से पांच सेकेंड के बाद सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे पहले छाती, कंधे और फिर ठुड्डी को जमीन की ओर लाएं। अब पंजों को छोड़ें और कुछ देर आराम करें। इस प्रक्रिया को कम से कम तीन से पांच बार दोहराएं।

गरुणासन

गरुणासन के नियमित अभ्यास से न सिर्फ बाजुओं की मांसपेशियां मजबूत होती हैं बल्कि शरीर का संतुलन बेहतर होने के साथ लचीलापन भी आता है।

करने की विधि

सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं, और फिर दाएं घुटने को मोड़ें और दाहिनी जांघ पर बाईं जांघ को रखें। अब बाएं पैर को दाएं पैर पर पूरी तरह आधारित करें ताकि बाएं पैर का अंगूठा दाएं पैर के पिछले हिस्से को छने लगे। इसके बाद दांई कोहनी को बाईं कोहनी पर रखकर हथेलियों को नमस्कार की मुद्रा में  ले आएं। अब बाजुओं और कंधों को सीधा रखें, घुटनों को ज्यादा मुड़ने न दें। ध्यान रखें कि पूरी प्रक्रिया के दौरान सामान्य रूप से सांस लेते रहें। और फिर सिर, कंधों और कमर को एक सीध में रखते हुए सांस को भीतर खींचें। कुछ क्षण के बाद सांस छोड़ते हुए धीरे-धीरे सामान्य अवस्था आ जाएं। अब इस प्रक्रिया को बायां घुटना मोड़ते हुए दोबारा करें।

 

Tone Your Arms in Hindi

 

बालासन  

बालासन के नियमित सही तरह से अभ्यास करने से शरीर की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं, बाजुओं व शरीर से अतिरिक्त चर्बी दूर होती है और होती है और शरीर स्वस्थ बनता है।

करने की विधि

बालासन को करने के लिए सबसे पहले घुटने के बल जमीन पर बैठ जाएं और शरीर का सारा भार एड़ियों पर डाल दें। अब गहरी सांस भरते हुए आगे की ओर झुकें। ध्यान रहे कि आपका सीना जांघों से छूना चाहिए। फिर अपने माथे से फर्श को छूने की कोशिश करें। कुछ सेकंड तक इस स्थिति में रहने के बबाद वापस सामान्‍य अवस्‍था में आ जायें।

त्रिकोणासन  

त्रिकोणासन करने के लिए सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं, दोनों पैरों में लगभग एक मीटर की दूरी पर रखें, फिर दोनों बाजुओं को कंधे की सीध में लाएं और कमर से आगे झुकें, और सांस को बाहर छोड़ें। इसके बाद दाएं हाथ से बाएं पैर को छुएं व बाईं हथेली को आसमान की ओर रखें। इस दौरान बाजू सीधी रखें और बाईं हथेली की तरफ देखें, इस अवस्था में दो-तीन सेकेंड तक रहें। इसके बाद शरीर को सीधा कर लें और सांस भरते हुए खड़ें हो जायें।


बेहतर होगा कि आप इन आसनों को करने के लिये पहले किसी योग एक्सपर्ट से एक बार सही दिशा निर्देश ले लें। इससे आप सही तरह से आसन कर पाएंगे और आपको बेहतर परिणामों की प्राप्ति होगी।  


Read More Articles On Exercise & Fitness in Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES21 Votes 2555 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर