गर्भावस्था की तैयारी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 08, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भधारण की योजना बनाने के छह महीने पहले डॉक्टर से मिलें।
  • शरीर की जांच करवाएं की वो बच्चे के लिए तैयार है कि नहीं।
  • व्यायाम करे जिससे जोड़ों और मांसपेशियों को ताकत मिले।
  • जंक फूड छोड़ें और वास्तविक पोषक तत्व लेना शुरू करें।

 

कहा जाता है कि एक महिला तभी पूरी होती है जब वो मां बनती है। लेकिन मां बनना एक बहुत बड़ी प्रक्रिया है। इसमें शारीरिक रुप से तैयार होना काफी जरूरी है तभी बच्चा स्वस्थ पैदा होता है। गर्भावस्था के लिए तैयार होना मतलब शरीर को छह महीने पहले तैयार करना।

Pregnancy
मेडीकल जांच करवाएं

जिस समय गर्भधारण की योजना बना रहे हैं उससे छह महीने पहले डॉक्टर से मिलें। डॉक्टर आपको शारीरिक तौर पर तैयार होने से संबंधित सारी जरूरी चीजें समझा देंगे। इस मेडीकल जांच से पता चल जाएगा की कहीं कोई ऐसी समस्या तो नहीं है जो आपके शरीर या होनेवाले बच्चे को गर्भावस्था के दौरान तकलीफ पहुंचा सकती है। अपने डॉक्टर को आुवांशिक या ऐसी किसी गंभीर बीमारी के बारे में बताएं जो आपको पहले कभी हुई हो। इस समय आपके पार्टनर का स्वास्थ्य भी बहुत महत्वपूर्ण है। इसलिए उनकी भी जांच करवाएं ताकि उनके स्वास्थ्य के बारे में भी पता चल सके। डॉक्टर की सलाह मानें। क्योंकि उन्हें मालुम है कि आपके लिए क्या जरूरी है।


पसीना बहाएं

यदि व्यायाम शब्द आपके शब्दकोष में नहीं है तो उसे अपने शब्दकोष में शामिल करने का समय आ गया है। नियमित व्यायाम करना शुरू करें। इससे शरीर की मांसपेसियों और जोड़ों को अतिरिक्त भार सहने की आदत हो जाएगी, जो आप अगले कुछ महीनों में प्राप्त करने वाले हैं। बहुत ज्यादा वजन और गर्भाधारण की कोशिश? गर्भाधारण से पहले वजन कम करने की कोशिश करें। अध्ययन बताते हैं कि अधिक वजन वाली महिलाओं को गर्भधारण के दौरान कई सारी जटिलताओं का सामना करना पड़ता है। धीरे-धीरे व्यायाम की आदत डालें और शुरूआत हल्के व्यायाम से करें।
धीरे-धीरे समय और श्रम बढ़ाएं। यह आपकी ताकत और ऊर्जा में वृद्धि करेगा, जिसकी आपको गर्भावस्था के दौरान जरूरत होगी। अपने व्यायाम में योगसनों को शामिल करें। यह आपके शरीर को ताकत देगा साथ ही गर्भवस्था के लिए शरीर को लचीला बनाएगा।

स्वास्थ्यकार भोजन

पुरानी कहावत याद करें। आप वही खाते हैं जो आप खाते हैं। ऐसे ही आपका शिशु भी वही खाता है जो आप खाते हैं। तो समय आ गया है जंक फुड छोड़ने का और हेल्दी डाइट लेने का। संतुलित आहार लें जिसमें अलग-अलग प्रकार की सामग्रियां शामिल हों। जिससे शरीर को सारे कैल्शियम और विटामिन मिल सके। हानिकारक चीजों जसे सिगरेट, शराब आदि हानिकारक चीजों से दूर रहें।

दांतों की देखभाल

गर्भधारण करने से पहले दांतों की तरफ ध्यान देना शुरू कर दें। क्योंकि गर्भावस्था के दौरान दांतो पर सबसे ज्यादा असर होता है। गर्भावस्था के दौरान दांतो के एक्स-रे से बचें क्योंकि इससे शिशु का स्वास्थ्य भी प्रभावित होता है।

गर्भधारण

अगर आप गर्भनिरोधक गोलियां लेती हैं तो इसे छोड़ने के दो-तीन महीने बाद गर्भधारण की योजना बनाएं, ताकि तब तक पीरियड्स नियमित हो जाएं। इससे आफके निश्चित दिन की गणना ज्यादा सही हो पाएगी। 





Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES21 Votes 47208 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर