जानें क्या है मौखिक गर्भनिरोधक प्रोजेस्टोजन

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 11, 2016
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मौखिक गर्भनिरोधक प्रोजेस्टोजन ओन्‍ली पिल्‍स हैं।
  • प्रोजेस्टोजन ओन्‍ली को मिनी पिल्स भी कहते हैं।
  • ये अन्य गर्भनिरोधक गोलियों से अलग होती हैं।
  • ये अण्डकोश को अण्ड विसर्जन करने से रोकता है।

आम तौर पर संभोग के दौरान कंडोम का इस्तेमाल नहीं करने से महिलाओं को गर्भनिरोधक गोलियां खानी पड़ती हैं। इन गर्भनिरोधक गोलियों का महिलाओं के स्वास्थ्य पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है। ऐसे में महिलाएं मौखिक गर्भनिरोधक का इस्तेमाल कर सकती हैं।

मौखिक गर्भनिरोधक प्रोजेस्टोजन ओनली या प्रोजेस्टिन ओनली पिल्स (पीओपी) होती है जिसमें केवल सिन्थेटिक होता है व ओएस्‍टोजन नहीं होता। इन्हें मिनी पिल्स भी कहते हैं।

पिल

 

इस तरह से काम करता है पीओपी

प्रोजेस्टोजन ओनली पिल्स में तीन चीजें होती हैं जिनके आधार पर ये काम करता है। इसके काम के ही कारण ये अन्य गर्भनिरोधक गोलियों की तुलना में सुरक्षित माना जाता है।

  1. सबसे पहला कि ये गर्भनिरोधक, सामान्य गर्भनिरोधक की तरह ही होता है। ये मिनी पिल्स आपके शरीर को यह एहसास होने देते हैं कि आप गर्भवती हैं और आप के अण्डकोश को अण्ड विसर्जन से रोकता है।
  2. फिर इसका दूसरा काम होता है कोख में बदलाव लाने का। ये मिनी पिल्स आपकी कोख (जहां बच्चा पनपता  है) में बदलाव ले आता है और यदि अण्ड अण्कोश से निकल भी जाता है तो उसे गर्भाशय में गर्भ धारण करने नहीं देता।
  3. इस पिल्स का तीसरा काम म्यूकस को गाढ़ा करने का होता है। ये पिल्स अण्डकोश और योनि के बीच के म्युकस को गाढा कर देते हैं। ऐसे में (गर्भाशय के बाहर आने के लिए योनि एक द्वार है) गाढे म्युकस के कारण वीर्य को अण्डे तक पहुंचने में काफी कठिनाई होती है।

 

इस पिल्स के फायदे

प्रोजेस्टोजन ओनली पिल्स को आम गर्भ निरोधक गोलियों से बेहतर होती हैं।

  • ब्रेस्टफीडिंग करा रही महिलाओं के लिए काफी फायदेमंद है। क्योंकि स्तनपान करवाने वाली महिलाओं में दूध बनने की प्रक्रिया को बदलता नहीं।
  • किसी तरह के साइडइफेक्ट नहीं होता। आम गर्भनिरोधक गोलियां 35 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को सूट नहीं करता।
  • जो महिलाएं धूम्रपान करती हैं उनके लिए या काफी फायदेमंद है। दरअसल आम गर्भनिरोधक गोलियां शरीर का काफी पानी ऑब्जर्व कर लेती हैं। ऐसे में ध्रूमपान करने वाली महिलाओं को काफी दिक्कत होती है। जबकि ये गर्भनिरोधक गोली ऐसा नहीं करती।


इसी तरह,

  • जिन्हें उच्च रक्तचाप की समस्या रहती है।
  • जिनका वजन काफी अधिक होता है।
  • रक्त के थक्के बनते हों तो यह काफी फायदेमंद है।

 

लेकिन ऐसी महिलाएं मिनी पिल्स ना लें जो-

  • जिन्होंने असामान्य तरीके से गर्भधारण किया हो। खासकर जिनका भ्रूण गर्भाशय से बाहर हो।
  • जिस किसी महिला को रक्तवाहिकाओं का कोई तीव्र रोग हो।
  • जिनको स्तन कैंसर हो।
  • अगर बहुत अधिक योनि से रक्तस्राव हो रहा हो। ऐसे में प्रोजेस्टीन ओनली ना लें।


कैसे लें मिनी पिल्स

पीओपी के हर पैकेट में 28 पिल्स होते हैं। प्रत्येक पिल में हॉरमोन होते हैं। इन पिल्स को रक्त स्राव के पांचवे दिने से ही लेना शुरू कर दें। हालांकि,  अगर आप पक्की तरह जानती हैं कि आपने गर्भधारण  नहीं किया तो पीरियड चक्र में किसी भी समय शुरू किया जा सकता है।

 

Read more articles on Contraceptive in Hindi.

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES17 Votes 5808 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर