बच्चों के बालों की देखभाल के लिए अपनाएं ये टिप्स

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 13, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • रखरखाव के साथ-साथ हेल्‍दी डाइट चार्ट की आवश्‍यकता है।
  • बच्‍चों के बालों को समय-समय पर कटाना चाहिए।
  • बालों में जमा धूल-मिट्टी और प्रदूषण बालों को उलझा देते हैं।

बच्‍चों के बाल लंबे, सीधे, पतले, घुंघराले, छोटे या फिर मोटे जैसे भी हैं उनको स्‍वस्‍थ रखने के लिए रखरखाव के साथ-साथ हेल्‍दी डाइट चार्ट की आवश्‍यकता है। चूंकि बच्‍चे अपने बालों की देखभाल नही कर सकते हैं, इसलिए पैरेंट्स को बच्‍चों के बालों को लेकर सजग रहना चाहिए। बच्‍चों के बालों को संवारने के लिए नियमित रूप से उनको साफ कीजिए। चूंकि बच्‍चों के बाल मुलायम होते हैं इसलिए ऐसा कंडीशनर और शैंपू का प्रयोग कीजिए जो कठोर न हों। अगर बचपन में बालों की देखभाल ठीक से न की जाये तो जिंदगी भर के लिए समस्‍या हो सकती है। आइए हम आपके बच्‍चों की बालों के देखभाल के टिप्‍स बताते हैं।

hair care in hindi

[इसे भी पढ़ें : हेयर केयर से जुड़े भ्रम और तथ्‍य]

 

बच्‍चों के बालों की देखभाल के तरीके -

हेयर कटिंग -

बच्‍चों के बाल कटवाना बहुत मुश्किल काम है, क्‍योंकि वे बाल कटाने के लिए तैयार नही होते हैं। लेकिन बच्‍चों के बाल समय-समय पर कटाना चाहिए। छोटे बालों की देखभाल करने में आसानी होती है और वे उलझते भी नही। अगर बच्‍चा बाल न कटाने की जिद कर रहा हो तो उसे बच्‍चों के सैलून में ले जाइए। यदि बच्‍चा किसी अजनबी से बाल कटाने के लिए तैयार न हो रहा हो तो घर पर खुद से बच्‍चों के बाल काट दीजिए।

 

बालों की उलझन -

बच्‍चे ज्‍यादातर बाहर खेलते हैं जिसके कारण बालों में जमा धूल-मिट्टी और प्रदूषण बालों को उलझा देते हैं। इसलिए बालों को शैंपू करने से पहले एक बार कंघी जरूर कीजिए, इससे बालों की उलझन दूर होगी और धुलते समय बाल गिरेंगे भी नहीं। यदि कंघी से बालों की उलझन खतम न हो रही हो तो स्‍प्रे का प्रयोग कीजिए।


शैंपू और कंडीशनर -

नियमित रूप से बच्‍चों के बालों को शैंपू कीजिए। इसके लिए माइल्‍ड शैंपू का प्रयोग कीजिए जो कि आंखों को नुकसान ना पहुंचाये। शैंपू आराम बच्‍चे के सिर पर लगाइए, इसके लिए अपनी उंगलियों का प्रयोग कीजिए ताकि शैंपू पूरे बालों में अच्‍छे से लग जाये। यादि आपके बच्‍चे के बाल लंबे हैं तो कंडीशनर का प्रयोग कीजिए। शैंपू करने के बाद बालों को अच्‍छी तरह सुखा दीजिए।

[इसे भी पढ़ें : ताकि मुस्‍कराते रहें आपके बाल]

 

शैंपू के बाद -

शैंपू करने से आपके बच्‍चे के बाल गीले हो जाते हैं और अगर गीले बालों पर कंघी की जाये तो वह टूटने लगते हैं। आमतौर पर घुंघराले बालों को में टूटने की समस्‍या ज्‍याद होती है। इसलिए बालों को धुलने के बाद सुखाना जरूरी है। अपने बच्‍चे को भी इसकी जानकारी दीजिए और उसे बालों को सुखाने का तरीका भी बताइए। बालों को सुखाने के लिए हेयर ड्रायर का प्रयोग कम कीजिए, मुलायम तौलिये का प्रयोग इसके लिए अच्‍छा रहेगा।


कंघा करना -

उलझे बालों को सुलझाने के लिए कंघी या फिर हेयर ब्रश का प्रयोग कीजिए। गीले बालों पर कंघी न करें, बालों को अच्‍छे से सुखाने के बाद ही उनपर कंघी कीजिए। नियमित रूप से बालों में कंघी कीजिए, कंघी नही करने से बाल उलझ जायेंगे जो बालों के गिरने का कारण बनेंगे।


हेयर एसेसरीज -

बालों को बांधने के लिए आप क्लिप और टाई का प्रयोग करते हैं। ध्‍यान रहे कि आप जो क्लिप प्रयोग कर रहे हैं वह नुकीला न हो, नही तो वह आपके बच्‍चे के सिर पर नुकसान पहुंचा सकता है। हमेश अच्‍छी गुणवत्‍ता के ब्रश और कंघी का ही प्रयोग कीजिए।


बच्‍चों के बाल बहुत कोमल होते हैं, इसलिए जैसे-जैसे बच्‍चों के बाल उगते जायें आप उनकी नियमित देखभाल कीजिए। यदि आपको बच्‍चों के बालों की देखरेख में समस्‍या हो रही है तो चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क कीजिए।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty

Read More Articles on Hair-care in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES26 Votes 14665 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर