हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

तीन मिनट का योग बनाये आपको फिट

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 24, 2014
4.8 / 5(4 Ratings)
Quick Bites

  • योग पुरातन भारतीय पद्धति है जो आपको रखती है फिट।
  • रोजाना बस कुछ देर योग से रह सकते हैं फिट।
  • घर, दफ्तर और सफर में लिया जा सकता है इसका लाभ।
  • स्‍ट्रेचिंग से दूर होती है मांसपेशियों की अकड़न।

More
Related Articles
  • तीन गुना से अधिक लाभदायक है त्रिकोणासनतीन गुना से अधिक लाभदायक है त्रिकोणासन

    शरीर का बाह्य रूप से ही नहीं भीतरी रूप से भी ठोस होना मौजूदा जीवनशैली की जरूरत है, ऐसे में सिर्फ खानपान पर आश्रित रहना सही नहीं है, जरूरत इससे कुछ ज्यादा की, त्रिकोणासन इसमें हमारी मदद कर सकता है, इसे करने के तरीके और इसके फायदे के बारे में जानें।

    read more
  • रोजाना दस मिनट का व्‍यायाम फिटनेस को बनाये आसानरोजाना दस मिनट का व्‍यायाम फिटनेस को बनाये आसान

    आपके पास रोजाना व्‍यायाम के लिए 30 से 40 मिनट नहीं है तो घबराने की जरूरत नहीं, यूनिवर्सिटी ऑफ वर्जीनिया द्वारा किये गये शोध में यह बात सामने आयी कि फिट रहने के लिए केवल 10 मिनट का व्‍यायाम ही पर्याप्‍त है।

    read more
4.8 / 5(4 Ratings)
Write a Review
प्रतिक्रिया दें
Disclaimer +
इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।
टिप्पणियाँ
  • Vibhuti27 Mar 2014
    अच्‍छा काम अगर कम वक्‍त भी किया जाए, तो उसका फायदा होता है। योग इसका उदाहरण है। आपने सही कहा कि रोज केवल तीन मिनट ही योग कर लिया जाए, तो हमारा पूरा दिन अच्‍छा गुजरता है। लेकिन, अपनी सेहत के प्रति इतने लापरवाह हो गए हैं, कि हमें ये तीन मिनट निकालने भी मुश्किल लगते हैं। अब अच्‍छी सेहत और सुखी जीवन के लिए तीन मिनट भी नहीं निकाल सकते, तो फिर दूसरों को दोष देने का कोई लाभ नहीं।