अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के लिए अपनायें लेजर हेयर रिमूवर तकनीक

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Sep 13, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • अनचाहे बाल स्‍थायी तौर पर हट जाते हैं लेजर हेयर रिमूवर से।
  • टैन्‍ड त्‍वचा पर ठीक तरह से काम नहीं करता लेजर उपचार।  
  • लेजर हेयर तकनीक डर्मोटोलॉजिस्‍ट की निगरानी में ही करायें।
  • शरीर के हर अंग के बाल हटाए जा सकते है लेजर हेयर रिमूवर से।

लेजर हेयर रिमूवर का प्रयोग करती युवती महिलाओं की खूबसूरती में दाग की तरह होते हैं अनचाहे बाल। इसे हटाने के लिए महिलायें वैक्सिंग, ब्‍लीचिंग, इलैक्‍ट्रोलिसिस, हेयर रिमूवर क्रीम, शेविंग, थ्रेडिंग और ट्वीजिंग का सहारा लेती हैं। इनके जरिए अनचाहे बाल आसानी से हट जाते हैं।

अनचाहे बालों के हटाने के लिए तकनीकों के अलावा लेजर हेयर रिमूवर का भी प्रयोग किया जाता है। इस तकनीक से अनचाहे स्थायी तौर पर हट जाते हैं। लेजर से बालों को हमेशा के लिए जड़ से समाप्‍त कर दिया जाता है। इसमें लगभग सात से आठ सिटिंग्स लगती हैं। लेजर की किरणों को बालों की जड़ पर केंद्रित किया जाता है, जिससे बाल नष्ट हो जाते हैं। लेकिन इससे जुड़ी कई बातें हैं जिनके बारे में आप नही जानते, आइए हम आपको उन बातों के बारे में बताते हैं।


ले‍जर हेयर रिमूवर से जुड़ी कुछ जरूरी बातें

  • लेजर हेयर रिमूवर से बालों को हटाने के बाद लोगों को लगता है कि इसके बाद दोबारा बाल नही उगेंगे, जबकि ऐसा नही है। यक कोई बालों को हटाने वला वनटाइम इलाज नही है। हालांकि इस विधि को अपनाने के बाद स्‍थायी तौर पर बाल हट जाते हैं। लेजर की किरणें बालों को जड़ों से हटाती हैं।
  • लेजर उपचार के दौरान यदि त्‍वचा टैन्‍ड है तो यह ठीक तरह से काम नही करता है, इसलिए टैन्‍ड त्‍वचा पर लेजर हेयर रिमूवर कराने की सलाह नही दी जाती है। यदि आप अनचाहे बालों को हटाना चाहते हैं तो पहले टैन्‍ड त्‍वचा का उपचार कीजिए। उसके बाद लेजर तकनीक से बालों को हटाइए।
  • जिन लोगों का रंग गहरा है, यह तकनीक उन लोगों के लिए भी ज्‍यादा प्रभावी नही होगी। लेजर तकनीक से बालों को हटाते वक्‍त किरणें केवल रंग को अपना निशाना बनाती हैं न कि बालों को, यदि आपकी त्‍वचा काले रंग की है तो आपके चेहरे पर घाव होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • लेजर हेयर रिमूवर केवल डर्मोटोलॉजिस्‍ट द्वारा किया जाता है। इसलिए जब भी लेजर हेयर तकनीक से बालों को रिमूव करायें डर्मोटोलॉजिस्‍ट की निगरानी में ही करायें।
  • लेजर तकनीक का प्रयोग करने से पहले उसके बारे में जानकारी लीजिए, यह जानने की कोशिश कीजिए कि आपकी त्‍वचा के हिसाब से यह उपयुक्‍त सर्जरी साबित होगी या नही। इस तकनीक के लिए कितने सत्र की जरूरत होगी। इस ट्रीटमेंट के बाद किस प्रकार के देखभाल की जरूरत होगी।
  • लेजर हेयर रिमूवर तकनीक बालों के विकास के दो सप्‍ताह बाद कराने की सलाह दी जाती है। क्‍योंकि बालों की अनुपस्थिति में यह तकनीक सही तरीके से काम नही कर पाती है। बालों के अभाव में हेयर फॉलिकल्‍स को ढूंढने में मुस्किल होती है।
  • लेजर हेयर रिमूवर कराने से पहले त्‍वचा की जांच करा लेना चाहिए। इस जांच से यह पता चल जायेगा कि यह तकनीक आपकी त्‍वचा के लिए उपयुक्‍त है या नही और इसके लिए आपको कितने सेशन की आवश्‍यकता है।
  • लेजर हेयर रिमूवर से शरीर के हर अंगों के बालों को हटाया जा सकता है। आप एक बार में शरीर के सभी हिस्‍से में लेजर तकनीक का प्रयोग कर सकते हैं।



अनचाहे बालों को स्‍थायी तौर पर हटाने के लिए यह बहुत अच्‍छी तकनीक है। लेकिन इस तकनीक के दुष्‍प्रभावों से बचने के लिए चिकित्‍सक की सलाह अवश्‍य लीजिए।

 

 

Read More Articles on Beauty Treatment and Surgery in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES46 Votes 10813 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर