आपकी त्‍वचा को नुकसान पहुंचा सकती हैं ये आदतें

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 26, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सही देखभाल और पर्याप्‍त पोषण से मिलती है स्‍वस्‍थ त्‍वचा।
  • गर्म पानी से आपकी त्‍वचा लाल व शुष्‍क हाने लगती है।
  • धूम्रपान करने से त्वचा पर असमय झुर्रियां आने लगती हैं।
  • सूरज की यूवी किरणें त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

सुंदर और चमकार त्वचा भला किसे आकर्षित नहीं करती? हालांकि आपकी त्‍वचा का स्‍वास्‍थ्‍य उसकी देखभाल और पोषण पर निर्भर करता है। सही देखभाल और पर्याप्‍त पोषण से आप चमकदार बनाने के साथ त्‍वचा की खोई चमक भी वापस पा सकते हैं। लेकिन रोजमर्रा के जीवन में आने वाली कई चीजें हमारी त्‍वचा को काफी नुकसान पहुंचा सकती है। आइए त्‍वचा के ऐसे ही कुछ दुश्‍मनों के बारे में इस आर्टिकल के माध्‍यम से जानें।

skin in hindi

गर्म शॉवर

लगभग हर किसी को गर्म पानी से नहाने से आराम महसूस होता है। लेकिन यह आपकी त्‍वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। खासकर आपके चेहरे की त्वचा बहुत नाजुक होती है और गर्म पानी के कारण इसकी कोशिकाएं कमजोर पड़ने लगती हैं। जिससे त्‍वचा लाल व शुष्‍क होने लगती है। इसलिए अगली बार जब भी आप में गर्म शॉवर लेने जायें तो अपने चेहरे का ध्‍यान रखें।


बार-बार कॉस्मेटिक्स बदलना

बार-बार सौंदर्य उत्‍पादों को बदलना आपकी त्‍वचा की सेहत के लिए अच्‍छा नहीं होता है। त्वचा की रंगत को उसकी पीएच वैल्यू को प्रभावित करती है। और जरूरी नहीं कि बार-बार अलग-अलग पीएच वैल्यू के उत्पाद के हिसाब से आपकी त्वचा एडजस्ट हो। इसके अलावा कई बार बार-बार अलग-अलग तरह के कॉस्मेटिक्स के इस्तेमाल से त्वचा पर रैशेज और पिंपल की समस्या बढ़ जाती है। बेहतर तरीका यह है कि आप अच्छी ब्रांड के उत्पाद लगाएं और हमेशा पीएच वैल्यू देखकर ही कॉस्मेटिक्स खरीदें। बार-बार कॉस्मेटिक्स बदलना समझदारी नहीं है।


सोते समय मेकअप लगाकर सोना

थकावट के कारण अक्‍सर हम मेकअप उतारे बिना ही सो जाते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि यह आपकी त्‍वचा को नुकसान पहुंचा सकता है। सोने से पहले मेकअप न उतारने से रोमछिद्र बंद हो जाते हैं, जो मुंहासों का कारण बनते हैं। धीरे-धीरे त्वचा बेजान और निस्तेज हो जाती है। इसलिए त्वचा की चमक को बनाये रखने के लिए हमेशा सोने से पहले मेकअप हटाना बहुत जरूरी होता है।

sleep with makeup in hindi


सनस्क्रीन का इस्‍तेमाल नहीं करना

लंबे समय तक धूप में रहने से सूरज की यूवी किरणें त्वचा को नुकसान पहुंचा सकती हैं। यह त्‍वचा में एजिंग और पिग्मेंटेशन का एक बडा कारण होता हैं। साथ ही यह त्वचा के कोलेजन को क्षति पहुंचाती हैं। और त्वचा के कैंसर तक का खतरा भी बढ जाता है। इसलिए हमेशा धूप में निकलने से पहले अपनी त्‍वचा अच्‍छी क्वालिटी का सनस्क्रीन लोशन लगाना कभी न भूलें।

 

होंठ काटना

यह सुनने में थोड़ा हास्‍यास्‍पद लग सकता है। लेकिन कुछ लोगों को अपने होंठ काटने की आदत होती है और यह आदत त्‍वचा से संबंधित होती है। न केवल यह होंठों को डिहाइड्रेट करती है, बल्कि इससे पूरे चेहरे की त्‍वचा को प्रभावित होती है।

 

धूम्रपान करना

धूम्रपान भी त्वचा को बहुत नुकसान पहुंचाता है। इसमें मौजूद निकोटिन रक्त धमनियों को पतला कर देता है। जिससे त्‍वचा तक भरपूर ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता। ऐसे में त्वचा को पुनर्जीवित करने की क्षमता खत्म हो जाती है। लंबे समय तक धूम्रपान करने से त्वचा पर असमय झुर्रियां नजर आने लगती हैं। इसलिए त्‍वचा को चमकदार बनाये रखने के लिए धूम्रपान से दूरी बहुत जरूरी है।

smoking in hindi

कील मुहांसों को दबाना

अक्‍सर मुंहासों के दिखने पर हम उसे दबा देते है। लेकिन ऐसा करने से बैक्‍टीरिया त्‍वचा के छिद्रों में चले जाते हैं, और संक्रमण पैदा कर त्‍वचा पर दाग-धब्बे छोड़ देते हैं। इसलिए त्‍वचा से गंदगी और तेल को साफ करने के लिए त्वचा किसी माइल्‍ड फेसवॉश से दिन में दो बार धोएं।

रोजमर्रा की इन सब आदतों से आपकी त्‍वचा को नुकसान हो सकता है। इसलिए स्‍वस्‍थ त्‍वचा पाने के लिए इन आदतों को छोड़ना ही बेहतर है।

Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES14 Votes 2099 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर