हैं मेडिटेरिनियन हर्बस, लेकिन इस्तेमाल होते हैं भारतीय खाने को स्वादिष्ट बनाने में...

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 06, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

- अजवायन के हरे पत्तों में विटामिन सी, बी12 और ए मौजूद है
- केसर मूल से ग्रीस की ही उत्पत्ति है
- ओरिगेनो में एंटीआक्सीडेंट तत्व मौजूद है

मसाले या हर्बस हमारे खाने का स्वाद बढ़ाने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसमें न तो वसा होती है और न ही ये कैलोरी बढ़ाते हैं। इस लिहाज से देखें तो इन्हें खाकर हम अपने स्वास्थ्य को बेहतर कर रहे हैं। लेकिन आपको बता दें कि हम कई ऐसे हर्बस या मसलों का उपयोग करते हैं जो मूलतः हिंदुस्तानी नहीं है। इसके उलट वे या तो ग्रीक से ताल्लुक रखते हैं या फिर मेडिटेरिनियन देशों से। लेकिन आपको जानकर ताज्जुब होगा कि आज के समय में हम उन्हें न बेधड़क इस्तेमाल करते हैं। जबकि हम उनके उत्पत्ति का असली क्षेत्र भी नहीं जानते। हम ऐसे ही कुछ मेडिटेरिनियन हर्बस या मसालों का जिक्र करेंगे जिन्हें आप स्वाद और स्वास्थ्य के लिए अपनी सब्जी में डालती हैं।

spices meditterean

अजवायन

अजवायन को हम न सिर्फ बहुतायत में इस्तेमाल करते हैं बल्कि इससे हमारे खाने का स्वाद भी बढ़ता है। यह आपके पाचन तंत्र को भी बेहतर बनाता है। इसके हरे पत्तों में विटामिन सी, बी12 और ए मौजूद है। साथ ही यह पोटाशियम का भी बेहतरीन स्रोत है। इस लिहाज से देखें तो अजवायन बहुत ज्यादा हेल्दी है जिसे अपने फूड में शामिल करे आप अपने खाद्य पदार्थ को बेहतर गार्निश कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः फूड पैकेट पर मौजूद कलर कोडेड फूड लेबल्स पर जरा ध्यान से गौर करें

केसर

केसर या जाफरान बेशक बहुत महंगा होता है। लेकिन इसे बहुत कम मात्रा में इस्तेमाल कर आप अपने खाने का स्वाद बदल सकते हैं। यह न सिर्फ स्वाद बदलने के लिए उपयोग तत्व है बल्कि इससे आहार विशेष हेल्दी भी होता है। यह आपके खाने को हल्का आरेंज रंग प्रदान करता है। केसर मूल से ग्रीस की ही उत्पत्ति है। माना जाता है कि 3000 साल पहले इसका ओरिजिन ग्रीस में हुआ।

तुलसी

तुलसी के असंख्य लाभों से हमारे यहां घर-घर वाकिफ है। यही नहीं इसे शुद्धिकरण के लिए भी आम हिंदू घरों में इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा ठंड, कोल्ड-कफ होने पर भी तुलसी का उपयोग किया जाता है। कई विशेषज्ञ यह भी दावा करते हैं कि तुलसी को चबाया भी जा सकता है। इसे लाभाकरी गुणों को हासिल करने के लिए इसे किसी के साथ मिक्स करने की जरूरत नहीं है। इसे आइकोनिक इटेलियन डिश कैप्रीस सलाद में इसकी खूबसूरती बढ़ाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

इसे भी पढ़ेंः कद्दू के जूस से करें दिन की शुरुआत, होंगे ये चमत्कारिक लाभ

ओरिगेनो

इन दिनों ओरिगेनो खाने का चलन हर जगह बढ़ गया है। कई लोग तो ओरिगेनो को खाने का स्वाद और महक बढ़ाने के लिए ओरिगेनाक का इस्तेमाल करते हैं। वैसे आपको बता दें कि ओरिगेना, मार्जोरम नामक अन्य हर्बस से काफी नजदीक है। ग्रीक सलाद में ओरिगेना की पत्तियां एक तरह से स्टार हर्बस है। वहां इसे धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जाता है। इसके अलावा इटालियन खाने में भी ओरिगेनो की धूम है। आप बिना ओरिगेनो के पिज्जा की कल्पना ही नहीं कर सकते। ओरिगेनो में एंटीआक्सीडेंट तत्व मौजूद है। कई बार ओरिगेनो को पेट से सम्बंधित समस्याओं से निपटने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है। पाचन तंत्र सम्बंधि परेशानी में भी यह कारगर है।

धनिया

यह बताने की जरूरत नहीं है कि धनिया पत्ता हमारे खाने को महकदार बनाता है और उसके स्वाद में भी इजाफा करता है। लेकिन आपको यह भी बता दें कि भारत में ही नहीं बल्कि मेक्सिन फूड में भी धनिया का इस्तेमाल बहुतायत में किया जाता है। कई बार सब्जी पकते समय धनिया डाला जाता है तो कई बार सलाद या सब्जी को गार्निश करने हेतु धनिय को ऊपर से डाला जाता है। इसे आप सूखा भी खा सकते हैं। इसे आप पुदीना या पास्र्ले का विकल्प के तौर पर भी ले सकते हैं। कई बार आजवाइन की पत्तियों के बजाय धनिया का उपयोग किया जाता है।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Healthy Eating Related Articles In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES579 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर