मधुमेह में नियमित रूप से जरूरी है ये पांच जांच

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 24, 2014
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मधुमेह का असर आंखों की रोशनी पर भी पड़ता है।
  • मधुमेह के साथ रक्तचाप होना बहुत खतरनाक है।
  • हर रोज रक्त में ग्लूकोज के स्तर की जांच करें।
  • हार्ट अटैक से बचने के लिए कोलेस्ट्रोल की जांच भी जरूरी है।

मधुमेह रोगियों को स्वस्थ रहने और लंबी उम्र पाने के लिए नियमित जांच जरूर कराना चाहिए। रोगियों को शरीर में शुगर का स्तर समय-समय पर चेक कराते रहना चाहिए और जैसे ही ग्लूकोज का स्तर बढ़े तुरंत डॉक्टर से संपंर्क करना चाहिए। मधुमेह को कंट्रोल करने के लिए आहार के साथ साथ नियमित जांच भी जरूरी होती है। शरीर में ग्लूकोज का स्तर पता करने के लिए रोगी घर पर ही ग्लूकोज मीटर रख सकते हैं जिससे वे आसानी से घर पर जांच कर सके।

मधुमेह रोगियों में सबसे ज्यादा खतरा आंख, पैरों व किडनी को होता है। नियमित जांच से रोगी इन खतरों से बच सकते हैं। शुरुआती अवस्था में मधुमेह होने पर थोड़ी सी सावधानी व नियमित जांच से आप इसे ठीक भी कर सकते हैं। आइए जानें मधुमेह रोगी कौन-कौन से चेकअप नियमित रुप से कराने चाहिए।

test in diabetes

ग्लूकोज की जांच


मधुमेह रोगियों को रक्त में ग्लूकोज के स्तर की जांच नियमित रुप से करना चाहिए। ग्लूकोज का स्तर बढ़ना रोगी के लिए खतरनाक हो सकता है। इसके साथ ही खून की जांच भी मधुमेह रोगियों के लिए जरूरी है इससे पता चलता है कि किडनी ठीक ढंग से काम कर रही हैं या नहीं। मधुमेह में किडनी पर काफी प्रभाव पड़ता है। नियमित जांच से रोगी को किडनी की समस्या से दूर रखता है।


कोलेस्ट्रोल की जांच

मधुमेह में रोगियों को कोलेस्ट्रोल की जांच जरूर करानी चाहिए क्योंकि मधुमेह रोगियों में कोलेस्ट्रोल बढ़ने पर हृदय रोग का खतरा दुगुना हो जाता है। रक्त में ग्लूकोज की मात्रा खराब कोलेस्ट्रोल (LDLS) को गति को धीमा कर सकती है जिसकी वजह से वह चिपचिपा हो जाता है और यही कारण है जिससे कोलेस्ट्रोल तेजी से बनने लगता है। बैड कोलेस्ट्रोल रक्‍त की धमनियों में जम जाता है और हृदय से जुड़ी समस्याएं पैदा करता है।

eye test

ब्लड प्रेशर की जांच

हाई ब्लड प्रेशर ‘साइलेंट किलर’ के समान है। मधुमेह रोगियों में हाई ब्लड प्रेशर काफी घातक साबित हो सकता है। मधुमेह में हाई ब्लड प्रेशर होने से हृदय रोग, हृदयघात, किडनी व आंखों की समस्या भी हो सकती है। इन सबसे बचने के लिए जरूरी है कि आप ब्लड प्रेशर की नियमित जांच करवाएं।


पैरों की जांच

मधुमेह में रोगियों को पैरों की समस्या हो सकती है। मधुमेह में पैरों की कोई भी समस्या होने पर इसे गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि इसमें पैरों की संवेदनशीलता धीरे धीरे कम होने लगती है। इसलिए पैरों में लगने वाली छोटी से छोटी चोट, संक्रमण रोगियों के लिए खतरनाक हो सकती है।


आंखों की जांच

जब रक्त में ग्लूकोज का स्तर लंबे समय तक बढ़ा हुआ रहता है तो इसका सीधी असर रेटिना पर पड़ता है। इसे रेटिनोपेथी कहते हैं। आंखों को होने वाले नुकसान आसानी से नहीं पता चलता है इसके लिए रोगी को नियमित जांच करना जरूरी है। अगर रेटिनोपेथी का ज्लद इलाज नहीं किया गया तो रोगी अंधा भी हो सकता है। कई बार मधुमेह रोगी को धुंधला दिखाई देता है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर से संपंर्क करें।

मधुमेह की समस्या से लड़ने के लिए इससे ग्रस्त लोगों नियिमित रुप से ऊपर दी गई पांच जांच करवानी चाहिए। इसकी मदद से आप मधुमेह के साथ भी स्वस्थ जीवन बिता सकते हैं।


Read More Articles On Diabetes In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES60 Votes 14173 Views 2 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Sushil27 Mar 2014

    यह तो बहुत सही बात बतायी आपने। लोग अकसर शुगर और उसके साथ होने वाले खतरों के बारे में अनजान रहते हैं। उन्‍हें पता ही नहीं होता कि शुगर कभी अकेले नहीं आती। इसके साथ कई बीमारियां चली आती हैं। यह आंखों की रोशनी भी छीनती है और बीपी का भी कारण बनती है। जिससे हमारे दिल को भी नुकसान हो सकता है। ग्‍लूकोज और कोलेस्‍ट्रॉल भी बढ़ा देती है शुगर। यह आर्टिकल सबको पढ़ना चाहिए, जिन्‍हें शुगर है उन्‍हें भी और जिन्‍हें नहीं है उन्‍हें तो जरूर पढ़ना चाहिए। ताकि वे भविष्‍य में होने वाली बीमारियों से बच सकें।

  • ruchi28 Feb 2013

    thanks for the suggestion

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर