दूसरे के साथ तेजी से दोहराना है याद रखने का बेहतरीन तरीका

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Oct 15, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • फोकस ना होने के कारण होती है भूलने की समस्या।
  • जोर जोर से बोलकर दोहराने का आदत लाभदायक।
  • बोलने की क्षमता से प्रभावित होता है सेंसोमीटर।
  • योग, ध्यान और सही खानपान बढ़ाता है याद्दाश्त।

उम्र के साथ याद्दाश्त कमजोर होने की शिकायत अक्सर ही हर दूसरे आदमी से सुनने को मिल जाती है। छोटे-छोटे काम भी याद नहीं रहते हैं, हालांकि जरूरी नहीं कि ये कोई बीमारी ही हो कई बार हमारा ध्यान नहीं होने के कारण भी ऐसा होता है। अगर आपको भी ऐसी कोई समस्या हो और आप अपने सामान्य जीवन को प्रभावित नहीं करना चाहते हो तो ऐसे कामों को जोर-जोर से बोल कर दोहराने की आदत डालें। इसे न केवल अपने सामने बल्कि दूसरों के सामने भी आजमायें। एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि दूसरों के सामने तेजी से बोलकर दोहराने से याद्दाश्‍त बढ़ती है। अधिक जानकारी के लिए इस लेख को पढ़ें।


शोध के अनुसार

मांट्रीयल्‍स डिपार्टमेंट ऑफ लिंग्विस्टिक एंड ट्रांसलेशन में हुई एक शोध के अनुसार आपका भी ध्यान एक साथ बहुत सारी बातों पर रहता है और इसके चलते आप जरूरी काम भूल जाते हो, तो काम को जोर जोर से दोहरा ले। ऐसे मे बात दिमाग में बैठ जाती है।  जब कोई अपना नाम बताए तो उस पर पूरा ध्यान दें। नाम को फिर से मन में रिपीट करें। हो सके तो नाम को जोर से बोलें। थोड़ी-थोड़ी देर में नाम दोहराएं। मुख्य सवालों के जवाब जोर से बोलें। जितनी देर आप पढ़ते हैं, उसमें से कम-से-कम आधा टाइम पढ़े हुए को जोर से बोलकर बिताएं। लिखते हुए ही मन में दोहराएं भी।  इसी तरह किसी चीज को याद रखने के लिए उसे किसी चीज से जोड़कर याद करें जैसे कि सेब को लाल रंग से जोड़ सकते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार याद्दाश्त प्रकिया यानि सेसोमीटर आपके सुनने की क्षमता से ज्यादा बोलने की क्षमता पर निर्भर करती है।



याद्दाश्त बढा़ने के अन्य तरीके

योगा और मेडिटेशन से ब्रेन को पर्याप्त ऑक्सीजन और खून मिलता है, जिसका सीधा असर मैमोरी पर पड़ता है और आपकी याददाश्त तेज होती है। दिमाग हर वक्त एक्टिव रहता है। इसे तभी आराम मिलता है, जब आप सोते हैं। अपने बुद्धि बढ़ाने के लिए दिमागी कसरत जरूर कीजिए। अपने मोबाइल में अपने जरूरी नंबर संरक्षित करने के अलावा कुछ जरूरी नंबर को याद करने की कोशिश कीजिए। एक बार नंबर याद करने के एक सप्‍ताह बाद इसे दोबारा याद करने की कोशिश कीजिए। इससे बुद्धि बढ़ेगी। कोशिश करें कि याद रखने वाली बातों को कंप्‍यूटर या मोबाइल में नोट न करें।

मछली को खासतौर पर हम ब्रेन फूड भी कहते हैं क्‍योकि इसके तेल में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है जो दिमाग के लिए अति फायदेमंद होता है।

 

Image Source-Getty

Read More Article On Memory Loss in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES12 Votes 3706 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • neeraj17 Oct 2015

    This article is very useful and intresting, thanx for sharing such a wonderfull article with us. Everyone should know about these technique.

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर