टॉक थेरेपी से बदल सकते हैं अपना दिमाग

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 19, 2014
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • टॉक थेरेपी पर्सनालिटी डिसऑर्डर से ग्रस्‍त लोगों के लिए है।
  • इस थेरेपी से व्‍यक्ति किसी निर्णय पर पहुंच सकता है।
  • यह तनाव, अवसाद, चिंता, भय की स्थिति से उबारती है।
  • उपचार के दौरान मनौवै‍ज्ञानिक से सारी बातें शेयर कीजिए।

टॉक थेरेपी यानी बातचीत के जरिये आप मुश्किल से मुश्किल समस्‍याओं को हल ढूंढ सकते हैं। अगर आप किसी बात को लेकर असंजस की स्थिति में हैं तो किसी से सलाह और म‍शविरा लेना आपकी मुसीबत का सबसे अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है।

टॉक थेरेपी सबसे ज्‍यादा उन लोगों के लिए मददगार होती है जो पर्सनालिटी डिसऑर्डर (मानसिक बीमारी) से ग्रस्‍त होते हैं। कई शोधों में भी यह बात साबित हो चुकी है कि मनौवैज्ञ‍ानिक दुविधा में उलझे लोगों की समस्‍याओं का हल आसानी से कर देते हैं और उनको उहापोह की स्थिति से निकालने में मदद करते हैं। तो अगर आपको भी लगता है कि आपको टॉक थेरेपी की जरूरत है तो उसका फायदा जरूर उठाइये।

Talk Therapy Can Change Your Brain

कब काम करती है यह थेरेपी

अगर आप किसी प्रकार के मानसिक विकार से ग्रस्‍त हैं और आपको निर्णय लेने में दुविधा होती है तब यह थेरेपी आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकती है। मानसिक असंतुलन की स्थिति में, चिंता होने पर, तनाव में रहने पर, अवसाद की स्थिति में, आपको भय लगता हो, ऐसी स्थिति में आप टॉक थेरेपी का सहारा लीजिए।

 

थेरेपी और दवायें

अगर आपको सामान्‍य मानसिक विकार है तो टॉक थेरेपी आपके उपचार में मददगार हो सकती है, लेकिन अगर आप किसी खतरनाक मानसिक बीमारी की चपेट में हैं तो आपके लिए बेहतर होगा कि दवा का प्रयोग करें। लेकिन मानसिक विकार से उपचार के दौरान आप दोनों का फायदा उठा सकते हैं, इससे उपचार में आसानी होगी और आपका रोग जल्‍दी ठीक हो जायेगा।
Talk Therapy can Change Brain

पूरी बात बतायें

डिप्रेशन और अवसाद के इलाज में टॉक थेरेपी बहुत कारगर है। इसमें बातचीत के जरिए आप अपनी भावनाओं का खुलकर इजहार कर सकते हैं। थेरेपिस्ट को प्रतिक्रिया देने, सवाल पूछने का अधिकार दें, ताकि दर्द और डिप्रेशन से राहत दिलाने में वह आपकी मदद कर पाए। उसे अपनी समस्‍याओं के बारे में बतायें, उसे सारी बातें खुलकर बतायें, कि आप क्‍या फील करती हैं, उससे कुछ भी न छुपायें।

 

टॉक थेरेपी के फायदे

मनोविकार होने पर आपका दिमाग हर वक्‍त उहापोह की स्थिति में रहता है। ऐसे में सामान्‍य अवस्‍था होने पर आप किसी भी प्रकार का निर्णय नहीं ले पाते हैं। ऐसे में टॉक थेरेपिस्‍ट यानी मनोवैज्ञानिक आपकी मदद करता है।

टॉक थेरेपी एक गिफ्ट की तरह है जो मनोविकार की स्थिति से निकालने में मदद करता है। तो अगर आपको भी ऐसी कोई समस्‍या है तो टॉक थेरेपी का सहारा लीजिए।

 

Read More Articles on Alternative Therapy in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES4 Votes 1899 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर