तैलीय त्वचा की देखभाल के लिए घरेलू नुस्खे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 21, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • तैलीय त्वचा को होती है समान्य त्वचा के मुकाबले ज्यादा देखभाल की जरूरत।
  • तैलीय त्वचा पर दाने, मुंहासे, ब्लैकहेड्स और ईचिंग जैसी समस्या होती हैं ज्यादा।
  • अंडे की सफेदी को चेहरे पर लगाने से तैलीय त्वचा में आता है निखार।
  • तैलीय त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी, दही और पुदीना पाउडर का पेस्ट होता है लाभदायक।

यूं तो हर त्वचा को खास देखभाल की जरूरत हमेशा ही रहती है, लेकिन तैलीय त्वचा को ज़रा ज्यादा ही देखभाल की जरूरत होती है। इसलिए हम आपको बता रहे हैं तैलीय त्वचा की देखभाल के लिए ये खास घरेलू नुस्खे।

Home Remedies For Oily Skin

 

तैलीय त्वचा पर दाने, मुंहासे, ब्लैकहेड्स जैसी समस्या बहुत होती हैं। ऐसी त्वचा पर गंदगी और धूल जल्दी जमती है। यही कारण है कि तैलीय त्वचा को अच्छी तरह से साफ किया जाना बेहद जरूरी होता है। यदि इसकी सही से सफाई ना हो तो त्वचा के रोम छिद्र बंद हो जाते हैं।


परिणामस्वरूप तैलीय त्वचा पर ब्लैकहेड्स नजर आने लगते हैं। इनसे बचने के लिए आप क्या-क्‍या नहीं करती। महंगे ब्यूटी उत्पाद खरीदती हैं और कई बार विशेषज्ञों के पास भी जाती हैं। लेकिन, इस तैलीय त्वचा के लिए आपके घर की रसोई में ही कई उत्पाद मौजूद हैं। आइए हम आपको बताते है ऐसे घरेलू उपाय जिनको अपनाकर भी आप अपनी तैलीय त्वचा की देखभाल कर सकती हैं।

 

तैलीय त्वचा के लिए घरेलू नुस्खे


  • अंडे की सफेदी को चेहरे पर लगाएं और इसके बाद उसे गुनगुने पानी से धो दें। इससे तैलीय त्वचा में निखार आएगा।
  • एक चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच गुलाब जल और पिसा हुआ पुदीना मिलाकर 1 घंटे तक रखें। फिर इस पैक को चेहरे पर लगाकर 20 मिनट बाद धो लें। इससे चेहरे का चिपचिपापन दूर हो जाएगा।
  • आधा चम्मच संतरे के रस में 4-5 बूंद नींबू का रस, आधा चम्मच मुल्तानी मिट्टी, आधा चम्मच चंदन पाउडर और कुछ बूंदें गुलाब जल की मिलाकर कर थोड़ी देर के लिए फ्रिज में रख दें। इसे चेहरे पर 15-20 मिनट लगा रहने दें। इसके बाद पानी से इसे धो दें। यह तैलीय त्वचा का सबसे अच्छा उपाय है।
  • तैलीय त्वचा के लिए मुल्तानी मिट्टी में दही और पुदीने की पत्तियों का पाउडर मिला कर उसे आधे घंटे तक रखा रहने दें, फिर अच्छे से मिलाकर चेहरे और गर्दन पर लगाएं। सूखने पर हल्के गर्म पानी से धो दें। यह तैलीय त्वचा को चिकनाई रहित रखने का कारगर नुस्खा है।
  • सेब को छीलकर पेस्ट बना लें। इसे चेहरे व गर्दन पर लगाएं। 20 मिनट बाद हलके गुनगुने पानी से चेहरा साफ कर लें। सेब एएचए (अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड) का बेहतरीन स्रोत होता है, जो त्वचा को टोन करता है। उसे मुलायम और कांतिमय बनाता है।
  • एक टी स्पून चंदन पाउडर में गुलाबजल मिलाकर पेस्ट बनाएं। फिर उसे चेहरे पर लगाएं। सूखने पर पानी से धो लें। इससे त्वचा के दाग-धब्बे और एक्ने भी दूर होंगे।
  • टी स्पून बेसन में चुटकी भर हल्दी पाउडर, आधा नीबू का रस मिलाकर पेस्ट बनाएं। अगर आपको नीबू सूट नहीं करता है तो उसकी जगह पर दही मिला सकती हैं। आंखों के आसपास का हिस्सा छोडकर लगाएं। सूखने पर हलके हाथों से मलते हुए छुडाएं। यह त्वचा का कालापन दूर करता है। हल्दी त्वचा की चमक बरकरार रखती है।
  • तैलीय त्वचा को भी मॉयस्चराइजर की जरूरत होती है और इसके लिए आप शहद का इस्तेमाल कर सकती हैं। शहद एक बेहतरीन कुदरती मॉयस्चराइजर होता है। इसे चेहरे पर 15 मिनट लगाएं। फिर धो लें। यह त्वचा की जलन, मुंहासे और कालेपन को दूर करता है। साथ ही उसे कांतिमय और लचीली बनाता है।
  • एक टेबल स्पून चावल के आटे में एक टेबल स्पून कॉर्नफ्लोर और नीबू के रस की कुछ बूंदें मिलाकर चेहरे पर लगाएं। फिर भीतर से बाहर की तरफ गोलोई में हाथ घुमाते हुए कुछ देर मसाज करें। चावल का आटा डेड सेल्स हटाता है। त्वचा के छिद्र भी खोलता है, ताकि साफ ऑक्सीजन त्वचा के भीतर जा सके।
  • एक टेबल स्पून मुलतानी मिट्टी में अंडे की सफेदी, एक टेबल स्पून ओट्स पाउडर, एक टेबल स्पून कॉर्नफ्लोर और गुलाबजल मिलाकर गाढा पेस्ट तैयार करें। इसे चेहरे व गर्दन पर लगाएं। 20 मिनट बाद चेहरा साफ कर लें।

 

Read More Article on Home Remedies For Skin in hindi.

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES227 Votes 39716 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर