लिम्‍फ नोड्स कैंसर के लक्षण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jun 22, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

कैंसर एक जानलेवा रोग है। यदि इसके शुरूआती चरण में ही इसका उपचार न किया जाये तो यह आपके जीवन के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। इसलिए कैंसर की जल्‍द से जल्‍द जांच और फिर इसके निदान के लिए उपचार बहुत जरूरी है। यूं तो कैंसर के कई प्रकार होते हैं। कैंसर के अलग- अलग प्रकार में से ही एक प्रकार है लिम्‍फ नोड्स कैंसर।

लिम्‍फ नोड्स कैंसरलिम्‍फ एक तरल पदार्थ होता है जो शरीर की धमनियों के जरिए ऊतकों में संचारित होता है। यह ऊतकों को साफ करता है और उन्‍हें मजबूत बनाता है। लिम्‍फ नोड्स लसिका तंत्र के साथ जुड़े हुए फिल्‍टर हैं। इनका काम वैक्‍टीरिया, वायरस, कैंसर सेल और अन्‍य अनचाहे पदार्थों को धमनियों में जाने से रोकना और शरीर को सुरक्षा प्रदान करना होता है।

क्‍या है लिम्‍फ नोड्स
लिम्‍फ नोड्स मानव शरीर में ग्रंथ‍ि के तरह शरीर में मौजूद छोटे-छोटे बीज के आकार के फिल्‍टर होते हैं। ये ऊतकों से घिरे हुए होते हैं और ये लसिका तंत्र के साथ ही पूरे शरीर में पाएं जाते हैं। जब लिम्‍फ नोड्स सामान्‍य रूप से काम करते हैं तो ये शरीर में मौजूद लिम्‍फ फ्लूड से बैक्‍टीरिया और विषैले तत्‍वों को अलग कर देते हैं।

जब लसिका तंत्र पर कैंसर का खतरा होता है तो इसका असर लिम्‍फ नोड्स पर पड़ता है और कैंसर से पीडि़त मरीज में इससे संबंधित एक या फ‍िर इससे ज्‍यादा लक्षण दिखाई देने लगते हैं। लिम्‍फ नोड कैंसर को दो कैटेगरी में बांटा जा सकता हैं होडग्‍किन डिसीज और नॉन होडग्‍किन डिसीज। हालांकि दोनों के लक्षण एक जैसे ही होते हैं। आगे बात करते हैं लिम्‍फ नोड्स कैंसर के लक्षण के बारें में।

नोड्स का सूजना
लिम्‍फ नोड कैंसर का सबसे पहला लक्षण यह है कि इसकी शुरूआत में लसिका ग्रंथ‍ि पर सूजन आने लगती है। शरीर में जहां पर लिम्‍फ नोड्स स्किन के नजदीक होते हैं, वहां पर मोटा होने लगता है। उदाहरण के लिए लिम्‍फ नोड्स गले की त्‍वचा के पास होते हैं। शुरूआती लक्षण के तौर पर गले की एक साइड में गोलाकार आकृति बनकर उभर जाती है। कई बार देखने में तो इसका पता चलता है लेकिन छूने पर पता नहीं चलता।

दर्द
लिम्‍फ नोड्स कैंसर की शुरूआत में अक्‍सर सूजे हुए लिम्‍फ नोड के आस-पास के भाग में दर्द होता है। यह दर्द अल्‍कोहल के सेवन के बाद बढ़ सकता है। जैसे-जैसे कैंसर का असर बढ़ता है, वैसे ही यह ज्‍यादा दर्द का कारण बन सकता है।

भूख लगना और वजन कम होना
लिम्‍फ नोड्स कैंसर के मरीज को बहुत तेज भूख लगती है। कैंसर की शुरुआत के बाद जैसे-जैसे इसका असर बढ़ता है तो मरीज का वजन घटने लगता है। हालांकि इस तरह का लक्षण और भी कई बीमारियों में पाया जाता है। इसलिए वजन घटने पर फिजीशियन से सलाह लें आपको अन्‍य कोई रोग भी हो सकता है।

अन्‍य लक्षण
सूजन, दर्द और वजन कम होने के अलावा लिम्‍फ नोड्स कैंसर के मरीज को सामान्‍य व्‍यक्ति की तुलना में ज्‍यादा आलस आता है। साथ ही इसके मरीज को हल्‍का बुखार भी रहता है और उसे रात में ठंड लगती है। कुछ मरीजों को शरीर पर खुजली की भी शिकायत रहती है। इसमें खुजली कम करने वाली क्रीम से भी राहत नहीं मिलती। इसके अलावा कुछ मरीजों की छाती में भी दर्द की शिकायत रहती है।

यदि आपको अपने शरीर में या फिर अपने आस-पास मौजूद किसी व्‍यक्ति को लिम्‍फ नोड्स कैंसर का एक भी लक्षण लगता है तो देर न करें। जल्‍दी से जल्‍दी संबं‍धित चिकित्‍सक से परामर्श लें।

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES18 Votes 7929 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर