स्टडी प्लान में पौष्टिक आहार को भी करें शामिल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 04, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • आहार में प्रोटीन और आयरन ज़रूर शामिल करें।
  • आयरन की गोलियों के बजाय फलों को दें तरजीह।
  • केला, ब्‍लूबेरी और मौसमी फल रखें दिमाग को तेज।
  • नाश्‍ता जरूर करें, इससे बढ़ती है आपकी एकाग्रता।

परीक्षाएं शुरू होने के साथ छात्रों के सामने वही टेंशन होती है कि कैसे समय भी बर्बाद न हो और कुछ ऐसा खाया जाए जिससे दिमाग को पोषण और ऊर्जा भी मिले। समय बचाने के चक्कर में काफी, चाय, समोसा, पिज्जा या 'कुछ भी' खाने की आदत छोडि़ए। इस बार अपने स्टडी प्लान में पढ़ाई के अलावा अच्छा और पौष्टिक खाद्य पदार्थ भी शामिल करें और परिणाम में फर्क पाएं।

 

 

Students Diet In Hindi

 

 

परीक्षाओं का दौर शुरू होने के साथ ही बच्चों में घबराहट व तनाव का स्तर भी तेज़ी से बढ़ने लगता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों और मनोचिकित्सकों के मुताबिक परीक्षा में अच्छे प्रदर्शन के लिए इस तनाव को कम करने के साथ-साथ उनको एक बेहतर लाइफ और पौष्टिक खान-पान देने की जरूरत होती है। तो सुनिश्चित करें कि आपके बच्चे को पर्याप्त पोषण मिले, तनाव का सामना उसे कम-से-कम करना पड़े और वह परीक्षा में अपना सबसे श्रेष्ठ प्रदर्शन कर सके। निम्न हम ऐसे ही कुछ पौष्टिक आहारों की बात कर रहे हैं जिन्हें आप अपने बच्चों के डाइट प्लान में शामिल करें तो उनके लिए फायदेमंद होगा।

 

 

 

1. आपने भोजन में विटामिन बी और आयरन युक्त  आहार जैसे दाल, पालक, सोयाबीन, मछली, अनाज, अंडा शामिल  करें। यह आपको मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाए रखने में मदद करेगा।

2. विटामिन या आयरन की गोलियां खाने की बजाय इससे युक्त फल और अनाज खाएं। जैसे विटामिन सी की गोली लेने की जगह संतरा, नींबू या रसीले फल खाएं। ये न केवल विटामिन सी से भरपूर होते हैं बल्कि इनमें फाइबर, बीटा कैरोटीन या अन्य खनिज भी प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। 

3. नियमित अंतराल में खाएं। यह आपकी फुर्ती बनाए रखेगा। ऐसा करके आप हर थोड़ी देर में कुछ भी खाने की आदत से छुटकारा पा सकेंगे।

 

 

 

Students Diet In Hindi

 

 

 

4. थोड़ा-थोड़ा खाएं। दिन में तीन बार पूरा भोजन करने से आलस आता है, जो पढ़ाई में बाधक बन सकता है। इससे बचने के लिए दिन में 5-6 बार ही सही लेकिन थोड़ा-थोड़ा खाएं।

5. नाश्ता जरूर करें। पुरानी कहावत कि नाश्ता परीक्षा के समय बेहद जरूरी होता है, सौ फीसदी सच है। बहुत से अध्ययनों में यह साबित हो चुका है कि नाश्ता न करने से एकाग्रता प्रभावित होती है। जो लोग नाश्ता करते है उन्हें चीजें जल्द याद होती हैं। नाश्ता के जरिए आपको कैलशियम, प्रोटीन, फाइबर अच्छी मात्रा में मिलता है। इस बार परीक्षा के दौरान नाश्ते में दूध में कार्नफ्लेक्स, फल और सलाद करके देखिए, फर्क पड़ेगा।

6. दिमाग को तेज बनाए रखने के लिए एंटीआक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ खाएं। दिमाग की तेजी के लिए केला, ब्लूबैरी और मौसमी फल खाना फायदेमंद होगा। 

7. सब्जियां खाना न भूलें। बात पौष्टिक आहार की हो और उसमें सब्जियां शामिल न हों, ऐसा हो नहीं सकता। हरी सब्जियां खाएं। विशेष रूप से गहरे रंग की सब्जियां। क्योंकि सब्जी का रंग जितना गहरा होता है, उसमें पौष्टिक तत्व उतना ही ज्यादा पाया जाता है। ब्रोकोली, पालक, शकरकंद खाना सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है।

8. पेय भी करें शामिल। दूध में बोर्नवीटा या बूस्ट मिला कर पी सकते हैं। जूस, पानी, शरबत, एंटीआक्सीडेंट से भरपूर ग्रीन टी और कभी-कभी ग्लूकोज लेना लाभदायक रहेगा।

 

 

दिमाग तेज और तनावरहित रहे, इसके लिए काफी और मीठे स्नैक्स से दूर रहें। प्रोटीन और विटामिन युक्त भोजन के अलावा पानी खूब पिएं। परीक्षा के समय विशेष रूप से खान-पान का ध्यान रखना जरूरी है। इसलिए चाकलेट, कार्बोहाइड्रेट वाले स्नैक्स, बिस्कुट, मीठा, स्क्वैश या कोल्ड ड्रिंक पीने से बचें। यह एकाग्रता में बाधक हैं। इससे रिवीजन में भी परेशानी महसूस होती है। चाय, काफी या किसी एनर्जी ड्रिंक के अधिक सेवन से बचें। दोपहर को भरपेट खाने, जंक फूड, पिज्जा, मैगी, चिप्स या सैंडविच खाने से बचे। इनसे आलस आता है। केक, पेस्ट्री, या तैलीय चीजें भई न खाएं। यह नसों से दिमाग तक संदेश पहुंचने की प्रक्रिया को धीमा कर देते हैं। इससे पढ़ी हुई बात को याद रखने में परेशानी आती हैं।

 

 

 

Read More Articles On Diet & Nutrition In Hindi.

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES12 Votes 14543 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर