फ्लर्ट तो महिलाएं भी कम नहीं करतीं!

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 19, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • फ्लर्ट करने में महिलाएं पुरूषों से कम नहीं हैं: शोध।
  • महिलाओं की चालाकी भरी अदाओं से लाचार होते हैं पुरुष।
  • बर्कले स्थित कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय हुआ शोध।
  • फ्लर्टी महिलाओं पर उनके सहयोगी भरोसा नहीं करते।

फ्लर्टिंग के मामले में पुरूषो को ही ज़्यादा बदनाम किया जाता। पुरूषों के बारे में अक्सर ये मान लिया जाता है कि वे लडकियों को देखते ही फ्लर्ट करना शुरू कर देते हैं और उन्हें रिझाने के लिए तरह-तरह की बातें और इशारे करने लगते हैं। लेकिन फ्लर्ट करने में महिलाएं पुरूषों से कम नहीं है। कुछ अध्ययनों की मानें तो कई महिलाएं तो प्लर्ट करने में पुरुषों से कहीं आगे हैं। चलिये जानते हैं कि महिलाओं की फ्लर्टिंग नेचर के बारे में क्या कहते हैं शोध।

 

 

अक्सर समझने में धोखा खा बैठता है पुरुषों का दिमाग और समझ बैठते हैं दोस्ताना अंदाज फ्लर्ट करने में महिलाएं भी कुछ कम नहीं होतीं। अगर पुरुषों से ज्यादा नहीं तो कम से कम इतना तो जरूर करती हैं-कभी लटों को उमेठना तो कभी आंखों में आंखें डालना या फिर मादक मुस्कान बिखेरना। लेकिन फ्लर्ट करने वाली महिलाएं जान लें, इससे कुछ हासिल होने वाला नहीं है। महिलाएं पुरूषों के मुकाबले में पांच गुना ज्यादा ऐसे सेक्सी बॉडी सिग्नल्स देती है, जिनसे पुरूषों को इशारा मिल जाए कि वो उन्हें पसंद करती है। शोध में भी वैज्ञानिकों ने यह बात मानी है कि फ्लर्ट करने में महिलाएं पुरूषों के मुकाबले पीछे नहीं हैं।

 

 

Women Do Flirt in Hindi

 

अध्ययन नं. - 1

एक अध्ययन में यह दावा किया गया है। इस अध्ययन के बाद वैज्ञानिक इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि महिलाओं की चालाकी भरी अदाओं के प्रति पुरुष तकरीबन अंधे होते हैं। महिलाओं की अधिकांश मादक या कामुक अदाओं को समझने में वे भूल कर बैठते हैं, उसे दोस्ती का अंदाज समझ बैठते हैं। शोधकर्ताओं के मुताबिक महिलाएं यौनेच्छा की अभिव्यक्ति के प्रति उतावली नहीं हुआ करतीं। लेकिन दुखद यह है कि अपनी यौन रुचियों को लेकर महिलाओं के गैर शाब्दिक संकेतों को भी नौजवान पुरुषों का दिमाग पढ़ नहीं पाता। 'वह मुझे चाहती है' जैसे पहलू को स्वीकारने के बजाय पुरुष प्राय: महिलाओं के संकेतों को लेकर बुरी तरह उलझ जाते हैं।

 

अपने शोध के दौरान वैज्ञानिकों ने तीन सौ अंडर ग्रेजुएट छात्र-छात्राओं पर अध्ययन किया। इन सभी को महिलाओं की तस्वीर दिखाई गई। उसे दोस्ताना, यौन आकर्षण, दुखी या नापसंद के तौर पर श्रेणीबद्ध करने के लिए कहा गया। प्रत्येक छात्र को 280 तस्वीरों से रूबरू कराया गया।

 

 

सटीक निष्कर्ष के मामले में छात्रों की संख्या छात्राओं से काफी कम थीं। खासकर खुशगवार, दोस्ताना और कामुक अंदाज का आकलन करने में। छात्रों ने महिलाओं की यौनेच्छा से संबंधित संकेतों को समझने में आमतौर पर भूल की और उसे दोस्ताना करार दिया। इसके विपरीत दोस्ताना अंदाज को अश्लील माना।

 

 

Women Do Flirt in Hindi

 

 

अध्ययन नं. -2

यदि आपको लगता है कि ऑफिस में थोड़ी बहुत फ्लर्टिंग से कोई नुकसान नहीं है, तो एक बार फिर से सोच लजिए। एक अध्ययन से पता चलता है कि ऑफस में फ्लर्टिंग यानी हल्की-फुल्की इश्कबाजी कुछ महिलाओं को आगे बढ़ने में मदद तो करती है, लेकिन ऐसी महिलाओं पर उनके सहयोगी भरोसा नहीं करते।



बर्कले स्थित कैलीफोर्निया विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा किये गये इस अध्ययन ने इस बात का खुलासा किया था। अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया कि हालांकि महिलाओं का आकर्षण उन्हें थोड़ी ज्यादा तवज्जो दिला सकता है, लेकिन अगर वे ऑफिस में इश्कबाजी करती हैं, तो उन्हें ज्यादा भरोसे के योग्य नहीं समझा जाता। इस संदर्भ में 'डेली मेल' ने शोधकर्ताओं के हवाले से लिखा था कि सहयोगियों के बीच आपके लिए अविश्वास की भावना आगे चलकर नुकसानदायक साबित हो सकती है।

 

इस अध्ययन में कुल 77 विद्यार्थी, 51 महिलाएं और 26 पुरुष शामिल थे। इन लोगों ने कॉर्पोरेट जगत की एक वीडियो देखी, जिसमें एक महिला अपनी अदाएं दिखा रही थी। इस महिला को एक पुरुष कर्मचारी की तुलना में ज्यादा पसंद तो किया गया, लेकिन विद्यार्थियों ने यह भी कहा कि वह महिला अधिक विश्वास के लायक नहीं है।


 

 

Read More Article On- Sex relationship in hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES20 Votes 50895 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर