खर्राटों के कारण रात में बार-बार आ सकता है पेशाब

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 10, 2016
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

कई लोगों को रात में बार-बार पेशाब लगने की बीमारी होती है जिसे लोग सामान्य आदत समझकर नजरअंदाज कर देते हैं। अगर आप भी ऐसे ही लोगों में शामिल हैं तो ये खबर आपके लिए है। हाल ही में किए गए शोध में पता चला है कि रात को बार-बार पेशाब लगना स्लीप एपनिया से संबंधित हो सकता है।

 


दरअसल स्लीप एपनिया खर्राटों की आम समस्या है। इस समस्या में सोते वक्त इंसान की 10 या उसेस कुछ ज्यादा सेकेंड के लिए सांस रुक जाती है। ऐसा एक घंटे पांच या उससे ज़्यादा बार होता है। वहीं इस समस्या के गंभीर होने पर ये एक घंटे में 100 या उससे अधिक बार होता है। ये स्थिति काफी खतरनाक होती है। इससे सोने के दौरान व्यक्ति की बार-बार नींद टूट जाती है और व्यक्ति पेशाब जाता है। इस समय पेशाब लगने का मूल कारण नोक्टूरिया होता है।

यह जानकारी इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के मानद महासचिव के. के. अग्रवाल ने बर्मिघम की अलबामा यूनिवर्सिटी के अध्ययन का हवाला देते हुए दी है। इसके परिणाम ज्यादा उम्र के उन लोगों के लिए खास महत्व रखते हैं अहम है जिन्हें आमतौर पर रात को बार बार उठ कर पेशाब जाते वक्त गिर कर चोट लगती है। नोक्टूरिया महिलाओं में बढ़ती उम्र का विकार और पुरुषों में प्रोस्टेट की समस्या है।

 

Read more Health news in hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES6 Votes 787 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर