सिंहासन की सही विधि

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 29, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Simassan yogaसिंहासन जैसा कि नाम से पता लग रहा है कि इस आसन में आपको शेर की अवस्था में बैठना होता है।  सिंहासन से आपकी आंखो, चेहरे व गर्दन का व्यायाम होता है।  इससे शरीर में ऑक्सीजन व चेहरे में रक्त का संचार सही ढंग से होता है।  जिससे आप चुस्त-दुरुस्त रहते हैं। आसन से आपको दिमागी शांति मिलती है और आपका तनाव कम होता है। लेकिन सिंहासन कैसे करें इसकी सही विधि जानना बहुत जरुरी है।  आईए जानें सिंहासन की सही विधि।

विधि

  • सिंहासन करने के लिए सबसे पहले अपने पैरों के पंजों को आपस में मिलाकर उस पर बैठ जाएं।  
  • फिर दाएं हाथ को दाएं घुटने पर तथा बाएं हाथ को बाएं घुटने पर रखें।
  • लंबी सांस लें उसके बाद मुंह द्वारा सांस को छोड़ें।
  • अब गर्दन को सामने की ओर झुकाकर ठोड़ी को गले के नीचे लगाएं। अगर आपके गर्दन में दर्द हो तो बिना गर्दन झुकाए भी कर सकते हैं।
  • सांस लेने और छोड़ने की क्रिया को दो से पांच बार करें।
  • दोनों आंखों से इस तरह से देखें कि दोनों आंखों की नजर दोनों भौंहों के बीच में रहें।
  • इसके बाद अपने मुंह को खोलें और जीभ को उसी अवस्था में बाहर की तरफ निकालें।
  • मेरुदंड को बिल्कुल सीधा रखना चाहिए। इस आसन को करने से रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है।

सिंहासन से लाभ

  • इस आसन को करने से आपकी स्मरण शक्ति ठीक होती है। सिंहासन से आपके सीने और चेहरे का तनाव दूर होता है।
  • इस आसन से शरीर में ऑक्सीजन का प्रवाह सही ढंग से होता है। गले की अच्छी एक्सरसाइज होने के कारण इससे गले में होने वाले किसी संक्रमण में आराम मिलता है और आवाज साफ होती है।
  • अगर आपके घुटने में कोई चोट लगी है तो व्रजासन पर बैठने की जगह आप कुर्सी पर बैठकर भी यह आसन कर सकते हैं।  
  • सिंहासन से आपको अस्थमा में आराम मिलता है। इस आसन से आपके चेहरे की मांसपेशियों में खिंचाव आता है जो कि एक अच्छा व्यायम है चेहरे के लिए।  
  • सिंहासन से आंखों के लिए एक अच्छी एक्सरसाइज है इससे आंखे स्वस्थ रहती हैं।  इससे आंखों की नसों की कमजोरी की समस्या दूर होती है।
  • रोज सुबह सही विधि से सिंहासन करने से आपके नर्वस सिस्टम की कमजोरी दूर होती है।
  • सिंहासन से चेहरे की झुर्रियां दूर होती हैं इसलिए इसे एंटी ऐजिंग आसन भी कहते हैं।
  • इस आसन से आपको पीठ दर्द व गर्दन के दर्द में भी आराम मिलता है।
Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES34 Votes 21675 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर