अस्थमा इनहेलर के हो सकते हैं ये अतिरिक्त प्रभाव

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 10, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • इनहेलर का इस्तेमाल अस्थमा पीडि़तों द्वारा सांस लेने में आसानी के लिये किया जाता है।
  • इनहेलर लेने से पीडि़त के गले में खराश होना और मुंह सूखना इत्यादि समस्या हो सकती है।
  • इनहेलर का प्रयोग करने वाले अस्थमा रोगियों में मितली की समस्या अधिक बढ़ जाती है।
  • इनहेलर का उपयोग फायदेमंद और अस्थमा रोगी को तुरंत राहत देने वाला होता है।

अस्थमा यानी दमा, आज के समय में दमा ऐसी बीमारी बन गई है जो खांसी-जुकाम से शुरू होकर किसी को भी अपनी चपेट में ले लेती है, ऐसा  इसीलिए कहा जा सकता है क्यों कि दुनिया भर में लगभग 30 करोड़ लोग अस्थमा से पीडि़त है। अस्थमा के इलाज के लिए इन्हेलर का प्रयोग किया जाता है। इन्हेलर के जरिए बार-बार पड़ने वाले अस्थमा अटैक को नियंत्रित किया जा सकता है। इतना ही नहीं इनहेलर के प्रयोग से अस्थमा अटैक पीडि़त को अटैक की स्थिति से बाहर निकाला जा सकता है यानी पीडि़त को मौत के जोखिम से बचाया जा सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं अस्‍थमा इनहेलर के दुष्‍प्रभाव भी पड़ते हैं, जिन मरीजों को बहुत अधिक अस्थमा अटैक पड़ते हैं, उन्हें बार-बार इन्हेलर के प्रयोग से नुकसान भी पहुंच सकते हैं। आइए जानें अस्थमा इनहेलर के अतिरिक्त प्रभावों के बारे में।


इनहेलर का इस्तेमाल क्यों जरूरी है

इनहेलर का इस्तेमाल अस्थमा पीडि़तों द्वारा इसीलिए किया जाता है जिससे अस्थ‍मा अटैक के कारण सांस लेने में परेशानी को दूर किया जा सकें और फेफड़ों में आराम से हवा आ जा सकें। अस्थमा अटैक से फेफड़ों में हवा ना पहुंचने से मांसपेशियों में ऐंठन हो जाती है जिससे बार-बार गले में बलगम आने लगता है। ऐसे में इनहेलर का उपयोग फायदेमंद और अस्थमा रोगी को तुरंत राहत देने वाला होता है।


अस्थमा इनहेलर के सामान्य अतिरिक्त प्रभाव

  • इनहेलर का शुरूआत में इस्तेमाल करने वाले अस्थमा रोगियों में शुरू के कुछ हफ्तों में हाथों में कंपकपी हो सकती है। अनिंद्रा की शिकायत, चिड़चिड़ा होना, नर्वस सिस्ट्म की समस्या और पेट से संबंधी समस्याओं की शिकायत आ सकती है।
  • इनहेलर लेने वाले अस्थमा पीड़ितों में गले में खराश होना और मुंह सूखना इत्यादि समस्या होना बहुत आम है।
  • दमा पीड़ितों में मितली होना, नाक बहना आम बात है लेकिन इनहेलर का प्रयोग करने वाले अस्थमा रोगियों में यह समस्या अधिक बढ़ जाती है।


इनहेलर के प्रयोग के गंभीर साइड इफेक्ट्स

  • भूख में कमी होना या भूख ना लगना, मुंह का स्वाद बदल जाना या मसालेदार खाद्य पदार्थों के सेवन से परेशानी होना भी इनहेलर के प्रयोग से हो सकता है।
  • लंबे समय से इनहेलर का प्रयोग करने वाले अस्थमा पीडि़तों को मांसपेशियों में दर्द, हड्डियों में कमजोरी, जोड़ों में दर्द होना, आपको अतिसंवेदनशील और कमजोर बनाना और प्रतिरोधक क्षमता कमजोर करना इत्यादि साइड इफेक्ट इनहेलर से होने लगते हैं।
  • यदि आप इनहेलर का सेवन अधिक अंतराल पर कर रहे हैं तो आपको बहुत अधिक हानि नहीं पहुंचती लेकिन अस्थमा इनहेलर का कम अंतराल में प्रयोग करने से आपको मुंह से संबंधित बीमारियां या फिर संक्रमण हो सकता है।
  • इनहेलर के प्रयोग से कुछ एलर्जिक रिएक्शेन जैसे- त्वचा में खुचली, रेशेज, सूजन इत्यादि आना भी हो सकती है।

 

इसके अलावा और भी बहुत से साइड इफेक्ट हैं जो कि अस्थमा इनहेलर के प्रयोग से हो सकते हैं लेकिन आप डॉक्टर के सही दिशा-निर्देशों का पालन करेंगे तो निश्चित रूप ये आप इनहेलर के होने वाले साइड इफेक्ट्स से बच पाएंगे यानी दमा के रोगीको सावधान रहने की जरूरत है।

 

 

Image Source - Getty Images

Real More Articles On Asthma In Hindi

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES18 Votes 14410 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर