शादीशुदा लोगों के लिए सेक्स शिक्षा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 24, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

shadishuda logo ke liye sex shiksha

शादीशुदा लोगों को सेक्स शिक्षा की सबसे ज्यादा जरूरत होती है। इसके अभाव में कई बार उनसे गलतियां हो जाती हैं। जिसमें से प्रमुख हैं अनचाहा गर्भ व यौन रोग। सेक्स की सही शिक्षा नहीं मिलने से शादीशुदा लोगों में सुरक्षित यौन संबंधों के बारे में जानकारी नहीं होती है जिसकी वजह से वे यौन रोगों का शिकार हो जाते हैं। ऐसे में सेक्स शिक्षा ही इसका सबसे बड़ा बचाव है। विश्व के सभी सेक्स विशेषज्ञों का मानना है कि लड़के-लड़कियों को युवावस्था से पहले ही सेक्स से संबंधित शिक्षा दी जानी चाहिए। युवावस्था के समय यदि लड़के-लड़कियों को सेक्स के बारे में सही जानकारी दी जाए तो उन्हें विवाहित जीवन में किसी प्रकार की समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा और अपने अधूरे ज्ञान के कारण विवाहित जीवन को बर्बाद करने से भी बच जाएगा।


क्यों जरूरी है सेक्स शिक्षा  

 

भारत में विवाह के लिए लड़की की उम्र 18 वर्ष मानी गई है। जब लड़की 18 वर्ष की हो जाती है तो उसे विवाह के योग्य समझकर उसकी शादी कर दी जाती है। लेकिन सेक्स शिक्षा के अभाव में उसे कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्या से लड़ना पड़ता है। पिछड़े इलाकों में सेक्स शब्द का नाम लेना गलत समझा जाता है, जिसकी वजह से लड़कियों को सेक्स की सही शिक्षा नहीं मिल पाती है। लेकिन जैसे-जैसे लड़कियां शिक्षित होने लगी है वैसे-वैसे लड़कियों में सेक्स को लेकर फैली अज्ञानता दूर होने लगी है। आज 50-55 प्रतिशत लड़कियां यह मानने लगी हैं कि महिलाओं के लिए विवाहित जीवन में सेक्स शिक्षा का होना बेहद आवश्यक है। यहां तक कि स्त्री-पुरुष दोनों ही इस बात को मानने लगे हैं कि विवाहित जीवन को सफल और सुखमय बनाने के लिए सेक्स शिक्षा कितना आवश्यक है।

 

सेक्स शिक्षा के फायदें

 

  • शादीशुदा लोगों को सेक्स शिक्षा देने से उन्हें अनचाहे गर्भ की समस्या से बचाया जा सकता है। जिसकी वजह से एबार्शन के मामले बढ़ते जा रहे हैं।
  • सेक्स शिक्षा से एचाईवी एड्स जैसे यौन रोगों से बचाव होता है। उन्हें कांडम के इस्तेमाल के बारे में बताना चाहिए जिसकी वजह से वे सुरक्षित यौन संबंध के लिए प्रेरित होते हैं जिससे यौन रोगों से उनकी रक्षा होती है।
  • शादीशुदा लोगों को सेक्स शिक्षा देने से जनसंख्या वृद्धि रोकी जा सकती है। साथ ही उनको यह भी बताना चाहिए कि बच्चे को अच्छी परवरिश देने के लिए दो से ज्यादा बच्चे नहीं होने चाहिए।
  • सेक्स शिक्षा के अभाव के चलते लोगों में गलत धारणाएं पैदा होने लगती हैं। गलत जानकारी होने के कारण उनमें भ्रम और गलतफमियां पैदा हो जाती हैं जो जीवन में आगे चलकर परेशानी का कारण बन जाता है।
Write a Review
Is it Helpful Article?YES409 Votes 70482 Views 2 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • Ritika17 Sep 2012

    Informative article. I am going to keep these tips handy.

  • Amit kumar22 Jun 2012

    M aapke vicharo se sahmat hu tripathi

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर