सेक्‍स लाइफ को आनंदमय बनाए कामसूत्र

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 24, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

कामसूत्र बताता है कि किस प्रकार आप कुछ विशेष बातों और सलीकों का ध्यान रख अपने सम्भोग को अधिक रोमांचक, आकर्षक, और कभी न भूलने वाला अनुभव बना सकते हैं।

sex life ko anandmay banaye kamasutraओशो संभोग से समाधि की बात करते हैं। और कामसूत्र भी कहता है कि जब आप संभोग के चरम पर होते हैं तो उस समय बिल्‍कुल निर्विचार होते हैं समाधि में भी तो यही स्थिति होती है। कामसूत्र संभोग को उसके चरम आनंद तक भोगने का मार्ग सुझाता है।

'द कामसूत्र वे'

सम्भोग से पूर्व पुरुष अपने शयन कक्ष को फूलों और इत्र आदि से सजा कर अपनी साथी को आश्चर्यजनक अनुभव करा सकता है। महिला साथी को भी स्नान कर अच्छी तरह सज-धज कर पुरुष साथी के सामने आना चाहिए। पुरुष को चाहिए कि वह अपनी साथी के सामने पसंदीदा पेय और नाश्ते कि पेशकश करे। पुरुष को चाहिए कि वह अपनी साथी को विनम्रता के साथ अपने दाएं बैठाएं और धीरे से उसके बालों को सहलाएं।


सम्भोग से पहले अपने सभी संकोच और शर्म दरकिनार कर दें। अपने साथी को भी अच्छा महसूस करने में सहायता करें। फिर अपनी साथी कि पोशाक को आहिस्ता से खोलें और अपने सीधे हाथ से पकड़ते हुए गले से लगायें। अब किसी हलके-फुल्के सामान्य विषय पर चर्चा करना शुरू करें। ध्यान रहे कि चर्चा के लिए  कोई गंभीर विषय का चुनाव न करें। यह भी ध्यान रखें कि वार्तालाप में आपके साथी की भी बराबर भागीदारी बनी रहे। अच्छा होगा यदि आप कोई धीमा सामान्य संगीत का कोई गीत हल्के स्वर में चला दें। यह आप दोनों के मिजाज को और प्यारभरा बनाएगा। थोडा बहुत कुछ खाते-पीते भी रहें। कुछ ही समय में आपकी साथी प्यार और उत्साह से भर जाएगी।  

जब आपको लगे कि आप और आपका साथी दोनों पूरी तरह तैयार है तो फिर कामसूत्र द्वारा निर्देशित सम्भोग क्रियाओं व आसनों का प्रारंभ करें। आप इस दौरान पान का सेवन भी कर सकते हैं। पान का सेवन सम्भोग तथा सम्भोग से पूर्व की क्रिया(फोरप्ले) को अच्छा बनाने में योगदान करता है। आप कोई मसाज का कोई तेल भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जैसे चन्दन इत्यादि।

कामसूत्र है सही तरीका


कामसूत्र के अनुसार प्रेम तथा रति क्रिया करने का यह एक आदर्श तरीका है। कामसूत्र मे यह भी अच्छे से बताया गया है कि अपनी रति क्रिया को उचित ढंग से कैसे समाप्त किया जाए। क्रिया समाप्ति के बाद आप दोनों एक दूसरे के साथ सामान्य रहें और बिना एक दूसरे को देखे प्रसाधन जाएं।

यह सब समाप्त कर आप अपने घर की छत पर या बगीचे में जा कर बैठ सकते हैं। रात की फैली मनभावक चांदनी का आनंद लें और वार्तालाप को सौहार्दपूर्ण ढंग से जारी रखें। ऐसे में यदि आपकी साथी आपकी गोद में सिर रख कर लेती हो तो सोने पैर सुहागा वाली बात होती है। आप उसकी आंखों में आंखे डाल कर खूबसूरत चांद तारों की बात कर सकते हैं। इस प्रकार आपके मिलन का एक आदर्श समापन होगा।

यह लाजमी है कि अलग-अलग लोगों कि पसंद और कार्यप्रणाली भिन्न-भिन्न हो तो आप अपनी सुविधा और विवेक अनुसार बात कर सकतें है।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES139 Votes 15891 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर