जानिए क्यों हकलाते हैं लोग? इससे छुटकारा पाएं इन 5 उपायों से!

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 05, 2017
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • कई लोगों को होती है हकलाने की समस्या
  • वैज्ञानिकों ने खोज निकाली हकलाने की वजह
  • गाय के घी के सेवन से मिलती है इससे निजात

दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो हकलाने की समस्या से पीड़ित है। हकलाहट की समस्या से पीड़ित लोग किसी शब्द या वाक्य को शुरू करने में अटकते हैं या अटक-अटक कर बोलते हैं। इस समस्या से पीड़ित लोग हकलाने की वजह से आत्मविश्वास की कमी का शिकार हो जाते हैं और इसकी वजह से कई बार जीवन में बेहतरीन मौके गंवा देते हैं। आमतौर पर ये समस्या बच्चों में पाई जाती है लेकिन कई बार वयस्कों में भी ये समस्या देखने को मिलती है।
 
अब वैज्ञानिकों ने इस समस्या की वजह खोज निकाली है, जिससे इससे पीड़ित लोगों के लिए इससे मुक्ति पाने की उम्मीद की किरण जगी है। आइए पहले जानते हैं कि आखिर क्यों हकलाते हैं लोग और फिर जानेंगे इससे बचने का आयुर्वेदिक उपाय।

इसे भी पढ़ें: हकलाहट से निजात दिलाएंगे ये अचूक आयुर्वेदिक उपाय

 

Stuttering

 

हकलाने की वजह क्या है?

वैज्ञानिकों ने हकलाने की समस्या की वजह खोज निकाली है। एक हालिया स्टडी के मुताबिक हकलाने की समस्या दिमाग के स्पीच प्रोसेसिंग क्षेत्र में ब्लड सर्कुलेशन के घटने की वजह से होती है।

इस स्टडी के मुताबिक दिमाग स्पीच उत्पादन से जुड़े फ्रंटल लोब एरिया, ब्रोसा एरिया में रीजनल सेलिब्रल बल्ड फ्लो घट जाता है। इसके अतिरिक्त पॉस्चिरियर लैंग्वेज लूप में सेरिब्रल ब्लड फ्लो में ज्यादा अनियमितता का संबंध हमारे द्वारा सुने जाने वाले शब्दों की प्रोसेसिंग से संबंधित होता है, जिसका संबंध ज्यादा हकलाने से होता है।

इस स्टडी के प्रमुख लेखक लॉस एंजिलस के चिल्ड्रेन हॉस्पिटल्स के क्लीनिकल न्यरोलॉजिस्ट, एमडी जय देसाई के मुताबिक, 'जब स्पीच (बातचीत) से जुड़े दिमाग के अन्य सर्किट भी हमारे ब्लड फ्लो मेजरमेंट के अनुसार प्रभावित हुए तो हमने बच्चों और वयस्कों दोनों में ही ज्यादा गंभीर हकलाहट की समस्या देखी।'

इस स्टडी में रिसर्चर्स ब्रोसा और स्पीच से संबंधित अन्य एरिया में ब्लड फ्लो शून्य करने में कामयाब रहे, इसके लिए उन्होंने रीजनल सेरिब्रल ब्लड फ्लो का प्रयोग दिमाग की गतिविधि मापने के तौर पर किया।

देसाई के मुताबिक ब्ल्ड फ्लो और हकलाहट के स्तर में उल्टा संबंध देखा गया। जितनी ज्यादा हकलाहट की समस्या थी, दिमाग के इस हिस्से में ब्लड फ्लो उतना ही कम था। यह स्टडी जर्नल ह्यूमन ब्रेन मैपिंग में प्रकाशित हुई है।

हकलाने की समस्या से निजात पाएं इन 5 आसान उपायों से

1. सोने से पहले छुआरो का सेवन करें लेकिन कम से कम दो घंटे पानी न पिएं। ऐसा करने से हकलाहट की समस्या से काफी हद तक राहत मिलेगी।
2. 12 बादाम रात भर पानी में भिगो दें और सुबह उनके छिलके उतार कर पीस लें और फिर उन्हें 30 ग्राम मक्खन के साथ खाएं, इससे भी हकलाहट की समस्या दूर होगी
3. हकलाहट की समस्या दूर भगाने में आंवला भी बहुत उपयोगी होता है। रोज सुबह एक चम्मच सूखे आंवले का पाउडर और एक चम्मच देसी घी के सेवन से भी इस समस्या से छुटकारा मिलता है।
4. गाय के घी के नियमित सेवन से भी आपको हकलाहट की समस्या से निजात मिल सकता है।
5. इस समस्या से निजात पाने के लिए 10 बादाम और 10 काली मिर्च और मिश्री के साथ पीसकर 10 दिन तक सेवन करें।


Image Source: Stuttering 101&New Jersey Family

Read More Articles on Healthy Living in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2182 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर