क्‍या टेस्‍टोस्‍टेरोन का स्‍तर कम होना है खतरनाक

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 12, 2015
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • टेस्‍टोस्‍टेरोन की कमी से यौन क्षमता प्रभावित।
  • इस कमी का प्रभाव सामाजिक व्यवहार पर भी।
  • 30 की उम्र के बाद ऐसा होना आम होता है।
  • मोटापे के कारण भी घटता है टेस्‍टोस्‍टेरोन।

टेस्टोस्टेरोन एक मेल हार्मोन होता है। टेस्टोस्टेरोन पुरुष यौन क्षमता को बढ़ाता है और इसका संबंध यौन क्रियाकलापों, रक्त संचरण और मांसपेशियों के परिणाम के साथ साथ एकाग्रता, मूड और स्मृति से भी होता है। जब कोई पुरुष चिड़चिड़ा या गुस्सैल हो जाता है तो लोग इसे उसके काम या आयु का प्रभाव मानते हैं, पर यह टेस्टोस्टेरोन की कमी से भी होता है।

क्यों होती है टेस्टोस्टेरोन की कमी

आर्थिक दबावों और बढ़ती महंगाई के अलावा सामाजिक समस्याओं के कारण पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन नामक हार्मोन के स्तर में गिरावट हो सकती है। डायबिटीज होने पर भी इस हार्मोन में कमी आती है, इसकी दवाएं अलग होती हैं। टेस्ट करके हार्मोन के कारणों का पता किया जाता है। इसके बाद इंजेक्शन, दवाएं या सर्जरी आदि से इलाज किया जाता है। अत्यधिक तनाव के कारण इस हार्मोन का स्तर गिरता है। कुछ आहार भी पुरूषों के शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करते हैं जैसे कि फास्ट फूड, तैलीय भोजन, शराब और प्रोसेस्ड फूड।

 

Man in hindi

 

टेस्टोस्टेरोन की कमी के नुकसान

समान्य तौर पर उम्र बढ़ने के साथ टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में गिरावट देखने को मिलती है। हालांकि अब 30 से ज्यादा उम्र के पुरुषों में भी टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में गिरावट देखने को मिल रही है। प्रभावित व्यक्ति के अंदर उपस्थित टेस्टोस्टेरॉन का स्तर उसके सामाजिक व्यवहारों को प्रभावित करता है। यह लोगों की मानसिक शांति के साथ-साथ उनके यौन जीवन पर ही ग्रहण लगा रही है। इससे पुरुषों में यौन शक्ति पर बेहद प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। लंबे समय तक बना रहने वाला तनाव पुरुषों में उक्त हार्मोन के स्तर को कम सकता है। यह बहुत जरुरी है कि आप टेस्‍टोस्‍टेरोन के स्‍तर को हमेशा बनाए रखें, नहीं तो आगे चल कर आपको बहुत सारी परेशानियों को झेलना पड़ सकता है।

 

Tired in Hindi

 

कैसे बढ़ाएं टेस्टोस्टेरोन

 

  • अगर आपका वजन बहुत ज्यादा है तो आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। शरीर में ज्यादा चरबी, टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ने से रोक सकती है। टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने के लिए अपने वजन को कम करने की कोशिश करें।
  • जस्ता और मैग्नीशियम जैसे खनिज शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। अतः, पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के उच्च स्तर को बनाएं रखने के लिए उन खाद्य पदार्थों का सेवन करना बहुत जरुरी है जो आपके शरीर में इन खनिजों की जरुरत को पूरा करते हैं।
  • जब आप बहुत ज्यादा तनाव में होते हैं, तो आपके शरीर में अधिक मात्रा में हार्मोन स्रावित होते हैं। ये हार्मोनस शरीर में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ने से रोकते हैं। ध्यान जैसी सरल और प्रभावशाली तकनीक तनाव से लड़ने में आपकी मदद करेगी।
  • मीठा कम खाएं शरीर में शर्करा के स्तर के बढ़ने से इंसुलिन का स्तर बढ़ता है। जब आप मीठा खाते हैं तो आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर अपने आप कम हो जाता है। इस हार्मोन के स्रवण और शारीरिक विकास के लिए जितनी हो सके उतनी कम मीठी चीज़े खाएं।
  • रिसर्च के अनुसार अगर आप हर रोज बहुत तीव्रता से 45-75 मिनट के लिए कसरत करते हैं, तो शायद इसे आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन के विकास मे बाधाएं पैदा हो सकती है। कसरत करते समय किसी पेशेवर ट्रेनर की सलाह लें इसे आपको काफी फायदा होगा।


इन उपायों को अपनाने से पुरूष अपने शरीर में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बनाए रख सकते हैं।

Image Source - Getty Images
Read More Articles on Men's Heath in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES73 Votes 7585 Views 1 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर