वजन उठाते समय कैसे लें सही प्रकार सांस

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 07, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • एक्‍सरसाइज के दौरान सही तरीके से सांस लेना महत्‍वपूर्ण।
  • चोटों से बचाने में मदद करता है सही ढंग से श्‍वास लेना।
  • शुरूआत कुछ गहरी सांस लेने वाली एक्‍सरसाइज करें।
  • वजन उठाने के दौरान अपनी सांसों को थामने से बचें।

वजन उठाना, मांसपेशियों को टोन करने, उपस्थिति में सुधार लाने और उम्र से संबंधित मांसपेशियों की हानि से लड़ने का एक बेहतरीन तरीका है। यह गतिविधि कई मायनों में शरीर के विकास में मदद करती है। वजन उठाने के दौरान सही तकनीक का इस्‍तेमाल अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। सही ढंग से एक्‍सरसाइज के अभाव में आप प्रशिक्षण के लक्ष्यों को प्राप्त करने में सक्षम नहीं हो सकते है। इसके अलावा, इस तरह से मोच और फ्रैक्चर के रूप में चोटों का खतरा भी बना रहता है।

weights lifting in hindi

वजन उठाते के दौरान सही प्रकार से सांस लेना  

एक्‍सरसाइज के दौरान सही तरीके से सांस लेना महत्‍वपूर्ण होता है। विभिन्‍न अध्‍ययनों ने वर्कआउट के दौरान सही तरीके से सांस लेने के म‍हत्‍व पर बल दिया है। इस तरह के अध्‍ययन के परिणाम एक ही बात की ओर इशारा करते हैं। कई प्रकार की गतिविधियां जैसे स्विमिंग और रानिंग में ठीक प्रकार से सांस लेने से सक्रिय मांसपेशियों को ऑक्‍सीजन की सही मात्रा मिलती है, ताकी उनमें आसानी से संकुचन हो सकें। सही श्‍वास एरोबिक और गैर एरोबिक दोनों प्रकार की एक्‍सरसाइज के लिए आवश्‍यक होती है। एरोबिक एक्‍सरसाइज में स्‍वीमिंग और रानिंग शामिल है जबकि गैर एरोबिक एक्‍सरसाइज में वजन उठाना और दूसरों के बीच योग शामिल है।   

मस्तिष्क स्वचालित रूप से सांस लेने के लिए श्वसन प्रणाली को संकेत भेजता है। हालांकि मांसपेशियों के लिए आपका मस्तिष्‍क एक्‍सरसाइज के दौरान कार्बन मोनोऑक्‍साइड बढ़ाने वाले रक्‍त और लैक्टिक एसिड को नोट करता है। और यह सांसों की गहराई और गति बढ़ाने के लिए श्‍वसन प्रणाली के संकेतों से चलता है। इसका उद्देश्‍य अतिरिक्त कार्बन मोनोआक्साइड के बोझ को उतारना और सक्रिय मांसपेशियों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ाना होता है। इस तरह, वह संकुचन जारी रखता है और आप अपनी कार्यकुशलता को बढ़ाकर लंबी अवधि तक एक्‍सरसाइज कर सकते हैं।

सांस उखड़ना एक प्राकृतिक प्रवृत्ति

जिम में बारबेल उठाने या घर के फर्नीचर को यहां से वहां करने पर सांस उखड़ना एक प्राकृतिक प्रवृत्ति है। लेकिन अनुचित तरीके से सांस लेने से थकान, चक्‍कर आना और रक्‍तचाप के बढ़ने से बेहोशी जैसी समस्‍याएं हो सकती है। वजन उठाने की एक्‍सरसाइज के दौरान सही ढंग से सांस लेने के लिए उच्‍च डिग्री नियंत्रण और सतर्कता की जरूरत होती है। सही ढंग से श्‍वास लेना आपको एक्‍सरसाइज के दौरान लगने वाली चोटों से बचाने में मदद करता है। इस या किसी भी नई एक्‍सरसाइज को अपने चिकित्‍सक की सलाह के बिना शुरूआत कभी न करें। वजन उठाने के दौरान आपको सही तरीके से सांस लेने के यहां दिये चरणों का पालन करने की जरूरत पड़ती है।

/exercises-and-breathing in hindi

चरण 1

अपने वर्कआउट सत्र की शुरूआत से पहले कुछ गहरी सांस लेने वाली एक्‍सरसाइज करें। इसके लिए अपनी आंखों को बंद कर, अपनी नाक के माध्‍यम से गहरी सांस लें। एक या दो सेकंड रूकने के बाद, इसे अपने मुंह के माध्‍यम से निकालें। कुछ मिनट के लिए इसे दोहराये। एक्‍सरसाइज सेट से पहले गहरी सांस लेने से आप वर्कआउट के दौरान श्‍वासों को आसानी से नियंत्रित कर सकते हैं। यह आपको आरामदेह और सांस के लिए अधिक जागरूक बनाता है।


चरण 2

वजन उठाने के दौरान सांसों को बाहर करना सही रहता है। इसलिए वजन लिफ्ट करते समय अपनी सांसों को बाहर करें। उदाहरण के लिए ब्रेंच प्रेस के दौरान आप पूरी तरह से अपनी नाक या मुंह के माध्‍यम से सांस छोड़ते हैं।

चरण 3

वजन कम करने के लिए एक्‍सरसाइज करते समय आपको नियंत्रित तरीके से अपनी नाक के माध्‍यम से सांस लेना चाहिए। वजन कम करने में कम परिश्रम की आवश्‍यकता होती है, यह श्‍वास के लिए एक आदर्श समय होता है।


चरण 4

वजन उठाने के दौरान अपनी सांसों को थामने से बचें। ऐसा करना उच्‍च रक्‍तचाप की वृद्धि के जोखिम में डालकर बेहोशी या दिल के दौरे का कारण बन सकता हैं। वजन उठाने की एक्‍सरसाइज के दौरान वाल्साल्वा मिन्यूवर के उपयोग से भी परहेज किया जाना चाहिए। वाल्साल्वा मिन्यूवर वजन उठाने के दौरान सांस थामने के लिए उपयोग किया जाता है।

सांस लेने की सही तकनीक के साथ वजन उठाने से आप बेहतर तरीके से वजन उठा सकते हैं और यह आपको वजन उठाने के लाभ को प्राप्‍त करने में सक्षम बनाती है। सांस लेने की सही तकनीक वजन बढ़ाने के एकाग्रता और शक्ति की मांग बढ़ाने के लिए अधिक महत्‍वपूर्ण होती है। सही तरीके से सांस न लेने से यह वजन लिफ्ट करना बहुत भारी हो जाता है।   


Image Courtesy : Getty Images

Read More Articles on Sports and Fitness in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES6 Votes 2897 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर