शादी की सही उम्र

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 27, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • शादी के लिए सबसे पहले स्‍वयं को तैयार करें
  • जानें कि क्‍या आप इस जिम्‍मेदारी को उठाने के लिए तैयार हैं
  • साथी से बात करके बनाएं भावी योजनाएं
  • भावनात्‍मक रूप से परिपक्‍वता है नितांत आवश्‍यक

किसी व्यक्ति को शादी का फैसला करना चाहिए? कौन सी भावनाएं हैं जो आपको महसूस करा सकें कि अब आप तैयार हैं। शादी के साथ कई जिम्मेदारियां भी आती हैं। आजीवन वचनबद्धता के लिए आपका मानसिक, भावनात्मक और आर्थिक रूप से पूरी तरह तैयार होना बहुत जरूरी है।

 

Right age of getting marriedशादी जिंदगी भर का बंधन है और इसका फैसला सोच-समझकर करना चाहिए। शंकाओं और दुविधाओं में पड़कर यह रिश्‍ता नहीं बनाना चाहिए। शादी की सही उम्र वही होती है, जब आप इसके लिए पूरी तरह से तैयार हों।

 

क्‍या वो यही है

सबसे पहले इस बात को लेकर आश्‍वस्‍त हो जाएं कि आप जिससे शादी करने जा रहे हैं क्‍या वो आपके लिए बना है। क्‍या मुश्किल वक्‍त में आप एक दूजे का साथ निभाने के लिए तैयार हैं। क्‍या आप वाकई एक-दूसरे के साथ रह सकते हैं। हो सकता है कि आप अपने साथी को पहले से जानते हों, आप दोनों एक दूसरे से प्‍यार भी करते हों। लेकिन, फिर भी अगर आप अभी तय नहीं कर पाए हैं, तो एक बार फिर सोच लें। अगर इन सब सवालों को लेकर आपके जेहन में किसी भी प्रकार की दुविधा है, तो एक बार फिर अपने फैसले पर विचार कर लें।

 

भावनात्मक परिपक्वता

शादी से अपेक्षाओं को लेकर आप दोनों को तैयार होना चाहिए। शादी के बाद जिंदगी में काफी बदलाव आते हैं। यह आपके डेटिंग संबंधों से अलग हो सकता है। वास्‍तविकताएं आपकी सोच से अलग हो सकती हैं। ऐसे में स्‍वयं को इसके लिए तैयार रखें। लेकिन,अपने बीच मौजूद उस रोमांस को खत्‍म न होने दें।

 

अपने साथी से बात करें

अपने साथी के साथ वित्तीय मुद्दों पर चर्चा करें। यह बेहद जरूरी मुद्दा है। आपको पता होना चाहिए कि आखिर आपके साथी की आपसे क्‍या उम्‍मीदें हैं। और क्‍या आप उन उम्‍मीदों को पूरा करने में सक्षम हैं। या क्‍या आप दोनों मिलकर अपने भविष्‍य के सपनों को वास्‍तविक रूप देने का सामर्थ्‍य रखते हैं। याद रखिए, कई बार ऐसा देखा गया है कि जब प्‍यार, जिंदगी की सच्‍चाइयों से टकराता है, तो कई सपने टूट जाते हैं। इसलिए अपने भविष्‍य को लेकर सुहाने सपने बनाने के साथ-साथ उन्‍हें वास्‍तविकता के धरातल पर जरूर परख लें।

 

भविष्‍य के बारे में क्‍या है योजना

क्‍या आप भविष्‍य के लिए तैयार हैं। शादी के बाद आपकी जिम्‍मेदारियां बढ़ती हैं। आपको सामाजिक रूप से तो अधिक मेहनत करनी ही पड़ती है साथ ही आर्थिक मोर्चे पर भी आपकी जिम्‍मेदारियों में इजाफा होता है। शादी के बाद आपका परिवार बड़ा होता है, तो क्‍या आप उसके लिए तैयार हैं। क्‍या आप अभी उन सब उत्तरदायित्‍वों को निभाने में सक्षम हैं। जरा सोचिए और उसके बाद ही किसी फैसले पर पहुंचिए।

 

क्‍या आप निजी बातें करने में सहज हैं

आप बेबाक होकर अपने दिल की बातें अपने साथी से कर सकते हैं। क्‍या आप अपनी निजी बातें अपने साथी से कर सकते हैं। अगर ऐसा नहीं है, तो शायद आपका रिश्‍ता अभी सही मुकाम तक नहीं पहुंचा है।

 

कैसा है आपका नजरिया

जीवन के प्रति के एक समान लक्ष्य यह साबित करते हैं कि आपका सम्बन्ध शादी में बदलने के लिए तैयार है। केवल साझा मूल्य और जीवन के लक्ष्य ही आपकी शादी को कामयाब बनाए रखते हैं। रूपए-पैसे, कॅरियर, बच्चों और जीवन जीने के तरीकों को लेकर दोनों के लक्ष्य बिल्कुल एक समान न हों तो भी उनमें कुछ समानता तो होनी ही चाहिए। अपेक्षाओं और लक्ष्यों का टकराव शादी को अस्थिरता के झंझावातों में फंसा सकता है।

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES450 Votes 77600 Views 2 Comments
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर