इन कारणों से होता है सरदर्द

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 15, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • सरदर्द के कई कारण होते हैं और इसे हल्के में ना लें।
  • तेज धूप और शरीर का तापमान बढ़ने से होता है सरदर्द।
  • कई बार दुर्गन्ध या बदबू से भी होता है सरदर्द।
  • युवतियां एवं महिलाओं को होता है अधिक सरदर्द।

कभी न कभी आपको सिरदर्द/सर दर्द का सामना अवश्य करना पड़ा होगा क्योंकि सर दर्द एक ऐसी बीमारी है जिसका शिकार लगभग हर व्यक्ति कभी न कभी  जरुर  होता है।  कुछ लोगों के लिए सर दर्द मामूली होता है और अपना एहसास  क्षण भर के लिए करवा कर चला जाता है जबकि कुछ लोगों में यह एक दो घंटे तक रहता है तो कुछ लोगो का सर हमेशा दर्द करता रहता है।

Headache

  • जब आपका सर दर्द होता है तो कुछ भी अच्छा नहीं लगता है और आपका व्यवहार भी बदल जाता है। आप जरा जरा सी बात पर चिडचिड़ाने  या गुस्सा करने लगते हैं और आप अँधेरे या शांत कमरे में अकेले रहना चाहते हैं।
  • सर दर्द होने के पचासों कारण होते हैं। तेज धूप में काफी देर तक  बिना टोपी या छाते के रहने से बहुत से लोगों का सर दर्द करने लगता है। यानि शरीर का तापमान बढ़ जाने से (तेज बुखार या तेज धूप से ) या बहुत हीं गर्मी के कारण कई लोगों का सर दर्द करने लगता है।
  • सर दर्द की शिकार लडकियां/युवतियां एवं महिलाएं सबसे ज्यादा होती हैं। कई लड़कियों का जब मासिक धर्म शुरू होने को होता है तो उनका सर दर्द करने लगता है। वे चिडचिड़ी हो जाती हैं एवं जरा जरा सी बात पर क्रोधित होने लगती हैं।  ठीक इसी तरह जब स्त्रियाँ रजोनिवृत्ति की अवस्था में पहुँचती हैं तो वे अक्सर सर दर्द या अन्य मानसिक परेशानियों से परेशान रहती हैं। गर्भावस्था में भी बहुत से महिलाएं सर दर्द की शिकायत करती है।
  • दुर्गन्ध या बदबू लगने से भी कई लोगों का सर दर्द करने लगता है। जिन लोगों का पेट साफ़ नहीं रहता यानि कि जिन्हें अक्सर कब्ज की शिकायत रहती है उनका सर भी अक्सर दर्द करता रहता है। अपर्याप्त नीद की वजह से भी बहुत से लोग सर दर्द से परेशान रहते हैं। 
  • कई बीमारियाँ, खासकर मानसिक बीमारियाँ भी सर दर्द का कारण बनती है मसलन अवसाद, ब्रेन ट्युमर  इत्यादि। अवसाद यूँ तो किसी को भी हो सकता है लेकिन ऐसा देखा गया है कि इसकी शिकार लडकियां/ महिलाएं ज्यादातर होती हैं। ब्रेन ट्युमर किसी को भी हो सकता है जिसमें सर में बहुत हीं तेज पीड़ा होती है। यह पीड़ा मरीज के लिए असहनीय होती है और किसी भी कारण से किसी भी वक्त ब्रेन ट्यूमर का दर्द उठ सकता है। तनाव इस तरह के दर्द का प्रमुख कारण होता है। तनाव अपने आप में सर दर्द का एक प्रमुख कारण है। 
  • बहुत जोर से भूख लगने पर भी या  किसी कारण से आपको खाना खाने से वंचित रहना पड़ जाये तो इस हालत में भी सर दर्द उठ सकता है। कई खाद्य पदार्थ भी ऐसे होते हैं जो सर दर्द का कारण बनते हैं या सर दर्द को बढ़ाते हैं। 
  • अगर सर दर्द अपर्याप्त नींद के कारण या बदबू के कारण या ऐसे हीं कुछ अल्पकालिक कारणों से हों  तो चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि अगर आप पर्याप्त नींद लेंगे या बदबू से दूर सुगन्धित वातावरण में रहेंगे तो आपका सर दर्द दूर हो जायेगा लेकिन अगर आपको लगातार सर दर्द की शिकायत रहती हो या दर्द असहनीय होता हो तो उसे नजरंदाज न करें और अपनी मर्जी से दवा लेकर ठीक न करते रहे। 
  • अपनी मर्जी से सर दर्द की दवा तभी लें जब सर दर्द काबू के बाहर जा रहा हो और आपके आस पास कोई डॉक्टर उपलब्ध न हों या सर दर्द मामूली कारणों से हुआ हो लेकिन उसके बावजूद सर दर्द वापस आये तो किसी डॉक्टर को दिखलाये  बगैर दवा न लें। 
  • मामूली  सर दर्द में घरेलू उपचार बहुत हीं कारगर सिद्ध होते है। स्वयं दवा लेने कि बजाये घरेलू नुस्खों को आजमायें। 
  • जिन कारणों से आपको सर दर्द होता हो मसलन सिगरेट का धुंआ लगने से, तेज धूप लगने से, बदबू लगने से, खट्टी चीजे खाने से या बहुत ज्यादा देर भूखे पेट रहने से , तो इन कारकों को दूर करके आप सर दर्द के शिकार होने से बचे रह सकते हैं। अगर दांत दर्द, आँखों में खराबी  या किसी अन्य बीमारी की वजह से आपको सर दर्द है तो ऐसी स्थिति में सर दर्द की दवा लेने की बजाये मुख्य रोग का उपचार करवाएं। 
  • दांत दर्द ठीक होते हीं आपका सर दर्द ठीक हो जायेगा; आँखों की दवा लेते हीं या चश्मा पहनते हीं आपका सर दर्द मिट जायेगा।

 

Read more article on Headache in hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES32 Votes 19001 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर