4 साल के बच्चे के पेट में मिला मरा हुआ भ्रूण

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 22, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • लड़की, नहीं लड़के के पेट में मिला मृत भ्रूण।
  • उस बच्चे की उम्र थी मात्र चार साल।
  • बच्चे को थी कई दिनों से पेट दर्द की समस्या।
  • इस स्थिति को 'फीटस इन फीटस' कहा गया है।

चार साल के लड़के को कई दिनों से पेट दर्द की समस्या थी। पहले-पहले तो उसकी मां ने इसे नजर अंदाज कर दिया। लेकिन जब बहुत पेट दर्द रहने लगा तो वह बच्चा अपने मां के साथ मेडिकल चेकअप कराने अस्पताल गया। जांच करने पर डॉक्टर और मां दोनों हैरान हो गए। क्योंकि जांच के दौरान चिकित्सकों को बच्चे के पेट में मरा हुआ भ्रूण मिला। जिसे निकालने के लिए चिकित्सकों ने ऑपरेशन किया।

भ्रुण

यह पश्चिम बंगाल का मामला है। चिकित्सकों को पहले यह ट्यूमर का मामला लगा था। लेकिन अल्ट्रासाउंड और सीटीस्कैन करने के बाद चिकित्सकों को उसके पेट में मरा हुआ भ्रूण दिखा। जिसे ऑपरेशन के बाद सफलतापूर्वक निकाल लिया गया। इस भ्रूण के हाथ, पैर, नाखुन और आधा सिर था।

 

'फीटस इन फीटस'

इस तरह की रेअर कंडीशन को मेडिकल साइंस में 'फीटस इन फीटस' कहा गया है। यह स्थिति तब होती है जब एक भ्रूण गर्भाशय में अपने ट्विन को घेरते हुए विकसित होता है। अब वह बालक सुरक्षित औऱ स्वस्थ है। लेकिन इसे अब भी चिकित्‍सकों की निगरानी में रखा गया है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा किये गये शोध की मानें तो ऐसे मामलों में कैंसर के होने की आशंका बढ़ जाती है। क्‍योंकि अवि‍कसित कोशिकायें धीरे-धीरे कैंसरस होने लगती हैं।

 

यह इकलौता मामला नहीं

2009 और 2012 में भी ऐसे मामले विदेशों में देखने को मिले। मेल ऑनलाइन के अनुसार 2009 में एक साल की बच्‍ची के पेट में अक्‍सर सूजन रहती थी, जांच के बाद पता चला कि उसके पेट में उसके ट्विन्‍स का विकास हो रहा है। उस लड़की के पेट में अक्‍सर सूजन और दर्द की समस्‍या रहती थी। बाद में ऑपरेशन से उसे निकाला गया।

2011 में चीन में भी एक मामला आया था, जिसमें एक 11 साल की लड़की जब अस्‍पताल में भर्ती हुई तो उसमें भी 'फीटस इन फेटू' डायग्‍नोस हुआ। उस लड़की के पीठ में तीसरा हाथ और ब्रेस्‍ट विकसित हो रहा था जो कि ट्विन का हिस्‍सा था।

Write a Review
Is it Helpful Article?YES26 Votes 12027 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर