रजोनिवृति सिंड्रोम क्‍या है

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Dec 11, 2012
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

रजोनिवृति किसी महिला के जीवन की वह अवस्था है जब एस्ट्रोजेन व प्रोजेस्ट्रोन का हार्मोन स्तर शरीर में कम हो जाता है। जैसे-जैसे हार्मोन का स्तर कम होता जाता है मासिक धर्म कम होते जाते है उसके बाद धीरे-धीरे यह बंद हो जाता है। इस दौरान महिलाओं में कई तरह के लक्षण देखे जा सकते हैं। महिलाएं इस दौरान अपने शरीर व व्यवहार में काफी परिवर्तन महसूस करती है। जानिए रजोनिवृति क्यों होती हैं-

  • डिंबग्रंथियां निकाल दिए जाने पर। डिंबग्रंथियां एक अंडाकार थैली होती है जहां अंडे बनते हैं।
  • जब विकिरण या कीमोथेरपी के कारण डिंबग्रंथियां बदलती है।
  • जब शरीर द्वारा एस्ट्रोजन कम बनता है।

 

[इसे भी पढ़ें: रजोनिवृति के लक्षण]

 

रजोनिवृति सिंड्रोम

कई बार महिलाओं में रजोनिवृति के लक्षण काफी तकलीफदेह होते हैं या यह भी हो सकता है कि महिलाओं को इस दौरान ज्यादा परेशानी ना हो। रजोनिवृति के लक्षण समय के साथ खत्म हो जाते हैं। अगर महिलाओं को इस दौरान ज्यादा समस्या हो तो तुरंत डॉक्टर से संपंर्क करें। आमतौर पर महिलाएं इस दौरान चिड़चिड़ी सी हो जाती हैं, उनके मूड में कई तरह के बदलाव देखे जाते हैं। इसलिए इस दौरान आस-पास के लोगों को उन्हें पूरा सहयोग करना चाहिए । विस्तार से जानिए रजोनिवृति सिंड्रोम के बारे में-

  • मासिक चक्र या रजोधर्म में बदलाव
  • गर्मी लगना, पसीने छूटना या उत्तेजित महसूस करना।
  • सोने में परेशानी
  • मनोदशा में उतार-चढ़ाव
  • सिरदर्द
  • योनि में सूखापन
  • यौनच्छा का अभाव व संभोग के दौरान दर्द होना
  • त्वचा व बालों में सूखापन आना

 

[इसे भी पढ़े: मासिक धर्म चक्र क्या है]


अगर इन लक्षणों में ज्यादा दिनों तक महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। ये लक्षण किसी गंभीर समस्या के संकेत भी हो सकते हैं।

रजोनिवृति के दौरान सावधानी

रजोनिवृति के दौरान विशेष सावधानी बरतने की जरूरत होती है। खान-पान के साथ-साथ अपनी दिनचर्या को भी सुधारने का प्रयास करना चाहिए जिससे आप इस दौरान सेहतमंद बनी रहें। इस दौरान बरती जाने वाली सावधानियों पर डाले एक नजर

  • एल्कोहल व धूम्रपान से दूर रहें।
  • कैफीन युक्त पदार्थों का सेवन नहीं करें जैसे-चॉकलेट, चाय, कॉफी।
  • गर्मी से बचने के लिए तंग कपड़ें पहनने से बचें।
  • नियमित व्यायाम की आदत डालें।
  • ज्यादा तला-भुना व मसालेदार खाना खाने से बचें।
  • नींद की समस्या के लिए गोलियों का इस्तेमाल नहीं करें।

 

Read More Articles On Women's Health In Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES8 Votes 15096 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर