पुरुषों के लिए स्ट्रेचिंग व्यायाम

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Aug 01, 2012
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्दन का स्‍ट्रेच करने से मांसपेशियों में रहती है सक्रियता। 
  • कंधे में स्‍ट्रेचिंग करने से कमर दर्द से मिल जाती है राहत। 
  • स्‍ट्रेचिंग के जरिये थकान दूर करने में भी मदद करती है।
  • स्‍ट्रेचिंग के विभिन्‍न प्रकार रोज 10 मिनट तक कीजिए।




पुरुषों के लिए स्ट्रेचिंग का अपना महत्व‍ है। स्ट्रेचिंग का अर्थ होता है अपनी मसल्स (मांसपेशियों) को खींचना। एक बैले डांसर स्ट्रेचिंग के बारे में काफी अच्‍छी जानकारी रखता है।


व्यायाम करता हुआ पुरुषस्ट्रेचिंग से मांसपेशियों का खिंचाव दूर होता है, नियमित रूप से स्ट्रेचिंग करने से जोड़ों व मांसपेशियों की सक्रियता और गतिशीलता बनी रहती है। स्ट्रेचिंग व्यायाम का एक आवश्यक हिस्सा है। नॉर्मल वार्मअप और एक्सरसाइज के बाद स्ट्रेचिंग करनी चाहिए। इससे आपकी मांसपेशियों को आराम मिलता है और उनका तनाव दूर होता है। आइए हम आपको बताते है स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज जिनको करने से पुरूषों को लचीलेपन बढ़ाने में मदद मिलेगी।

 

गर्दन स्ट्रेच

कैसे करें- बिल्कुल सीधे खड़े हों। सांस खीचें, और छोड़े और छोड़ने पर सीधे कान को सीधे कंधे पर झुकाएं लेकिन कंधे को नही उठाएं। 4-5 बार सांस को खीचें और छोड़ें फिर उलटे गाल में पड़ने वाले स्ट्रेच को महसूस करें। इसके बाद अपनी गर्दन और रीढ़ को खींचें। धीरे से सिर को सही दिशा में लाएं और दूसरी ओर से भी इसे करें।

 

लाभ- यह स्ट्रेचिंग व्यायाम अकड़ी हुई और मोच वाली गर्दन के लिए अच्छा होता है। यह गर्दन का तनाव कम करता है और हाथ और गर्दन लचीलापन प्रदान करता है।

 

कंधे का स्ट्रेच

कैसे करें- एकदम सीधे बैठ जाएं फिर सांस को खींचते हुए कंधे को कांन के पास ले जाए। अपने कंधे को धीरे से घुमाते हुए और कान से दूर ले जाते हुए सांस छोड़ें। कंधे घुमाना की यह क्रिया तीन बार दाई और तीन बाईं ओर करें। दोनों कंधों को सांस खींचते हुए कानों के पास ले जाएं। दोनों कंधों को सांस छोड़ते हुए और घुमाते हुए नीचे लाएं।

लाभ- बहुत देर एक ही स्थिति ‍में बैठने के बाद हिलना-डुलना पीठ के लिए बेहद जरूरी होता है। स्ट्रेचिंग से आपकी पीठ के ऊपरी हिस्से और कंधों को आराम मिलता है क्योंकि वहॉ पर ट्रेपिजियस नस स्थित होती है और जिस पर सबसे अधिक असर पड़ता है।

 

चेस्ट स्ट्रेच

कैसे करें- चेयर के किनारे पर बैठें और अपने हाथ घुमाकर उसके बैकरेस्ट पर ऊपर रखें और थोड़ा आगे को झुकें। फिर कंधोंको कानों के पास लाएं और दूर ले जाएं। यदि आपके हाथ कुर्सी के बैकरेस्ट तक न पहुंचें, तो उसके किनारे पकड़ें और अपना सीना आगे को ले जाएं, फिर कंधों को आराम दें और चेस्ट के ऊपरी हिस्से को खुला छोड़ें। 10-15 बार सांस खीचें और स्ट्रेच हल्का करें।

लाभ- चेस्ट स्ट्रेच चेस्ट को खोलता है, राउन्ड कंधो को कम और पीठ के बीच के हिस्से को सही आकार में लाता है। साथ ही रीढ़, कंधे, पीठ के निचले हिस्से मजबूत करता है।

 

चेयर ट्विस्ट

कैसे करें- अपनी कुर्सी पर बैठें और शरीर को एक और घुमाएं। लेकिन कमर को सीधी रखें। अब अपनी रीढ़ को सीधा करें और सांस खीचें। फिर, सांस छोड़ते हुए चेयर की ओर मुड़ें और दोनों हाथों से बैकरेस्ट को पकड़ें। पीठ की मांसपेशियों को थोड़ा आराम दें और धीरे से कुछ दूर हटें और अपनी चेस्ट को बैकरेस्ट के समाने लाएं। कंधों को धीरे से नीचे की ओर लाएं। चेस्ट को उठाकर धीमे से गहरी सांस लें। 10-15 बार ऐसे ही सांस लें। अब दूसरी ओर से यही क्रिया दोहराएं।

लाभ- अगर आप ज्यादा देर तक बैठ कर काम करते है तो ट्विस्ट करना आपके लिए अच्छा होगा। ट्विस्टंग से पीठ की उन सभी मांसपेशियां में मूवमेंट आती हैं जिनमें देर तक बैठे रहने से मूवमेंट नही होती।

किसी भी तरह की स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज इंस्ट्रक्टर के निर्देशानुसार ही करें।

 

 

Read More Article on Sports and Fitness In Hindi.

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES39 Votes 22825 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर