खाने में स्वादिष्ट पुदीने के होते हैं कई कमाल के फायदे

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 28, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • खाने में स्वादिष्ट पुदीना एक अच्छा माउथफ्रेशनर भी है। 
  • पुदीना हाजमे के लिए अच्छा है और पाचन क्रिया दुरूस्त रखता है।
  • गर्मी में लू लगने के के बाद पुदीने का सेवन करना चाहिए।
  • हिचकी आने पर पुदीने के सेवन से हिचकी आना बंद हो जाती हैं।

खाने में स्वादिष्ट पुदीना के कई फायदे हैं। पुदीने में कई औषधीय गुण होते हैं। अंग्रेजी में मिंट के नाम से जाना जाने वाला पुदीना एक अच्छा माउथफ्रेशनर भी है। आइये इस लेख में हम आपको बताते हैं पुदीने के कुछ ऐसे ही लाजवाब गुणों के बारे में।

pudeena ke fayde

 

पुदीना हाजमे के लिए भी अच्छा है। इसके सेवन से पाचन क्रिया दुरूस्त रहती है। पुदीना की चटनी बहुत स्वादिष्ट होती है। पुदीना शानदार एंटीबॉयटिक की तरह काम करता है। आइए हम आपको पुदीने के गुणों के बारे में बताते हैं।

 

पुदीने के गुण –


  • मुंह में बदबू आने पर पुदीने का सेवन करना चाहिए। पुदीने के रस को पानी में मिलाकर कुल्ला करने से मुंह की बदबू दूर होती है। इससे मुंह में ठंडक का भी एहसास होता है।
  • पुदीना का रस किसी घाव पर लगाने से जख्म जल्दी भर जाते हैं। यदि किसी घाव से बदबू आ रही है तो इसके पत्ते का लेप लगाने से बदबू आना बंद हो जाती है।
  • पुदीना कई प्रकार के चर्म रोगों को समाप्त करता है। चर्म रोग होने पर पुदीना के पत्तों का लेप लगाने से आराम मिलता है।
  • गर्मी में लू लगने के के बाद पुदीने का सेवन करना चाहिए। लू लगने पर रोगी को पुदीने का रस और प्याज का रस देने से फायदा होता है।
  • हैजा होने पर पुदीना बहुत फायदा करता है। हैजा होने पर पुदीना, प्याज का रस, नींबू का रस बराबर-बराबर मात्रा में मिलाकर पिलाने से लाभ होता है।
  • उल्टी होने पर आधा कप पुदीना का रस हर दो घंटे पर रोगी को पिलाइए, इससे उल्टी आना बंद हो जाएगा।
  • अजीर्ण होने पर पुदीने का रस पानी में मिलाकर पीने से फायदा होता है।

 

  • पेटदर्द होने पर पुदीने को जीरा, हींग, काली मिर्च में नमक मिलाकर पीने से पेट का दर्द समाप्त हो जाता है।
  • महिला को प्रसव के समय पुदीने का रस पीना चाहिए, इससे आसानी से प्रसव हो जाता है।
  • बुखार होने पर पुदीना पीना चाहिए, इससे बुखार में फायदा होता है। बुखार में पुदीने को पानी में उबालकर थोड़ी चीनी मिलाकर उसे गर्म-गर्म चाय की तरह पीना चाहिए।
  • हिचकी आने पर पुदीना का प्रयोग करना चाहिए, इससे हिचकी आना बंद हो जाता है।
  • ताजा-हरा पुदीना पीसकर चेहरे पर बीस मिनट तक लगा लें। फिर ठंडे पानी से चेहरा धो लें। इससे त्वचा की गर्मी समाप्त होती है।

 

 

Read More Articles On Herbs in Hindi.

Write a Review
Is it Helpful Article?YES139 Votes 37675 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर